PM Narendra Modi के साथ 24 घंटे रहते हैं ये कमांडो, जानिए क्‍या हैं उनके 5 सुरक्षा कवर

PM Narendra Modi | हालांकि भारतीय प्रधानमंत्री की हत्‍या की साजिश रचना असंभव सा कार्य है. किसी अन्‍य राष्‍ट्राध्‍यक्ष की तरह, पीएम मोदी की सुरक्षा भी कड़ी, व्‍यापक और अभेद्य है. आइये आज हम जानते हैं भारत के सबसे लोकप्रिय और सफलतम प्रधानमंत्री में से एक नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सुरक्षा के बारे में..

PM Narendra Modi के 5 सुरक्षा कवर

PM Modi Security

1- भारतीय पीएम (PM Narendra Modi) हमेशा सर्वाधि‍क प्रशिक्षित व अत्‍यधिक अलर्ट रहने वाले स्‍पेशल प्रोटेक्‍शन ग्रुप (SPG) के कमांडो के घेरे में रहते हैं. किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में एसपीजी कमांडो पीएम के चारों तरफ रहते हैं और साथ चलते हैं. किसी भी कमांडो को पीएम की सुरक्षा में काफी पड़ताल के बाद तैनात किया जाता है. उसका पूरा पारिवारिक इतिहास परखा जाता है. उनका किन लोगों से मिलना-जुलना व संबंध हैं, इसकी जानकारी करने के बाद ही उन्‍हें एसपीजी में तैनात किया जाता है.

2- भारतीय प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) के निजी सुरक्षा गार्ड सिक्‍योरिटी कवर की दूसरी पंक्ति में रहते हैं. ये भी एसपीजी कमांडो के बराबर प्रशिक्षित और दक्ष होते हैं. कोई भी अनहोनी रोकने में सक्षम. ये सार्वजनिक कार्यक्रमों में पीएम के आसपास फटकने वालों के हाव-भाव और व्‍यवहार पर नजर रखते हैं. उनकी चाल भांपते हैं.

3- तीसरा सुरक्षा कवर नेशनल सिक्‍योरिटी गार्ड (NSG) देता है. इसके कमांडो भी सघन प्रशिक्षण लेने के बाद ही पीएम की सुरक्षा में तैनात किए जाते हैं. इनकी भी पारिवारिक पृष्‍ठभूमि और संबंधों की गहनता से जांच होती है.

4- सुरक्षा में चौथी पंक्ति में अर्द्धसुरक्षा बल के जवान और विभिन्‍न राज्‍यों के पुलिस अफसर होते हैं. जब प्रधानमंत्री किसी राज्‍य में जाते हैं तो यह प्रदेश पुलिस की जिम्‍मेदारी होती है कि वह बाहरी सुरक्षा का कवर मुहैया कराए और किसी भी अनहोनी को रोके.

5- प्रधानमंत्री (PM Narendra Modi) की सुरक्षा में कमांडो और पुलिस कवर के साथ कुछ अत्‍याधुनिक तकनीकी सुविधाओं से लैस वाहन और एयरक्राफ्ट भी लगे रहते हैं. ये वाहन उच्‍च क्षमता के सैन्‍य आयुधों (Arms-amunition) से लैस होते हैं. अगर पीएम के काफिले पर जमीनी या हवाई हमला होता है तो इनके जरिए उससे आसानी से निपटा जा सकता है. यह किसी भी तरह के रासायनिक या जैविक हमले का जवाब भी दे सकते हैं.

4- भगोड़ों को पकड़ने के लिए पुलिस ने चलाया अभियान

पुणे पुलिस ने भीमा-कोरेगांव हिंसा में फरार चल रहे 4 आरोपियों को पकड़ने के लिए सघन अभियान चलाया है. ये आरोपी हैं-कॉमरेड मिलिंद, कॉमरेड दीपू, कॉरेड मंगलू और कॉमरेड प्रकाश. पुलिस ने इनको पकड़ने के लिए 6 टीम बनाई है. खुफिया एजेंसियों को भी अलर्ट किया गया है. खुफिया की सूचना है कि माओवादी संगठन से जुड़े नेता अब भी हमले की साजिश रच रहे हैं. वे देश के अलग-अलग हिस्‍सों में छिपे हुए हैं और उन्‍हें माओवादी संगठनों से जोड़ने का काम कर रहे हैं.

Chandan Singh

Chandan Singh is a Well Experienced Hindi Content Writer working for more than 4 years in this field. Completed his Master's from Banaras Hindu University in Journalism. Animals Nature Lover.

%d bloggers like this: