9/11 Attack: 9/11 हमले के बाद कुछ यूं बदली Aviation Industry की तस्वीर

9/11 Attack : तारीख 11 सितंबर, 2001 मंगलवार का दिन जिसे पूरी दुनिया नहीं भूल सकती। आज भी इस दिन का खौफनाक मंजर उन लोगों के जहन में जिंदा है, जिन्होंने यह तबाही देखी थी। यहीं वो दिन था जब आतंकवादियों (Terrorist) ने दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका (America) पर एक ऐसा हमला किया था, जिसने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया था। दरअसल, इसी दिन 19 अल कायदा आतंकवादियों ने चार यात्री विमानों का अपहरण किया था, और इसे मिसाइल के रूप में इस्तेमाल किया था। अपहरणकर्ताओं (Kidnapers) ने जानबूझकर उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर (World Trade Center), न्यूयॉर्क शहर के ट्विन टावर्स (Twin Tower) के साथ टकरा दिया, जिससे फ्लाइट पर सवार सभी लोग और भवनों के अंदर काम करने वाले अन्य अनेक लोग भी मारे गए थे।

दोनों बड़ी इमारतें 2 घंटे के अंदर ढह गई थीं। वहीं अपहरणकर्ताओं ने तीसरे विमान को वाशिंगटन डी.सी. के बाहर आर्लिंगटन, वर्जीनिया में पेंटागन से टकरा दिया था। इन हमलों में करीब 3 हजार लोग मारे गए थे। 11 सितंबर को हुए इस हमले के बाद बहुत कुछ बदलाव और संकट देखने को मिला, जिसका विशेष रूप से विमानन उद्योग (Aviation Industry) पर गहरा आर्थिक प्रभाव पड़ा। तो चलिए जानते है कि 9/11 Attack के बाद आखिर क्या कुछ बदला और इस हमले का कितना असर विमानन उद्योग पर आज भी देखने को मिल रहा…

9/11 Attack ने बदल दी Aviation Industry की तस्वीर

इस आंतकी हमले के बाद सबसे ज्यादा और सबसे ज्यादा बदलाव अमेरिकी एयरपोर्ट और हवाई यात्राओं में हुआ। 11 सितंबर (9/11 Attack) के हमले के बाद विमानों की सुरक्षा व्यवस्था काफ़ी बढ़ गई। सुरक्षा प्रक्रियाओं के अलावा Commercial Aviation में कई बड़े उतार-चढ़ाव ने Aviation इंडस्ट्री की पूरी तस्वीर ही बदल दी।

9/11 Attack

आर्थिक उतार-चढाव का सामना

इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अनुसार, संयुक्त राज्य (America) की यात्री एयरलाइनों को 2001 में $8.0 बिलियन का घाटा हुआ, और 2004 तक राजस्व 2000 के आंकड़े से अधिक नहीं था। वहीं 2008 में संयुक्त राज्य अमेरिका में मंदी की शुरुआत ने Commercial aviation को एक और झटका दिया। गंभीर आर्थिक (Financial) उतार-चढ़ाव के कारण डेल्टा, नॉर्थवेस्ट, यूनाइटेड और यूएस एयरवेज सहित कुछ सबसे बड़ी एयरलाइनों को दिवालिया होने की नौबत आ गई थी।

Aviation Industry

इस दौरान डेल्टा और नॉर्थवेस्ट एयरलाइंस के बीच 2008 का आपस मे विलय (Merge) होना सबसे जरुरी था। यूनाइटेड और कॉन्टिनेंटल का विलय 2010 में हुआ, जिसके बाद दक्षिण-पश्चिम और एयरट्रान का 2011 में विलय हो गया। वहीं 2013 में, अमेरिकन एयरलाइंस का यूएस एयरवेज (US Airways) में विलय हो गया। 2018 तक, अमेरिकन, यूनाइटेड, डेल्टा और साउथवेस्ट एयरलाइंस ने अमेरिकी Commercial हवाई यात्रा बाजार का 75% नियंत्रित किया।

9/11 Attack : यात्रियों की सुरक्षा को लेकर बदलाव

1973 और 2001 के बीच हवाई अड्डे की सुरक्षा प्रक्रियाओं में कोई भौतिक परिवर्तन नहीं किया गया था। सुरक्षा प्राइवेट कंपनियों द्वारा नियंत्रित की जाती थी जिन्हें एयरलाइंस ने हायर किया था। यात्री (Passengers) मेटल डिटेक्टर से गुजरते थे, और सामान की न्यूनतम जांच होती थी। यात्री बिना बोर्डिंग पास या पहचान के भी गेट तक पहुंच सकते थे।

फिर नवंबर 2001 में, राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने परिवहन सुरक्षा प्रशासन (TSA) की स्थापना करते हुए एविएशन एंड ट्रांसपोर्टेशन सिक्युरिटी एक्ट (Aviation And Transportation Security Act) पर हस्ताक्षर किए। यात्रियों की स्क्रीनिंग तब सरकार के जिम्मे में आ गई थी। बाद के वर्षों में कई नए सुरक्षा नियम लागू किए गए। वहीं दिसंबर 2001 में shoe bombing किए जाने के कोशिश की गई थी, जिसके बाद सुरक्षा और बढ़ाई गई। यात्रियों के जूते निकालनर उनकी अलग से जांच की जाने लगी। केबिन में किसी भी नुकीली चीज को ले जाने की प्रमिशन नहीं थी, जिसमें नेल फाइल और पेन, चाकू जैसी चीजें शामिल थीं।

Aviation Industry

फिर 2006 के ट्रान्साटलांटिक बम प्लॉट के बाद, TSA ने नया नियम लागू किया, जिसमें कहा गया कि फ्लाइट पर ले जाने वाले किसी भी लिक्विड या जैल वस्तु को 3.4 की औंसतन तक सीमित किया गया। दिसंबर 2011 में, टीएसए ने प्रीचेक की शुरुआत की, जिसने जांचे गए यात्रियों को 85 डॉलर की पांच साल की सदस्यता शुल्क के बदले लंबी सुरक्षा लाइनों से बचने की प्रमिशन दी।

11 सितंबर के हमले (9/11 Attack) के बाद काफी कुछ बदलाव देखने को मिला, खासकर फ्लाइटस की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर। वहीं न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड टॉवर के मलबों को हटाने में कुल आठ महीने से ज़्यादा का वक्त लगा था। उस जगह मेमोरियल और म्यूज़ियम बनाया गया है और अलग डिज़ाइन में वहां इमारत फिर से खड़ी की गई। बता दें कि अब वर्ल्ड ट्रेड सेंटर की इमारत को अब फ्रीडम टॉवर कहा जाता है।

Aviation Industry

हमसे जुड़े तथा अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter Sharechat Koo App YouTube Telegram पर फॉलो व सब्सक्राइब करें

%d bloggers like this: