तो क्या सिर्फ अफवाह थी सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की खबर !

अभी हाल के कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में एकाएक 3 हजार टन सोना मिलने की खबर हर
 
तो क्या सिर्फ अफवाह थी सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की खबर !

अभी हाल के कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में एकाएक 3 हजार टन सोना मिलने की खबर हर किसी न्यूज़ चैनल और अखबार के पन्नों पर थी। हर कोई यह देखकर हतप्रभ था कि अचानक से सोनभद्र में 3 हजार टन सोना कहाँ से आया और यह भी बात होने लगी थी कि हो सकता है कि अभी सोनभद्र की धरती में और भी ज्यादा सोना हो। पर जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) की एक रिपोर्ट के अनुसार सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की बात सरासर गलत है। GSI की इस रिपोर्ट को माने तो 3 हजार टन सोना मिलने की बात अफवाह मात्र लग रही है, पर यह बात फैली कैसे। चलिये जानने की कोशिश करते है।

GSI की रिपोर्ट

तो क्या सिर्फ अफवाह थी सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की खबर !

भारत सरकार के अधीन आने वाले जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (GSI) ने हाल में ही एक रिपोर्ट जाहिर करी है जिसमे उन्होंने बताया है कि सोनभद्र में किसी तरह का 3 हजार टन सोना नही मिला है बल्कि खुदाई में जो सोना मिला है उसका वजन मात्र लगभग 160 किलोग्राम है। GSI ने इस बात की जानकारी एक प्रेस विज्ञप्ति के द्वारा दी। दरअसल पूरे देश मे सोनभद्र से निकल रहे सोने की बात जंगल मे आग की तरह फैल चुकी थी इसलिए GSI को इसके बारें में पनप रही अब शंकाओं को सिरे से ख़ारिज कर दिया।

सोनभद्र में 3 हजार टन सोने की बात कहां से आई

जबसे GSI की रिपोर्ट आई है तबसे सबके दिमाग मे यही घूम रहा है कि आखिरकार 3 हजार टन सोने की बात कहा से निकली। दरअसल जब इस मामले में सरकारी समाचार एजेंसी आइएनएस ने इसकी जांच पड़ताल करी तो यह सामने आया कि यह सारी गड़बड़ उत्तर प्रदेश के खनन विभाग और सोनभद्र के कलेक्टर, दोनो के बीच में हुए कुछ पत्र व्यवहार के लीक होने से हुई।

यह भी पढ़ें : पूरे देश में 1 जून से लागू होगा एक देश एक राशन कार्ड, अब कहीं से भी ले सकेंगे अनाज

तो क्या सिर्फ अफवाह थी सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की खबर !

दरअसल उस पत्र में यह लिखा हुआ था कि सोनभद्र जिले के सोना पहाड़ी ब्लॉक में कुल 2943.26 टन सोना और हरदी ब्लॉक में 646.15 किलोग्राम सोना मिलने की बात कही गयी थी। यह पत्र उत्तर प्रदेश के भूतत्व और खनिकम निदेशालय के द्वारा लिखा गया था।

पत्र से फैली सोने की खबर

इस पत्र में यह भी वर्णन था कि मंत्रालय ने सोने की खुदाई के लिए 7 सदस्यों की टीम का गठन किया है। इसके अलावा पत्र में सोनभद्र के कलेक्टर की तरफ से 20 जनवरी को पत्र के द्वारा व्यवहार रखने के लिए आदेश दिये गए थे। लेकिन जब यह पत्र किसी तरह से मीडिया के हाथ लग गया तो उसके बाद सोनभद्र में सोना मिलने की बात एकदम से सुर्खियां बन गयी। अब कुल मिला-कर यही कहा जा सकता है कि सोनभद्र में 3 हजार टन सोना मिलने की बात मात्र एक अफवाह है।

From around the web