ReligionHealth

Modak Benefits : बप्पा का प्रिय मोदक स्वास्थ्य के लिए भी है फायदेमंद, खाने से मिलते हैं कई हेल्थ बेनिफिट्स

Health Tips : पूरे देश में गणेश उत्सव (Ganesh Utsav) की धूम है। हर कोई बप्पा की भक्ति में लीन है, उन्हें प्रसन्न करने में लगे हुए है। वैसे भगवान गणेश (Lord Ganesha) को मोदक (Modak) काफी पसंद होता है। शास्त्रों में भी कहा गया है कि ये मिठाई गणपति बप्पा को अति प्रिय है और इसका भोग लगाने से उन्हें आसानी से प्रसन्न किया जा सकता है। मोदक (Modak) एक ऐसी मिठाई है, जिसका भगवान गणेश (Lord Ganesha) से खास संबंध भी माना जाता है। लेकिन क्या आपको पता है कि मोदक (Modak) भले ही मिठाई है, लेकिन इसका कम सेवन शरीर के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। तो चलिए जानते है इससे होने वाले फायदे (Benefits) के बारे में….

बता दें कि एक समय था जब महाराष्ट्र (Maharashtra) में मोदक मिठाई (Modak Sweet) का एक अलग ही ट्रेंड था, लेकिन आज भारत (India) के कई हिस्सों में ये मिठाई आपको आसानी से मिल जाएगी। इसकी पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ी है कि लोग अब घरों में भी मोदक (Modak) जैसी स्वीट को आसानी से बनाने लगे हैं। इसका कम सेवन शरीर के लिए बेनिफिशियल है, ऐसा इसलिए क्योंकि इसे घी (Ghee), नारियल (Coconut), गुड़ (Jaggery), ड्राई फ्रूट्स (Dry Fruits), चावल (Rice) का आटा आदि से तैयार किया जाता है।

Modak खाने से शरीर को होगा ये फायदा

Modak

वेट लॉस (Weight loss)

मिठाई को खाने वाले भले ही इसे स्वाद की वजह से पसंद करते हो, लेकिन उन्हें वजन के बढ़ने की चिंता भी सताती है. मोदक (Moadk) का एक हेल्थ बेनिफिट ये है कि इससे वजन घटाने (Weight Loss) में मदद मिलती है. अगर मोदक (Modak) को शुगर (Sugar) की जगह गुड़ (Jaggery) से तैयार किया जाए, तो इससे आप वजन भी घटा सकते हैं. न्यूट्रिशिनिएस्ट रुजुता दिवेकर का मानना है कि जिन लोगों को शुगर क्रेविंग सताए, उन्हें गुड़ से बने हुए मोदक (Modak) खा लेने चाहिए.

Modak

थायराइड (Thyroid)

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि मोदक (Modak) का सेवन थायराइड की समस्या को कम कर सकता है. कहा जाता है कि इसमें एंटी-एजींग गुण होते हैं, जो थायरॉयड (Thyroid) की ग्रंथियों को हेल्दी (Healthy) रखता है. इतना ही नहीं गुड़ वाले मोदक से शुगर (Sugar) लेवल भी कंट्रोल में रहता है.

Modak

कब्ज की प्रॉब्लम होगी दूर

मोदक को भी बाकी मिठाइयों की तरह कई तरीकों से बनाया जाता है. अगर आप नारियल वाले मोदक (Modak) खाते हैं, तो इससे आपकी शुगर क्रेविंग तो दूर होगी, साथ ही शरीर में फाइबर की मात्रा भी बढ़ेगी. फाइबर ऐसा न्यूट्रिएंट है, जो पेट में कब्ज की प्रॉब्लम को होने नहीं देता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स भी ऐसी चीजों का सेवन करने की सलाह देते हैं, जो फाइबर से भरपूर हों. रुजुता दिवेकर कहती हैं कि नारियल वाले मोदक खाएं, लेकिन इसकी मात्रा भी सीमित ही रखें.

Modak