Diwali 2022 : इस साल कब मनाई जाएगी दीवाली ? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त व पूजा विधि

Diwali 2022 : दीवाली का पर्व हिंदू धर्म के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। हर वर्ष कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को यह पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन प्रभु श्रीराम, लंकापति रावण का वध करने के बाद 14 वर्ष का वनवास काटकर अयोध्या नगरी वापस लौटे थे। इसी खुशी में आयोध्यावासियों ने पूरी नगरी को घी के दीपों से सजाया गया था। तभी से ये प्रकाश का पर्व मनाने की परंपरा शुरू हुई थी, जो आजतक चली आ रही हैं। आइए जानते हैं कि इस वर्ष दिवाली (Diwali) का पर्व कब पड़ रहा है, इसकी तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व क्या है।

Diwali Importance : दिवाली का महत्व

Diwali 2022

सुख-समृद्धि के प्रतीक दीवाली (Diwali) के पर्व पर मां लक्ष्मी के साथ भगवान गणेश की पूजा करने का विधान है। माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी की पूजा करने से वे सुख-समृद्धि, धन संपदा, ऐश्वर्य वैभव का आशीर्वाद देती है। दीवाली को मिलन का त्योहार भी माना जाता है, इस दिन सभी लोग एक दूसरे के घर जाते हैं और मिठाईयां बांटते हैं।

कब मनाई जायेगी Diwali 2022

इस बार अमावस्या तिथि 24 अक्टूबर और 25 अक्टूबर को है। लेकिन, 25 तारीख को अमावस्या तिथि प्रदोष काल से पहले ही खत्म हो जा रही है और 24 अक्टूबर को प्रदोष काल में अमावस्या तिथि मौजूद रहेगी। उसी दिन निशित काल में भी अमावस्या तिथि रहेगी। इसलिए 24 अक्टूबर को ही सर्वमान्य रूप से पूरे देश में दीवाली का त्योहार मनाया जाएगा। वहीं ज्योतिष अनुसार, इस बार ऐसा संजोग बन रहा है कि नरक चतुर्दशी जिसे छोटी दिवाली (Choti Diwali) भी कहते है वो भी इसी दिन मनाया जाएगा।

Diwali
  • कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि- 23 अक्टूबर 2 शाम 6 बजकर 04 मिनट से शुरू होकर 24 तारीख को शाम 5 बजकर 28 मिनट तक
  • कृष्ण पक्ष की अमावस्या- 24 तारीख को शाम 5 बजकर 28 मिनट से शुरू होकर 25 अक्टूबर शाम 4 बजकर 18 मिनट तक

लक्ष्मी पूजा का शुभ मुहूर्त (Diwali Shubh Muhurat)

Diwali
  • प्रदोष व्रत पूजा- 24 अक्टूबर शाम 5 बजकर 50 मिनट से रात 8 बजकर 22 मिनट तक
  • लक्ष्मी पूजा मुहूर्त- 24 अक्टूबर शाम 06 बजकर 53 मिनट से रात 08 बजकर 16 मिनट तक
  • अभिजीत मुहूर्त- 24 अक्टूबर सुबह 11 बजकर 19 मिनट से दोपहर 12 बजकर 05 मिनट तक
  • अमृत काल मुहूर्त – 24 अक्टूबर को सुबह 08 बजकर 40 मिनट से 10 बजकर 16 मिनट तक
  • विजय मुहूर्त- 24 अक्टूबर दोपहर 01 बजकर 36 मिनट से 02 बजकर 21 मिनट तक़

लक्ष्मी पूजन की विधि (Diwali Lakshmi Pujan)

दीवाली पर्व के शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है। वहीं शास्त्रों के अनुसार दिए गए मुहूर्त में लक्ष्मी जी की पूजा करना शुभ माना जाता है। इस दिन स्नान करने के बाद साफ-सुथरे कपड़े पहनकर पूरी श्रद्धा से पूजा-अर्चना करें। पूजा के बाद मां लक्ष्मी की आरती और मंत्रों का जाप करना चाहिए। इस दिन दान का भी खास महत्व बताया गया है।

Diwali

हमसे जुड़े तथा अपडेट रहने के लिए आप हमें Facebook Instagram Twitter Sharechat Koo App YouTube Telegram पर फॉलो व सब्सक्राइब करें

%d bloggers like this: