जानें, क्या होती है नवग्रह पूजा और क्या है इसकी सही पूजन विधि

ग्रह-नक्षत्र हमारे ज्योतिषशास्त्र में विदित हैं। इनका अपना महत्व है। किसी भी व्यक्ति के जीवन में नव ग्रहों का बहुत असर पड़ता है। इसलिए इन ग्रहों की पूजा की जाती है। आपको बता दें कि शास्त्रों में 9 ग्रहों का जिक्र किया गया है और इन ग्रहों को नव ग्रह कहा जाता है। शास्त्रों में बताए गए इन नव ग्रहों के नाम सूर्य, चंद्रमा, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि, राहु और केतु हैं। व्यक्ति के नाम, जन्म तारीख, समय और जन्मस्थान के आधार पर उसकी कुंडली बनाई जाती है और कुंडली में इन नौ ग्रहों की क्या स्थिति होती है उस आधार पर जातक का भविष्य बताया जाता है। राशियों में इन ग्रहों की दिशा समय-समय पर बदलती रहती है। ये एक स्थान पर नहीं होती।

वहीं 9 ग्रहों की पूजा को नवग्रह की पूजा कहा जाता है। जब हमारी कुंडली में इन ग्रहों का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है तब नवग्रह की पूजा की जाती है। नवग्रह की पूजा करने से इन ग्रहों के नकारात्मक प्रभाव से बचा जा सकता है।हर नव ग्रहों के अलग अलग बीज मंत्र होते हैं और पूजा करते हुए इन ग्रहों के इन मंत्र जाप भी किया जाता है। आइए अब ग्रहों के हिसाब से जानते हैं कि कैसे उनकी पूजा की जाए और सुफल की प्राप्ति की जाए।

सूर्य ग्रह

सबसे पहले बात करते हैं ग्रहों के राजा सूर्य ग्रह की। इस ग्रह को शांत रखने के लिए और इसके प्रकोप से बचने के लिए ॐ हृां हीं सः सूर्याय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए। इसके अलावा गेंहू, घी, ताबें और गुड़ जैसी चीजों का दान करना चाहिए। ऐसा करने से यह ग्रह सही फल जीवन में देता है। आपको परेशानी नहीं होती।

चंद्रमा ग्रह

चंद्र ग्रह के कमजोर होने पर किसी भी कार्य में सफलता नहीं मिलती है। इस ग्रह से जुड़े शुभ फल पाने के लिए आपको ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्राय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए।

मंगल ग्रह

अगर आपका मंगल ग्रह परेशान है तो आपको ॐ क्रां क्रीं क्रों सः भौमाय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए और संभव हो सके तो लाल चीजों का दान करना चाहिए। लाल रंग को मंगल ग्रह से जुड़ा माना जाता है। इसलिए लाल रंग की चीजों का दान करने से ये ग्रह शांत हो जाता है।

बुध ग्रह

मंगल ग्रह के बाद अब बात बुध ग्रह को शांत रखने की तो इसके लिए ॐ ब्रां ब्रीं ब्रों सः बुधाय नमः मंत्र का जाप करना चाहिए। आपको बता दें कि अगर आप यह मंत्र पढ़ते हैं तो आपके बुध ग्रह की दिशा कुंडली में सही हो जाती है। वहीं बुधवार के दिन मूंग,कपूर जैसी चीजों का दान जरूर करना चाहिए।

Share this on