Tag: otherwise

मलमास माह के दौरान भूलकर भी न करें ये काम, वरना पड़ सकते हैं मुसीबत में

मलमास माह के दौरान भूलकर भी न करें ये काम, वरना पड़ सकते हैं मुसीबत में

Religion
हमारे भारत देश को हिंदुओं का देश माना जाता हैं, जिसको सनातन धर्म भी कहते हैं| हमारे यहाँ काल की गणना  सूर्य व चन्द्रमा को ध्यान में रख कर किया जाता हैं| इन दोनों पद्धतियों की समान काल गणना को मलमास से व्यस्थित किया गया हैं| मलमास को अधिकमास और पुरुषोत्तम नाम से भी जाना जाता हैं| अगर हम दूसरे शब्दो में इसकी बात करे तो इसे सनातनी हिन्दू कैलेंडर को व्यस्थित करने वाला काल माना गया हैं| मलमास का तीन साल में एक बार योग बनता हैं| इस महीने में कोई भी शुभ काम या मांगलिक कार्य नहीं किया जाता हैं| इस साल यह अधिकमास बुधवार से शुरू होकर 13 जून तक रहने वाला हैं| हमारे शास्त्रों में इस महीने में कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित माना गया हैं| इस महीने में हर सनातनी को गंगा स्नान-दान और भगवान विष्णु की पुजा करनी चाहिए| मान्यता हैं की इस अधिकमास के 33 देव हैं, जिसका मतलब हैं की 33 उद्देश्यों की प्राप्ति
भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

Religion
ज्योतिष और शास्त्रों के अनुसार किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले हमेशा गायत्री मंत्र का ही जाप किया जाता है क्योंकि इसे ब्रह्मांड का महामंत्र माना गया है। बताना चाहेंगे की गायत्री मंत्र की महत्ता से तो तकरीबन हर कोई बेहतर वाकिफ होगा, बचपन में अधिकतर स्कूलों में भी प्रार्थना के समय गायत्री मंत्र का जाप कराया जाता था ताकि हर किसी में इसकी पवित्रता आती रहे। आपको बता दे की गायत्री मंत्र पूरी तरह से एक सिद्ध वैदिक मंत्र है, ऐसा कहा जाता है की इस मंत्र की साधना से किसी भी प्राणी को मोक्ष की प्राप्ति होती है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि ऐसा माना जाता है की इस मंत्र का जाप जिस किसी भी उदेश्य से किया जाता है वह कार्य अवश्य पूरा हो जाता है। प्राचीन समय से आज तक इस मंत्र की बहुत महत्ता रही है और गायत्री साधना सदा ही मनुष्य को सांसारिक मोह-माया से बचा कर रखता है। यह भी पढ़ें : शास्त्रों के अनुसार