अभी अभी : नहीं रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैज्ञानिक, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

अभी अभी : नहीं रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैज्ञानिक, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

“मुझे मौत से डर नहीं लगता लेकिन मुझे मरने की भी कोई जल्दी नहीं है क्योंकि मरने से पहले जिंदगी में बहुत कुछ करना बाकी है” ऐसा कहना था दुनिया के जाने माने वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का जिनकी 76 साल की उम्र में निधन हो गया है। यूके मीडिया ने परिवार के प्रवक्ता के हवाले से बताया है कि उनकी मृत्यु कैंब्रिज में उनके घर पर ही हुई है।

अभी अभी : नहीं रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैज्ञानिक, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

बता दे स्टीफन हॉकिंग के शरीर का कोई भी अंग काम नहीं करता था ना वे चल सकते थे ना बोल सकते थे और ना ही कुछ कर सकते थे लेकिन फिर भी वे जीना चाहते थे। स्टेफेन का कहना था की सबकी मृत्यु तो निश्चित है लेकिन इस जन्म और मृत्यु के बीच हम जीना कैसे चाहते है वो हमारे ऊपर निर्भर करता है भले ही जिंदगी कितनी भी कठिन क्यों ना हो लेकिन फिर भी कुछ ना कुछ कर के आप अपना जीवन सफल जरुर बना सकते हैं।

यह भी पढ़े : बड़ी खबर: सबको हंसाने वाले इस मशहूर कॉमेडियन का हुआ निधन

अभी अभी : नहीं रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैज्ञानिक, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

स्टीफ़न हॉकिंग का जन्म 8 जनवरी 1942 को फ्रेंक और इसाबेल हॉकिंग के घर में हुआ। परिवार वित्तीय बाधाओं के बावजूद, माता पिता दोनों की शिक्षा ऑक्सफ़र्ड विश्वविद्यालय में हुई जहाँ फ्रेंक ने दवाइयों की शिक्षा प्राप्त की और इसाबेल ने दर्शनशास्त्र, राजनीति और अर्थशास्त्र का अध्ययन किया। वो दोनों द्वितीय विश्व युद्ध के आरम्भ होने के तुरन्त बाद एक चिकित्सा अनुसंधान संस्थान में मिले जहाँ इसाबेल सचिव के रूप में कार्यरत थी और फ्रेंक चिकित्सा अनुसंधानकर्ता के रूप में कार्यरत थे।

अभी अभी : नहीं रहा दुनिया का सबसे बड़ा वैज्ञानिक, 76 साल की उम्र में हुआ निधन

स्टीफ़न हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया है। उनके पास 12 मानद डिग्रियाँ हैं और अमरीका का सबसे उच्च नागरिक सम्मान उन्हें दिया गया है।स्टेफेन ने कहा था मुझे सबसे ज्यादा खुशी इस बात की है कि मैंने ब्रह्माण्ड को समझने में अपनी भूमिका निभाई। इसके रहस्य लोगों के खोले और इस पर किये गये शोध में अपना योगदान दे पाया। मुझे गर्व होता है जब लोगों की भीड़ मेरे काम को जानना चाहती है।

वह हमेशा लेक्चर के दौरान कहा करते थे इंसान को हमेशा सितारों की तरफ देखना चाहिए न कि अपने पैरों की ओर। सितारे आपको आगे बढ़ने की शक्ति देते हैं एक बार तो उन्होंने प्यार पर भी कहा था कि आप खुशकिस्मत हैं अगर आपकी जिंदगी में आपको कोई प्यार करने वाला है और हमेशा उस प्यार का आदर करें और उसे अपनी जिंदगी से बाहर न जाने दें।

परिवार ने जताया दुःख

हॉकिंग के पुत्र लकी, रॉबर्ट और टिम ने कहा कि हमें अत्यंत दुख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि हमारे प्यारे पिता अब इस दुनिया में नहीं रहे। वह अक महान वैज्ञानिक तो थे ही एक महान इंसान भी थे जिसने विज्ञान की दुनिया में इतना काम किया है जिसे दुनिया सदियों तक याद रखेगी। उनकी हिम्मत और खोज से पूरी दुनिया प्रभावित रही है।

Youth Trend

YouthTrend is a Trending Hindi Web Portal in India and Continuously Growing Day by Day with support of all our Genuine Readers. You can Follow us on Various Social Platforms for Latest News of Different Segments in Hindi.

%d bloggers like this: