Thursday, January 18

Religion

एक्वेरियम केे अंदर रखी लाल और काली मछलियां बदल देती हैं आपकी किस्मत

एक्वेरियम केे अंदर रखी लाल और काली मछलियां बदल देती हैं आपकी किस्मत

Religion
हम सभी अपने घरों में एक्वेरियम रखते है क्योंकि इससे हमारे घर  की खूबसूरती में चार चाँद लग जाता है  लेकिन क्या आप जानते हैं की घर में रखा एक्वेरियम सीढ आपके घर की सुन्दरता ही नहीं बढाता  है बल्कि वस्तु के अनुसार इसकी स्थापना कराने से ये घर में समृधि और सफलता के दरवाजे भी खोलता है |ज्योतिष में बताये गये उपायों के अनुसार मछलियों को भोजन कराने से जीवन के सभी कष्ट दूर हो जाते है  लेकिन इसके लिए बहतु ही जजरूरी है की इसे सही स्थान और दिशा में रखा जाए तो ही ये परिवार के लोगों की खुशहाली का कारण बन सकता है।  आइये आपको बताते है एक्वेरियम से जुडी कुछ जरूरी बातें एक्वेरियम के भीतर जो जल प्रवाहित होता है उसकी आवाज ए  घर में सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह के साथ साथ धन संपन्नता और खुशहाली को भी बढ़ावा देती है | एक्वेरियम को हमेशा घर का दक्षिण-पूर्वी भाग, में  रखना सबसे उचित माना जाता है। ज्योतिष के अ
साल 2018 का पहला सूर्यग्रहण, इन राशियों पर टूटेगा मुसीबतों का पहाड़, जानें कौन सी है वो राशि

साल 2018 का पहला सूर्यग्रहण, इन राशियों पर टूटेगा मुसीबतों का पहाड़, जानें कौन सी है वो राशि

Religion
जैसा की हम सभी जानते है की हिन्दू धर्म में लोग ग्रह-नक्षत्रो को काफी ज्यादा महत्व देते है और आज हम आपको इसी सन्दर्भ में आपको कुछ विशेष बातें बताने जा रहे है | साल 2018 आ गया है और साथ ही इस साल का पहला सूर्य ग्रहण भी आने वाला है | कई लोगों में ग्रहण के लिए भय या उत्सुकता देखि जाती है | आपको बता दे की साल 2018 में तीन सूर्यग्रहण और दो चंद्रग्रहण हैं और इस साल का पहला सूर्य ग्रहण 15 फरवरी को पड़ने जा रहा है।जैसा की हमे बताया गया है कोई भी ग्रहण शुभ कार्यों के लिए ठीक नहीं होता। पर साथ ही ग्रहण का प्रभाव अलग-अलग राशि के लोगो में अलग-अलग पड़ता है। ज्योतिशो के अनुसार यह पहला ग्रहण कई लोगो के खुशियों लेकर आयेगा। तो आइये जानते है ग्रहण के बाद के राशिफल :- मेष- मेष राशिवालों के लिए यह ग्रहण शुभ समाचार लेकर आ रहा है। इस राशि के लोगो को सुख-समृद्धि में वृद्धि होगी। हालांकि पढ़ाई -लिखाई
सप्‍ताह के इन तीन दिनों में भूल से भी ना करें ये काम वरना शनिदेव हो जाएंगे आपसे नाराज

सप्‍ताह के इन तीन दिनों में भूल से भी ना करें ये काम वरना शनिदेव हो जाएंगे आपसे नाराज

News, Religion
हिन्दू धर्म में ऐसी कई सारी मान्यताएं प्रचलित है जिनका पालन करना हमारे जीवन के लिए शुभ माना जाता है और इसी तरह से  हिन्दू धर्म में एक ऐसी मान्यता है जिसके अनुसार सप्ताह के कुछ दिन महिलाओं का बाल धोना वर्जित है और ऐसा घर के बड़े बुजुर्ग भी हमे बताते हैं। आपको बता दे मंगलवार, गुरुवार, शनिवार इन तीनों दिन स्त्रियों को बाल नहीं धोने चाहिए ऐसा कहा जाता है लेकिन आपने कभी सोचा है की क्यों इन दिनों महिलाओं को बाल धोने के लिए मनाही होती है तो आज हम आपको इसी धर्मिक कारण के बारे में बताने वाले है। सप्ताह में मंगलवार, गुरुवार, शनिवार इन तीनों दिन बालों का धोना बहुत ही अशुभ माना जाता है, ग्रहों की दृष्टि से भी इस तीन दिन में बालों का धोना होता है अशुभ शास्त्रों के अनुसार इन तीन दिन बाल धोने से आप बन सकते हैं इन तीन देवताओं के प्रकोप के पात्र। मंगलवार का दिन शास्त्रों और धार्म‌िक दृष्ट‌िकोण
गजब: कोई नहीं तोड़ पाया हनुमान जी के इस चमत्कारी मंदिर को, टूट गईं सारी जेसीबी मशीनें

गजब: कोई नहीं तोड़ पाया हनुमान जी के इस चमत्कारी मंदिर को, टूट गईं सारी जेसीबी मशीनें

News, Religion
हमारा हिंदुस्तान धार्मिक स्थलों के लिए काफी प्रचलित है और यहाँ पर एक से रहस्यमई मंदिर है जो हम सबको हैरान कर देते हैं आज हम आपको ऐसे ही एक मंदिर के बारे में बताने वाले है जिसकी शक्ति के बारे में जानकर आप भी दंग रह जायेंगे। आज हम आपको एक ऐसे हनुमान मंदिर के बारे में बताने वाले है जो शनल हाईवे-24 के पास मौजूद है। ये जो मंदिर है वो  दरअसल तिलहर थाना क्षेत्र के नेशनल हाईवे 24 के कचियानी खेड़ा के पास स्थित है जहाँ नेशनल हाईवे 24 पर फोर लेन बनाने का कार्य चल रहा है लेकिन  इस रोड के  बनाने के बीच मे ये मंदिर आ गया है जिसकी वजह से  कंपनी के लोग इसे तोडना चाहते थे। लेकिन उनकी ओर से जब इस मंदिर को तोड़ने के लिए मशीने मंगाई गयी तो कभी मशीन खराब हो जाती थी तो कभी जनरेटर खराब हो जाता था लेकिन ये मंदिर टूटने का नाम नहीं ले रहा था जिसे देखके वहाँ के स्थानीय लोगों के मन में इस मंदिर के प्रति और भी अ
कल है साल की पहली अमावस्या, रात में चुपचाप से कर लें ये काम मिलेगा सबकुछ

कल है साल की पहली अमावस्या, रात में चुपचाप से कर लें ये काम मिलेगा सबकुछ

Religion
हमारे हिन्दू धर्म से अमावस्या  और  पूर्णिमा  दोनों का ही विशेष महत्व माना जाता है और शास्त्रों के अनुसार ऐसी मान्यता है की इन दोनों ही दिन अगर किसी चीज के लिए मान्यता मानी जाये तो वो अवश्य ही  पूरी होती है और इसीलिए इन दोनों ही  दोनों की पूजा का भी विशेष रूप से की जाती है और ये दोनों ही दिन एक दूसरे के बिल्कुल ही विलोम होते हैं क्योंकि पूर्णिमा के दिन पूरा चाँद नजर आता है। तो वहीँ अमावस्या के दिन चाँद नजर ही नहीं आता सिर्फ काली रात ही दिखती है और इस वर्ष 2018 में जो अमावस्या पड़ रही है  इस महीने की 16 जनवरी पड़ रही है और अगर आपकी किसी भी प्रकार की कोई भी मान्यता है तो अमावस्या वाले दिन  कुछ विशेस उपाय करके आप उसे पूरी कर सकते है इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होगी। तो आइये हम आपको अमावस्या की दिन के कुछ उपाय के बारे में बताते हैं | माँ लक्ष्मी को धन के देवी कहा जाता है और यदि मा
हाथ में मौली का धागा बांधने से बदल जाती है किस्मत, जानें इसके वैज्ञानिक फायदे

हाथ में मौली का धागा बांधने से बदल जाती है किस्मत, जानें इसके वैज्ञानिक फायदे

News, Religion
हिन्दू  धर्म के विभिन्न संस्कारों में से एक है कलाई पर ‘मौलि’ बांधना, कच्चे सूत से तैयार किया गया  धागा कलावा और मौली आदि नामों से जाना जाता है जिसका वैदिक नाम उप मणिबंध भी है जो की किसी भी शुभ कार्य से पहले, हवन करते समय या फिर किसी विशेष पूजन के दौरान हिन्दू धर्म में कलाई पर मौलि बांधने का रिवाज़ है। यह संस्कार बेहद खास माना जाता है। इसीलिए प्रत्येक मांगलिक कार्य में इन शुभ रंगों को संजोए कलावे का प्रयोग आवश्यक माना जाता है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि यह मौलि आखिर क्यों बांधी जाती है? इसे बांधने के पीछे क्या कारण हैं, तो आइये हम आपको बताते है मौली से जुड़ी कुछ विशेष बाते। हिन्दू शास्त्रों में मौलि बांधने का महत्व बताया गया है, जिसके अनुसार मौलि बांधने से त्रिदेवों और तीनों महादेवियों की कृपा प्राप्त होती है। ये महादेवियां इस प्रकार हैं- पहली महालक्ष्मी, जिनकी कृपा से धन-सम्पत्ति
शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

News, Religion
जब भी हम किसी देवालय में जाते हैं या किसी भी पूजा पाठ में जाते हैं तो हमे चरणामृत का प्रसाद अवश्य दिया जाता है क्योकि शास्त्रों के अनुसार सभी प्रसादों से सबसे श्रेष्ठ माना जाता है चरणामृत का प्रसाद चरणामृत का वास्तविक अर्थ होता भगवान के चरणों का अमृत और पंचामृत का अर्थ पांच अमृत यानि पांच पवित्र वस्तुओं से बना हुआ अमृत। पौराणिक मान्यताओं में ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं। जिनमें देवताओं के चरणों से जलधाराएं प्रकट हुई हैं। ये धाराएं नदियों के रूप में धरती पर आईं और प्यास बुझाने में इनके जल का उपयोग किया गया। जल ही जीवन है, इसलिए इसे अमृत कहा गया, क्योंकि इसके पान से हम मरते नहीं।भगवान के चरण स्पर्श करने की परंपरा प्राचीन है। जिस जल से भगवान को स्नान कराया जाता है, वह जल उनकी प्रतिमा से होता हुआ चरण तक आता है और फिर नीचे बहता है। इसी जल को चरणामृत कहा जाता है यानी भगवान का स्पर्श किया हु
भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

News, Religion
हिन्दू शास्त्रों के अनुसार ऐसे कई काम है, जो शाम के समय में करना बहुत अशुभ माना गया है तथा  यदि आप इन कार्यो को शाम के समय करे तो इस कारण आपको धन हानि व आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। विशेषतः ये 6 कार्य जिन्हे शाम के समय आपको भुलकर भी नहीं करना चाहिए और इन 6 कार्यों को जो भी व्यक्ति करता है, उसे न केवल आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ता है बल्कि शारीरिक परेशानीयों का भी सामना करना पड़ता है। तो चलिए आपको बताते है वो 6 कार्य कौन कौन से है। हिन्दू धर्म के अनुसार दिन ढलने के बाद यानि शाम के समय में कभी भी तुलसी के पौधे को ना तो छूना चाहिए और ना ही उसमे जल चढ़ाना चाहिए। ऐसा करना हमारे शास्त्रों में अशुभ माना गया है। यह भी पढ़े : जानेें, आपको राशी के अनुसार कौन से भगवान की करनी चाहिए पूजा शाम के समय जब सूरज ढल जाए तो उसके बाद घर में कभी भी झाड़ू नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से घर की लक्ष्
शुक्रवार को करें लक्ष्मी जी का राशि के अनुसार ये उपाय, दूर होगी आर्थिक परेशानी

शुक्रवार को करें लक्ष्मी जी का राशि के अनुसार ये उपाय, दूर होगी आर्थिक परेशानी

News, Religion
कहा जाता है की पैसा खुदा तो नहीं  है लेकिन किसी  खुदा से कम भी नहीं है और आज के समय में तो ये बात सत प्रतिशत सही साबित हो चुकी है ।आज के समय में अगर किसी मनुष्य की कोई परेशानी है तो यो है निर्धनता और जिसकी वजह से  हर मनुष्य  परेशान रहता है क्योकि धन एक ऐसी वस्तु है जिसके  अभाव से व्यक्ति  समाज में मान-सम्मान प्रतिष्ठा से भी वंचित रहता है। हम सभी जानते हैं हिंदू धर्म के अनुसार शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्‍मी को समर्पित है और देवी लक्ष्मी को धन के देवी कहा जाता है इसीलिए यदि हम शुक्रवार के दिन  देवी लक्ष्‍मी की पूजा-अर्चना करें  तो घर में सुख-समृद्धि बरसती है | इसके अलावा जैसा की हम जानते है की हमारे जीवन पर कुंडली में दोष होने की वजह से हमारे  राशियों पर भी बहुत गहरा असर पड़ता है इसीलिए अगर आप आर्थिक समस्‍याओं से जूझ रहे हैं तो अपनी राशि अनुसार शुक्रवार के दिन कुछ उपाय
17 साल बाद रविवार और मकर संक्रांति पर बना महायोग, राशि अनुसार ये उपाय करना न भूलें

17 साल बाद रविवार और मकर संक्रांति पर बना महायोग, राशि अनुसार ये उपाय करना न भूलें

OffBeat, Religion
हर साल की तरह इस साल भी हम 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाएंगे और इस बार की मकर कुछ खास है क्योंकि इस बार जो संक्रांति मनाई जाएगी वो रविवार के दिन मनाई जाएगी और इससे पहले 2001 में ऐसी मकर संक्रांति आई थी जब हम रविवार के दिन इस पर्व को मनाये थे मतलब की पूरे 18 साल बाद ऐसा महासंयोग फिर से बन रहा है| जैसा की हम जानते है की जब सूर्य जब धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है, तब मकर संक्रांति मनाई जाती है| इसके साथ ही इस मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होगा जिससे की संक्रांति के पूरे दिन पूरे दिन सर्वार्थ सिद्धि योग बना रहेगा। सूर्य देव के महापर्व यानि मकर संक्रांति के दिन दान का बहुत ही महत्व है और ये काफी प्राचीन प्रथा भी है इसीलिए इस दिन आप दान पूण्य अवश्य करें इससे आपको जीवन के सभी दुखो से मुक्ति मिलती है |ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि आपके कुंडली में किसी भी प्रकार क