रिश्वतखोरी के आरोप में पकड़ी गईं महिला तहसीलदार, 2 वर्ष पूर्व सर्वेश्रेष्ठ कार्य के लिए हुई थी सम्मानित

एक तरफ जहां सरकार लगातार प्रयास कर रही है की देश से घूँसखोरी को जड़ से खत्म कर सके मगर कर्मचारी हैं की मनाने का नाम ही नहीं ले रहे। जैसा की जानकारी के अनुसार बताया जा रहा तेलंगाना में एसीबी ने रेड्डी जिले की महिला तहसीलदार लावन्या के घर और दफ्तरों में रिश्वतखोरी का चार्ज लगाते हुए छापेमारी की गयी जिसमें तकरीबन 93.5 लाख रुपए बरामद किए गए। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि भारी मात्रा में जेवरात भी बरामद किए गए। यह कार्रवाई एसीबी ने चार लाख रुपए की घूस लेने के मामले में की है, एसीबी ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Raid on Revenue Officer

2 वर्ष पूर्व मिला था सर्वश्रेष्ठ तहसीलदार का सम्मान

गुरुवार (11 जुलाई, 2019) को मामले से जुड़े अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक महिला अधिकारी के आवास पर बुधवार को छापेमारी की गई। इस दौरान अधिकारियों ने बड़ी मात्रा में नकद राशि के अलावा 400 ग्राम सोना भी जब्त किया।

एसीबी के अधिकारियों के मुताबिक, ‘कोंदुरु ग्राम राजस्व अधिकारी (वीआरओ) एम अंतैयाह को बुधवार को चार लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया था। वह तहसीलदार की तरफ से शिकायतकर्ता से आठ लाख रुपए की मांग कर रहा था। पकड़े जाने के वक्त इसी रकम के चार लाख रुपए ले रहा था।’

Raid on Revenue Officer

अधिकारियों के मुताबिक रंगे हाथों पकड़ने के बाद यह कार्रवाई की गई। बाद में वीआरओ को गिरफ्तार कर लिया गया। एसीबी ने बताया कि तहसीलदार के घर से 93.5 लाख रुपए और 400 ग्राम सोना मिलने के अलावा, संपत्ति के कुछ कागजात भी जब्त किए गए हैं और बैंक खातों का विवरण भी सत्यापित किया जा रहा है। इसके अलावा भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज पूरे मामले की बारीकी से जांच की जा रही है। खास बात है कि रिश्वतखोरी के आरोप में पकड़ी गईं वी लावन्या को राज्य सरकार की तरफ से बेस्ट तहसीलदार का पुरस्कार भी दिया जा चुका है।

Share this on