पति का बैंक बैलेंस कंट्रोल करती है पत्‍नी की बिछिया, गलत उंगली में पहना तो कर्ज में डूबना तय

बहुत ही कम महिलाओं को पता होता है की उनके पैरों की बिछिया का पति की जेब से बहुत ही गहरा रिश्ता होता हैं। जी हाँ, आप एकदम सही सुन रहे है और आज हम आपको इस रिश्ते के बारे में विस्तार से बताने भी जा रहे है। अक्सर ही आपने देखा होगा की किसी भी विवाहित महिला के श्रृंगार को बढ़ाने के लिए तरह तरह के वस्‍त्र, आभूषण आदि का इस्तेमाल करती है, हालांकि विवाहित महिलाओं और उनके श्रृंगार से जुड़ी कुछ परंपराएं भी हैं।

जैसे शास्त्रों के अनुसार यह कहा जाता है की हर विवाहित महिला को अपनी मांग में सिंदूर लगाना चाहिए क्योंकि ये पति की लंबी आयु के लिए होता है जबकि गले का मंगलसूत्र दांपत्‍य जीवन को बुरी नजर से बचाने के लिए।

सिर्फ इत्न अहि नहीं आपको यह भी बता दें की आभूषणों से पैर भी अछूते नहीं है, पायल, बिछिया आदि भी स्त्री के सौन्दर्य का अभिन्न अंग है और आज हम आपको इसी बिछिया के बारे में कुछ खास जानकारी देने जा रहे है की इसे पहनना क्‍यों जरूरी माना गया है।

बिछिया पहनने के पीछे की मान्‍यता

आपको बता दें की हमारे हिंदू धर्म में पैरों की उंगलियों में बिछिया पहनने का रिवाज सदियों से चला आ रहा है। बिछिया हमेशा अंगूठे के ठीक बगल वाली उंगली में पहनी जाती है। ये किसी भी स्त्री के विवाहिता होने की निशानी मानी जाती है। वैसे सामान्य तर पर हमेशा ये ही कहा जाता है की बिछिया चांदी की ही पहननी चाहिए। चूंकि चांदी चंद्रमा का सूचक है और ये शीतलता प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें : जिस व्‍यक्ति के तलवे में होते हैं ये 7 निशान, वो बन सकता है किस्मत वाला, जानें कैसे

बताना चाहेंगे की पैरों में चांदी का होना शुभ माना गया है क्योंकि इससे व्‍यक्ति को तनाव नहीं होता। ज्योतिष के अनुसार भी ऐसा बताया जाता है की चंद्रमा की कृपा प्राप्‍त करने के लिए इसे को पैरों की उंगलियों में पहनाया जाता है और जिस उंगली में बिछिया पहनाई जाती है, उससे होकर गुजरने वाली नसें भी इससे प्रभावित होती हैं जिसका असर सम्पूर्ण शरीर पर पड़ता है।

एक पैर में नहीं पहनना चाहिए बिछिया

आजकल देखा जाए तो एक तरह से महिलाओं में बिछिया पहनने का रिवाज कम और फैशन ज्‍यादा बन चुका है। कई बार तो ऐसा भी देखने में आता है की अविवाहित लड़कियां भी इसे पहन लेती हैं मगर आपको बता दें की शास्‍त्रों में ऐसा करना वर्जित माना गया है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसे लेकर काफी सावधानी भी बरतनी पड़ती है, बिछिया कभी खोनी नहीं चाहिए और ना ही ये सिर्फ एक पैर में पहननी चाहिए। ऐसा होने पर आपको बहुत नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

पति के आर्थिक नुकसान की वजह

आपको बता दें की बिछिया का खोना आर्थिक क्षति का संकेत देता है, ऐसा होने पर आपको बड़े आर्थिक नुकसान से भी गुजरना पड़ सकता है साथ ही साथ ऐसा भी हो सकता है की आप भारी कर्ज में भी डूब सकते हैं। इसके अलावा आपको इस बात का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए की अपने पांव की बिछिया यदि आप किसी और को दे देती हैं तो ऐसा करने से आपके पति बीमार हो सकते हैं और उनकी सेहत बिगड़ सकती है। यह आपके सुहाग का प्रतीक है और इसे किसी और के साथ नहीं बांटना नहीं चाहिए। ऐसा भी माना जाता है की चांदी की पायल और बिछिया आपके घर में लक्ष्‍मी के वाहक होते हैं, घर की लक्ष्‍मी अगर इन दोनों आभूषणों को पहनती है तो उस घर में लक्ष्‍मी जी सदैव निवास करती हैं।

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on

Leave a Reply