आजकल क्या कर रहे हैं श्री कृष्ण का रोल निभाने वाले ये तीनों कलाकार

इन दिनों दूरदर्शन पर उत्तर रामायण का प्रसारण हो रहा हैं और अभी हाल में ही दूरदर्शन ने आने वाले दिनों में अपने एक और प्रसिद्ध धार्मिक कार्यक्रम “श्री कृष्ण” के पुनः प्रसारण की घोषणा कर दी हैं। 90 के दशक में ये दूरदर्शन की जान बन चुका था और रामायण और उत्तर रामायण के बाद इसे बड़ी उत्सुकता से देखा जाता हैं, आपने भी देखा होगा पर क्या आपको पता हैं कि धारावाहिक में कान्हा का किरदार तीन कलाकारों ने निभाया था और क्या आप उन तीनों अभिनेताओं को जानते हैं आज के इस लेख में हम उन तीनों के बारे में बताने जा रहे हैं इसके अलावा ये भी बतायेंगे कि ये आजकल क्या कर रहें हैं।

श्रीकृष्ण का बाल रूप

इस धारावाहिक में भगवान का बाल रूप अशोक कुमार बालकृष्ण ने निभाया था, तमिलनाडु में जन्म लेने के बावजूद उन्होंने पढ़ाई-लिखाई मुंबई से पूर्ण की, जब उन्हें कृष्ण जी का बाल रूप निभाने के लिए चुना गया था तो उनकी उम्र 12-13 वर्ष की रही होगीं। इसके बाद वो फिर से अपनी पढ़ाई में जुट गए और 2007 में एक तमिल फिल्म मुरुगन में अहम किरदार निभाया था और अब तक वो 7 से 88 फिल्मों में काम कर चुके थे, श्री कृष्णा में उनको कालिया नाग का वध, गोवर्धन पर्वत को उठाना जैसे दृश्य के लिए याद किया जाता हैं।

स्वप्निल जोशी किशोरावस्था रूप में

भगवान कृष्ण के किशोरावस्था का किरदार वर्तमान में मराठी और हिंदी टीवी कलाकार स्वप्निल जोशी ने निभाया था, स्वप्निल ने ही उत्तर रामायण में कुश का किरदार निभाया था। उनके द्वारा कंस का वध और द्वारका जाने वाले दृश्यों के लिए उन्हें आज भी याद किया जाता हैं, उन्होंने 3 साल तक इस धारावाहिक में काम किया इसके बाद उन्होंने कुछ समय बतौर स्टैंड-अप कॉमेडियन के रूप में काम किया। 2003 में एक मराठी फिल्म मानिनी से उन्होंने फिल्मी कैरियर की शुरुआत की, आज उनकी गिनती मराठी सिनेमा के बड़े कलाकारों में की जाती हैं, इसके अलावा वो बहुत से हिंदी टीवी शो में नजर आये हैं।

सर्वदमन बैनर्जी

श्रीकृष्ण के किशोरावस्था के बाद का किरदार सर्वदमन बैनर्जी ने निभाया था, जब वो 8वीं कक्षा में थे तो उन्होंने अपने दोस्तों के साथ मिलकर एक फिल्म बनाई थी जिसका नाम साइलेंट शॉउट्स था। उसके बाद वो पुणे फिल्म इंस्टीट्यूट चले गए और वहां से उतीर्ण होने के बाद उन्होंने आदि शंकराचार्य, स्वामी विवेकानंद जैसी आध्यात्मिक फिल्मों में कार्य किया।

जब उन्हें श्रीकृष्ण के लिए रोल ऑफर हुआ तो वो तुरंत उसके लिए राजी हो गए, उनको महाभारत के प्रसंग में अर्जुन के सारथी के रूप में निभाई गई भूमिका के लिए आज भी याद किया जाता हैं। इसके अलावा वो महेंद्र सिंह धोनी के जीवन पर बनी फिल्म एम.एस.धोनी- द अनटोल्ड स्टोरी में उनके कोच के रूप में नजर आ चुके हैं वर्तमान में वो ऋषिकेश में अपना मेडिटेशन सेंटर चला रहें हैं जहां लोग योग और मेडिटेशन करने आते हैं।

Share this on