बड़ी खबर : बाल-बाल बचे पीएम मोदी, गाड़ी में छिपने को होना पड़ा मजबूर

प्रयागराज में अगले महीने होने वाले कुम्भ मेले का जायजा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 16 दिसंबर 2018 को संगम किनारे पहुंचे थे और संगम के किनारे प्रधानमंत्री के लिए सुरक्षा के सारे इंतजाम किए गए थे लेकिन ये सारे इंतजाम उस समय धराशायी हो गए जब अचानक से मधुमक्खियों ने उनके काफिले पर हमला कर दिया| दरअसल आजकल प्रधानमंत्री कई राज्यों के साथ कई शहरों के दौरे पर हैं और अगले महीने कुम्भ मेले का आयोजन प्रयागराज में होने को हैं| इसलिए इस कुम्भ के मेले के अवलोकन के लिए वो संगम किनारे पहुंचे थे|

यह भी पढ़ें : खुलासा: जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर में मिला कैंसर फैलाने वाले केमिकल, जानने के बावजूद बेच रही थी कंपनी

जब मधुमक्खियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को घेरा था तब वो संगम पर थे| ऐसी परिस्थिति को देख कर जिला प्रशासन के हाथ-पाँव फूल गए और ऐसी परिस्थिति से निपटने के लिए प्रशासन कड़ी मशक्कत करने लगा लेकिन फिर भी वो इस परिस्थिति से निपट नहीं सका और पीएम को खुद की सुरक्षा स्वयं करनी पड़ी| बता दें कि नरेंद्र मोदी गंगा आरती के बाद कुम्भ मेले के तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे और तभी उनके आस-पास मधुमक्खियाँ मंडराने लगी|

मधुमक्खियों के बीच नरेंद्र मोदी को फंसा देख प्रशासन कड़ी मेहनत करने लगा लेकिन वो मधुमक्खियों को नहीं हटा सका| ऐसे में पीएम मोदी के सुरक्षाकर्मियों ने और अधिकारियों ने उन्हें उच्च सुरक्षा वाले वाहन में पहुंचा दिया| हालांकि उस समय पीएम मोदी के साथ यूपी के राज्यपाल राम नाईक, सीएम आदित्यनाथ, यूपी बीजेपी चीफ महेंद्र नाथ पांडे और अन्य वीआईपी को भी अपने वाहन में शरण लेनी पड़ी|

इसके अलावा मधुमक्खियों से सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मियों को भी सुरक्षित स्थान पर शरण लेनी पड़ी| इस बारे में भाजपा के एक नेता का कहना था कि ये एक ऐसी स्थित थी जिसके बारे में पहले से विचार नहीं किया जा सकता था| इतना ही नहीं उन्होने आगे कहा कि ऐसा किसी ने नहीं सोचा था कि मधुमक्खियाँ इस तरह से हमला कर देंगी|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on