नोटबंदी के बाद क्या सच में गोल्ड पर होगा वार, जानें क्या है मोदी सरकार का मेगा प्लान

मोदी सरकार हमेशा अपने फैसलों के लिए ही सुर्खियों में रही है। नोटबंदी, जीएसटी लागू करना ये वो फैसले हैं जिनके बारे में आप सुन चुके होंगे पर अब सरकार एक नई प्लानिंग कर रही है। सरकार अब सोने के रूप में कालाधन रखने वालों पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। ऐसे बहुत से लोग भारत में है जिन्होंने अपने काले धन को सोने के रूप में तब्दील कर लिया अब उन्हीं से सरकार निपटने का काम करेगी।

सरकार दरअसल तय सीमा से ज्यादा सोने रखने वालों को अपने सोने की जानकारी देने के लिए कहेगी। साथ ही साथ सोने की कीमत भी अब सरकार को बतानी होगी। अगर किसी ने तय सीमा से ज्यादा सोना जमाकर रखा है तो उस पर अब टैक्स वसूला जाएगा। टैक्स नहीं देने पर जुर्माना भी लगेगा। खबर है  कि वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग और राजस्व विभाग  ने मिलकर इस प्लान  का मसौदा तैयार किया है। खबर ये भी है कि मंत्रालय की तरफ से कैबिनेट में ये प्रस्ताव भेज भी दिया गया है। इस प्रस्ताव को बहुत जल्द कैबिनेट से मंजूरी भी मिल सकती है।

महाराष्ट्र और  हरियाणा के विधानसभा चुनावों की वजह से इस मुद्दे पर कैबिनेट में चर्चा नहीं हो पाई थी लेकिन अब चुनावों की सम्पाति के बाद सरकार इस मामले पर गंभीरता से विचार कर रही है। आपको बता दें कि सोने में कालेधन पर चोट के साथ-साथ स्वर्ण बॉन्ड को कैसे आकर्षक बननाया जाए इसका भी खाका तैयार हो रहा है। इसके तहत अब स्वर्ण बॉन्ड को गिरवी रखने की परमिशन मिल सकती है। वहीं जो सोना मंदिर और ट्रस्ट के पास पड़ा है उस सोने के बेहतर उपयोग के बारे में भी सरकार सोच रही है। इस सोने को अच्छे उपयोग में कैसे लाया जाए इसे लेकर सरकार की तरफ से जल्द ही कोई बड़ी घोषणा हो सकती है।

ऐसा कहा जा रहा है कि सरकार साल 2017 में पेश प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना जिसे आईडीएस-2 कहा गया था उसी की तर्ज पर सोने के लिए भी योजना का ऐलान कर सकती है। अब ये योजना कैसे और किस तरह काम करेगी इसके बारे में जल्द ही जानकारियां सामने आ जाएंगी। आपको बता दें कि नोटबंदी का फैसला भी सरकार ने कुछ इसी अंदाज में लिया था। नोटबंदी के बाद कालेधन पर रोक लगाने में  सरकार  कुछ हद तक कामयाब भी रही और अब सरकार की कोशिश है कि वो सोने के रूप में छिपाए गए कालेधन को बाहर लाए।

Share this on