इस बुजुर्ग का रुतबा जान अच्छे-अच्छे हो जायेंगे हैरान, पीएम मोदी भी मानते है ORDER

अक्सर इंसान के रुतबा उसके पहनावे या धन दौलत से नहीं बनता बल्कि उसके कर्म और स्वभाव से बनता है इसी बात का उदाहरण बने है महाराष्ट्र के सांगली जिले के एक बुजुर्ग इंसान जो कुछ समय पहले सोशल साइट्स पर काफी चर्चा में आ गए है जिसकी वजह पुलिस इंस्पेक्टर द्वारा आरोपी की हत्या कर शव जलाने के मामले में उग्र प्रदर्शन है| इन्हें देखकर कोई नहीं समझ सकता की इनका क्या रुतबा है और क्यों देश के प्रधान मंत्री तक इनका आर्डर मानते है। तो चलिये जानते हैं कौन है ये इंसान जिसके सामने अच्छे अच्छों को पानी पिलाने वाले पीएम मोदी भी नतमस्तक रहते हैं।

संभाजी भिडे गुरुजी

संभाजी भिडे गुरुजी

संभाजी भिडे गुरुजी के इतने अच्छे स्वभाव की वजह से इनका रुतबा ऐसा है कि आज के समय में देश के प्रधानमंत्री से लेकर महाराष्ट्र के सीएम तक इनका ऑर्डर मानते हैं | साइकिल पर चलने वाले भिडे गुरुजी की उम्र 85 के ऊपर है इसके बावजूद वो आज भी तंदरूस्त हैं। उनके बारे में कहा जाता है कि वो पैरों में चप्पल तक नहीं पहनते हैं| इतना साधारण सा जीवन जीने वाले संभाजी भिडे गुरुजी की शिक्षा की बात की जाये तो ये संभाजी पुणे यूनिवर्सिटी से एमएससी (एटॉमिक साइंस) में गोल्ड मेडलिस्ट हैं।

इसके अलावा वे मशहूर फर्ग्युसन कॉलेज में फिजिक्स के प्रोफेसर रह चुके हैं, लोकसभा चुनाव के दौरान जब मोदी सांगली आए थे तो सुरक्षा घेरा तोड़कर भिडे गुरुजी से मिले थे क्योंकि शिवाजी महाराज को अपना आदर्श मानने वाले गुरुजी को महाराष्ट्र में लोगों का जबरदस्त समर्थन है| और उन्होंने यह भी कहा की, “मैं संभाजी भिडे गुरुजी के बुलावे पर नहीं आया हूं, बल्कि उनका  ऑर्डर मानकर सांगली आया हूं”|

संभाजी भिडे गुरुजी

संभाजी भिडे गुरुजी का सम्मान सिर्फ नरेन्द्र मोदी ही नहीं मानते बल्कि महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने उनसे मिलने के लिए अपना प्लेन तक रुकवा दिया था और उनसे मिलने गए थे। सोचने वाली बात ये है की गुरु जी इतने बड़े नेताओ के साथ दबदबा होने के बावजूद भी वो इतना साधारण तरीके से जीवन व्यतीत कर रहे है और उनके पास ना खुद का घर है और ना ही किसी तरह की कोई धन संपत्ति फिर भी आज लोग उन्हें इतना सम्मान और इज्जत दे रहे है क्योंकि वो सत्य की राह पर चल रहे है।

Share this on

Leave a Reply