अपने जीवन की इन चार गलतियों को आज भी नहीं भूल पाते हैं अमिताभ बच्चन, अभी भी है इसका पछतावा

बॉलीवुड के शहँशाह के रूप मे प्रसिद्ध सदी के महानायक अमिताभ बच्चन जी को किसी परिचय की जरूरत नहीं| भारत ही में नहीं बल्कि दुनिया के हर कोने मे उनके फैंस आपको मिल जाएंगे| अमित जी ने जिंदगी में बहुत सारे उतार-चड़ाव देखें हैं| उन्होने बॉलीवुड को एक से बड़ कर एक फिल्म दी हैं| उनके काम की हर किसी ने तारीफ की हैं| चाहे एक्टर हो या डायरेक्टर सभी ने उनकी तारीफ की हैं | अपने इसी अच्छे काम की वजह से वे लोगों के दिलो के शहँशाह हैं। अमिताभ बच्चन जी चाहे महानायक हो या शहँशाह, लेकिन हैं तो एक इंसान ही। तो क्या एक इंसान होते हुए उनसे कभी कोई गलती नहीं हो सकती या कोई गलती हुई नहीं होगी, क्या वह कभी कुछ गलत नहीं कर सकते हैं।

जी हां, अमित जी भी तो हैं एक इंसान ही और इंसान होने के नाते उनसे भी काफी ऐसी गलतियां हुई हैं जो अब वह कभी नहीं सुधार सकते हैं। क्योंकि जो गलतिया अनजाने में और जो भूतकाल में हो गयी हैं तो उनको तो सुधारा नहीं जा सकता, यह बात हम नहीं कह रहे हैं बल्कि खुद इस बात की स्वीकृति अमिताभ बच्चन जी ने दी है। आइए हम आपको बताते हैं कि वह कौन सी ऐसी गलतियां हैं, जिनका अमिताभ जी को आज तक पछतावा है।

नि:शब्द फिल्म में काम करना :

आपको नि:शब्द फिल्म तो याद ही होगा। इस फिल्म में मुख्य कलाकार के रूप में अमिताभ बच्चन और जिया खान थे। इस फिल्म की स्टोरी एक ऐसे प्रेमी जोड़े के रूप मे थी, जिसमें की एक बुड़े आदमी को एक जवान लड़की से प्यार हो जाता हैं| और इस फिल्म मे बुड़े आदमी का किरदार अमिताभ बच्चन ने निभाया था| इतनी बुजुर्ग होने के बाद भी इस फिल्म में अमित जी को जिया खान से प्यार हो जाता हैं। इस फिल्म की लोगों ने बहुत ही निंदा की थी। इसकी वजह से उनकी छवि पर काफी बुरा असर पड़ा था। लोंगों ने कहा की अमित जी को फिल्म की स्क्रिप्ट देखकर ही फिल्म साइन करनी चाहिए| ऐसी फिल्म न करे जिससे उनकी छवि पर बुरा असर पड़े|

यह भी पड़े : अभी अभी : फिल्म जगत को लगा एक और झटका, शोले फिल्म के इस एक्टर का हुआ निधन

बूम फिल्म में काम करना:

जब किसी बड़े स्टार की फिल्म बॉक्स आफिस पर आती हैं तो लोगो को उस फिल्म से काफी उम्मीद रहती हैं| ऐसे में अमिताभ बच्चन जी की फिल्म हो तो दर्शको की उम्मीद दो गुना हो जाती हैं| जब भी अमिताभ बच्चन बड़े पर्दे पर आते हैं, दर्शक उनसे कुछ अच्छे की उम्मीद करते हैं। यही वजह है कि उनकी सारी फ़िल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट होती है। अमिताभ जी से दर्शक साफ़-सुथरी फिल्मों की उम्मीद करते हैं। लेकिन अमिताभ ने भी अपने करियर में बूम जैसी बी ग्रेड फिल्म में काम किया है। उन्होंने इस बात को कबूला भी है कि बूम जैसे बी ग्रेड फिल्म में काम करने का पछतावा था और मुझे हमेशा रहेगा|

राजनीती में आना:

माना जाता हैं की जब एक एक्टर बुड़ा हो जाता हैं तो वह अपने कदम राजनीति में रख लेता हैं, ऐसे उदाहरण आपको कई मिल जाएंगे| यह बात बहुत कम ही लोग जानते हैं कि अमिताभ बच्चन ने 1984 में सामान्य लोकसभा चुनाव में इलाहाबाद से सीटें जीती थी। उन्होंने 3 साल तक इस सीट पर अपनी छवि बनाए रखने की कोशिश की और राजनीति को सीखने की कोशिश की। परंतु 3 साल के बाद उन्होंने राजनीति छोड़ दी। उन्होंने खुद यह कहा कि मैं राजनीति के लिए नहीं बना हूं और शायद मैं कभी राजनीति सीख भी नहीं पाऊंगा।

मीडिया के साथ विवाद होना: स्टार लोगो का मीडिया से पुराना रिस्ता होता हैं और उन लोगों की नोक-छोक होती रहती हैं| वैसे तो अमिताभ बच्चन जी का मीडिया से विवाद बहुत ही कम सुनने को मिलते हैं। परंतु 1975 में मशहूर पत्रिका स्टारडस्ट ने उनके विरोध में कुछ लेख छाप दिया था। जिसकी वजह से अमिताभ बच्चन का मीडिया के लोगो से काफी विवाद हुआ था। अमिताभ बच्चन जी ने गुस्से में आकर इस पत्रिका को बंद करवाने की भी पूरी कोशिश की थी। परंतु उनका पासा उन्हीं को उल्टा पड़ गया और लोगों ने उनकी आलोचना भी की थी।

 

कहा जाता हैं की गलतिया इंसान से ही होती हैं और उन गलतियो को अब अतीत में जाकर सुधारा नहीं जा सकता| अमित जी क्या कोई भी इंसान अपनी गलतियों को अतीत में जाकर सुधार नहीं सकता है। परंतु अतीत में की गई गलतियों से बहुत कुछ सीखा जा सकता हैं और इन गलतियों से जो सीख जाए वही इंसान महान हैं| अमिताभ जी ने भी अपनी इन गलतियों से सीखा है और आज वो दुनिया के करोड़ों लोगों के आदर्श हैं। क्योंकि कोई भी इंसान ऐसे ही महान नहीं बनता| और अमित जी की महानता जगजाहीर हैं|

Share this on

Leave a Reply