कल फिर पीएम मोदी देश को करेंगे संबोधित, लॉकडाउन से सम्बंधित हो सकती है कोई नयी घोषणा

कल एक बार फिर से देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश को संबोधित करने जा रहे हैं और इस बात की जानाकरी उन्होंने खुद अपने ट्विटर हैंडल से दी है. पीएम के इस ऐलान के बाद लोगों ने कयास लगाने शुरू कर दिए है कि क्या लॉकडाउन को बढाया जा सकता है? या फिर 15 अप्रैल को देश में लगा लॉकडाउन समाप्त हो जायेगा और सब कुछ पहले की तरह सामान्य हो जायेगा. खैर कल पीएम क्या कहेंगे इसका पता तो कल ही चलेगा, हालाँकि इससे पहले पीएम मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में देशभर में लॉकडाउन का ऐलान किया था. बता दें कि देश इस वक्त कोरोनावायरस जैसी महामारी को झेल रहा है. अब तक देश में कोरोना वायरस के 2000 से भी ज्यादा केस सामने आ चुके हैं. 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और 151 लोग ठीक हो चुके हैं.

कोरोना वायरस पर पीएम मोदी ने से की मुख्यमंत्रियों बात

इससे पहले प्रधानमंत्री ने कोरोना वायरस को लेकर देश के अलग अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बातचीत भी की और हालत का जायजा भी लिया. कांफ्रेंस में पीएम ने मुख्यमंत्रियों से अपने-अपने राज्य की जनता का ध्यान रखने का आग्रह किया साथ ही इस बात की हिदायत भी दी कि देश  में लगे लॉकडाउन का सभी जगह पर सख्ती से पालन किया जाये. इस मीटिंग में गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे. पीएम मोदी ने इससे पहले लॉकडाउन के ऐलान के बाद सभी राज्यों के सीएम से बात करके कोरोनावायरस से निपटने के उपायों और तैयारियों पर चर्चा की थी.

यह भी पढ़ें : कोरोना की जांच के लिए सरकार ने तय की कीमत, इतनी कीमत देकर घर बैठे करवा सकते हैं टेस्ट

इस महामारी के बाबत प्रधानमंत्री हाल ही में दो बार पहले भी देश को संबोधित कर चुके हैं. पहली बार उन्होंने एक दिन के ‘जनता कर्फ्यू’ का ऐलान किया था, जिसे पूरे देश में भारी समर्थन मिला था और फिर इसके ठीक अगले ही दिन पीएम ने लॉकडाउन का आग्रह किया था ताकि देश को इस संकट से उबर जा सके. उन्होंने 24 मार्च को देश में तीन सप्ताह के लॉकडाउन का ऐलान कर दिया. इसके अलावा भी पीएम मोदी देशवासियों से रूबरू होने का मौका नहीं छोड़ना चाहते थे और रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में भी देशवासियों को कोरोनावायरस से लड़ने और लॉकडाउन को गम्भारिता से लेने और इसके के नियमों का पालन करने का आग्रह भी कर चुके हैं ताकि भारत पर आई इस आपदा से जल्द से जल्द निपटा जा सके.

Share this on