वाराणसी में हुई वोटों की बरसात, लेकिन दर्जनों EVM मशीन हुई खराब

आज 2019 के लोकसभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण में कुछ प्रमुख निर्वाचन क्षेत्रों में वोटिंग चल रही है, जिनमें से सबसे महत्वपूर्ण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चुनावी क्षेत्र वाराणसी है। कुछ अन्य महत्वपूर्ण सीटों में गोरखपुर, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट, बिहार में पटना साहिब शामिल है, जहाँ कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा भाजपा के रविशंकर प्रसाद के खिलाफ खड़े हैं और पश्चिम बंगाल में डायमंड हार्बर और कोलकाता में भी आज ही वोटिंग है। सात राज्यों में 59 सीटों पर आज के अंतिम चरण के चुनाव में एक केंद्र शासित प्रदेश में आज मतदान हो रहा है। आज अंतिम दिन की वोटिंग के बाद 23 मई, गुरुवार को जनता का फैसला सामने आएगा।

वाराणसी में हुई वोटों की बरसात, लेकिन दर्जनों EVM मशीन हुई खराब

वाराणसी में 2014 में, पीएम मोदी ने आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल को 3.37 लाख से अधिक वोटों के अंतर से हराकर एक ऐतहासिक जीत हांसिल की थी और वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार अजय राय ने 2014 में अपनी जमा राशि जब्त कर ली लेकिन इस बार वह मुख्य प्रतिद्वंद्वी बनकर उभरे हैं और साथ ही सपा-बसपा गठबंधन से शालिनी यादव मैदान में उतरी हैं। आपको बता दें आज वाराणसी में जमकर वोट पड़ रहे हैं। आज दोपहर 3 बजे तक 51.66 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। कई मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं की लम्बी कतारें भी देखी गईं। भाजपा के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने भी आज वाराणसी के एक बूथ पर वोट डाला।

वाराणसी में हुई वोटों की बरसात, लेकिन दर्जनों EVM मशीन हुई खराब

वाराणसी में मतदान के दौरान EVM बना समस्या का कारण

वही कुछ मतदान केन्द्रो पर समस्याएं भी खड़ी हो गयीं, EVM की गड़बड़ियों के कारण कई मतदान केंद्रों पर वोट देने पहुंचे मतदाताओं का मन ख़राब हो गया। खोजवाँ प्राथमिक विद्यालय मॉडर्न बूथ में ईवीएम मशीन खराब होने के कारण से वापस हो गए मतदाता। साथ ही आज कांगड़ा लोकसभा क्षेत्र के पालमपुर और बिहार के पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र में पंत नगर और चंदौली में भी ईवीएम मशीन खराब होने से मतदान प्रभावित रहा।में भी ईवीएम खराबी इन सब परेशानियों के बीच भी वोटिंग शुरू होने के पहले दो घंटों में औसत 10-14 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था। 2019 के लोकसभा चुनावों में यह पहला मौका नहीं है जब EVM में गड़बड़ी सामने आयी हो लगभग हर चरण में कहीं न कहीं ये समस्या सामने आ चुकी हैं।

वाराणसी में हुई वोटों की बरसात, लेकिन दर्जनों EVM मशीन हुई खराब

सातवां चरण इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसमें पूर्वी उत्तर प्रदेश की 13 लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मिर्जापुर और रॉबर्ट्सगंज में मतदान होगा। आज देश में लगभग लगभग 10 करोड़ मतदाता अपना वोट देने पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित 918 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला आज जनता आखिरी चरण के मतदान में करेगी।

Share this on