इस दिवाली Jio ने अपने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका, अब फ्री में नहीं होगी बात, चुकाने होंगे पैसे

जियो कंपनी  कुछ ही सालों में करोड़ों कस्टमर बनाने में कामयाब रही हैं| बीते कुछ सालों से यह कंपनी टेलिकॉम सेक्टर में धूम मचा रही हैं| इसके यूजर भारत के हर कोने में मौजूद हैं, ऐसा भी कहा जाता हैं कि जब से Jio ने टेलिकॉम सेक्टर में दस्तक दी हैं तब से भारत में इन्टरनेट यूजर्स की संख्या भी बढ़ गयी है| दरअसल जब जियो ने टेलिकॉम सेक्टर में कदम रखा था तब इस कंपनी ने अपने यूजर्स की संख्या बढ़ाने के लिए फ्री में कॉल और डेटा दिया था, जिसके बाद से इसके यूजर्स की संख्या दिन-प्रति-दिन बढ़ती गयी हैं और आज यह हर कंपनी को टक्कर दे रही है| मगर हाल ही में जियो कंपनी ने एक बयान जारी किया हैं, जिसके बाद से जियो के यूजर्स को झटका लगने वाला हैं|

JIO ग्राहकों को चुकाने होंगे पैसे

बिजनेसमैन मुकेश अंबानी की टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जियो ने बुधवार को कॉल टर्मिनेशन चार्ज से जुड़े नियमों की अनिश्चितता के कारण एक घोषणा की हैं, कि अब वह अपने ग्राहकों से कालिंग के पैसे लेगा| जियो यूजर्स को जियो नेटवर्क के अलावा बाकी नेटवर्क पर किए जाने वाले वॉयस कॉल के लिए 6 पैसे प्रति मिनट देने होंगे| हालांकि जियो उन्हें बराबर मूल्य का फ्री डेटा देकर इसे बैलेंस करेगा| जियो कंपनी ने अपने एक बयान में कहा कि जब तक टेलिकॉम ऑपरेटरों को अपने यूजर्स द्वारा अन्य ऑपरेटरों के नेटवर्क पर किए गए मोबाइल फोन कॉल के लिए पेमेंट करने की जरूरत पड़ रही है, तब तक ही 6 पैसा प्रति मिनट शुल्क जारी रहेगा।

हालांकि यह चार्ज जियो यूजर्स द्वारा दूसरे Jio नंबर पर किए गए कॉल और वॉट्सएप, फेसटाइम इत्यादि जैसे प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करके किए गए फोन और लैंडलाइन कॉल पर लागू नहीं होने वाला हैं, जियो के द्वारा लिए गए इस फैसले का मुख्य कारण ट्राई का फैसला हैं| दरअसल अभी तक जियो अपने यूजर्स से डेटा के पैसे लेता था लेकिन यह पहली बार होगा जब जियो यूजर्स वॉयस कॉल के लिए पेमेंट करेंगे, यूजर्स को कोई असुविधा ना हो इसके लिए जियो ने सभी नेटवर्क से इनकमिंग कॉल्स पहले की तरह फ्री में जारी रखा हैं|

TRAI वजह से हो रहा बदलाव

साल 2017 में दूरसंचार नियामक ट्राई ने इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज को 14 पैसे प्रति मिनट से घटाकर 6 पैसे प्रति मिनट तक कर दिया था और कहा था कि इसे जनवरी, 2020 तक खत्म कर दिया जाएगा। लेकिन अब ट्राई ने रिव्यू के लिए एक कंसल्टेशन पेपर मंगवाया है कि क्या इस टाइमलाइन को बढ़ाने की जरूरत है क्योंकि Jio Network पर वॉइस कॉल फ्री हैं| इसलिए कंपनी को भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसे ऑपरेटर्स को किए गए कॉल्स के लिए तेरह हजार पाँच सौ करोड़ रुपये का भुगतान करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें :

ये कंपनी Jio Fiber से भी कम कीमत पर दे रही है 100 Mbps की ब्रॉडबैंड इंटरनेट की सर्विस

साल 2019 में Reliance Jio इन सर्विसेज के जरिये अपने यूजर्स को बनाएगा और भी स्मार्ट

Share this on