सावन के महीने में भूल से भी नहीं करना ये गलती, हो जाता हैं अनर्थ

सावन का महीना शुरू हो गया हैं और शिव भक्तो के लिए ये महीना किसी त्यौहार से कम नहीं हैं| दरअसल सावन का यह महीना भगवान को अत्यंत प्रिय हैं और इस दौरान जो भी उनकी पूजा-अर्चना सच्चे मन से करता हैं उसकी सभी मनोकामना पूरी होती हैं| सावन के महीने को लेकर ऐसी मान्यता हैं कि इस माह में भगवान शिव पृथ्वी पर निवास करते हैं क्योंकि इस दौरान भगवान विष्णु विश्राम अवस्था में चले जाते हैं और इस कारण पृथ्वी की देख-रेख भगवान शिव को करना पड़ता हैं| सावन के सोमवार का खासा महत्व हैं, ऐसा माना जाता हैं कि यदि कुंवारी लड़की सावन के सोमवार का व्रत करे तो उसे मनचाहा वर मिलता हैं क्योंकि इस महीने के सोमवार का व्रत रख देवी पार्वती ने भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाया था|

सावन के महीने में भूलकर भी ना करे ये पाँच गलती

(1) सावन के माह में आप अपने मन में भूलकर भी गंदे विचार ना लाये क्योंकि मन में यदि गंदे विचार आएंगे तो आप भगवान शिव का ध्यान नहीं कर पाएंगे| इतना ही सावन का महीना बहुत पवित्र माना जाता हैं और यदि आप इस माह में अपने मन में गंदे विचार लाते हैं तो आप पाप के भागी होंगे|

(2) सावन के महीने में किसी को गाली ना दे वरना शिव जी आप से नाराज हो जाएंगे| इसके अलावा आप इस महीने में किसी का अहित करने के बारे में भी ना सोचे वरना आप पाप के भागी होंगे|

(3) सावन के माह में पत्नी से दूरी बना कर रखे और मांस-मदिरा का सेवन ना करे|

(4) सावन के महीने में काला वस्त्र ना पहने क्योंकि काला रंग भगवान शिव को बिल्कुल भी पसंद नहीं हैं और यदि आप काला रंग का कपड़ा पहन कर भगवान शिव की पूजा-अर्चना करते हैं तो वो आपसे क्रोधित हो जाएंगे| इसलिए सावन के महीने में काले रंग के कपड़े पहनने से बचे|

(5) सावन के माह में बैंगन का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि शास्त्रों में इसे अशुद्ध माना गया हैं| दरअसल इस मौसम में बैंगन की सब्जी में कीड़े-मकोड़े पड़ जाते हैं और इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता हैं|

यह भी पढ़ें :

सावन का महत्व, पूजा विधि, कथा और शिवरात्रि पर जल चढ़ाने का शुभ समय

जानें, आखिर सावन में क्‍यों पहनी जाती हैं हरी चूड़ियां व हरे रंग के कपड़े, छिपा है बेहद ही गहरा राज

Share this on