शाम की पूजा के दौरान भूल से भी न करें ये गलती, अन्यथा होगा पछतावा

ऐसा माना जाता हैं कि यदि दिन की शुरुआत पूजा-पाठ से किया जाये तो पूरा दिन अच्छा जाता हैं क्योंकि सुबह के समय सकारात्मक शक्तियाँ सक्रिय रहती हैं| लेकिन आजकल लोग काम की वजह से सुबह पूजा नहीं कर पाते हैं, इसलिए वो शाम को पूजा करते हैं| लेकिन शाम को पूजा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए क्योंकि नकारात्मक शक्तियाँ शाम के समय ज्यादा सक्रिय रहती हैं| इसलिए शाम की पूजा करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए ताकि शाम की पूजा से आपको कोई हानी ना हो| शाम की पूजा को लेकर ऐसी मान्यता हैं कि यदि शाम की पूजा में कोई गलती हो जाये तो आपकी मनोकामना पूरी नहीं होती हैं|

शाम की पूजा में भूल से भी कभी न करें ये गलती

(1) शाम की पूजा करते समय एक बात का ध्यान रखे कि आपके घर के मंदिर के आस-पास चमड़े के जूते-चप्पल ना हो क्योंकि ऐसा करना अशुभ माना जाता हैं|

(2) यदि आपके घर में मंदिर हैं तो आप अपने घर के मंदिर में ज्यादा बड़ी मूर्ति ना रखे बल्कि हमेशा छोटी मूर्ति रखे, बड़ी मूर्तियाँ घर के मंदिर के लिए शुभ नहीं मानी जाती हैं बल्कि वो सार्वजनिक मंदिर के लिए सही रहती हैं| इसके अलावा यदि आपने अपने घर के मंदिर में शिवलिंग स्थापित किया हैं तो शिवलिंग आप अपने अंगूठे के बराबर ही रखे, इससे आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती हैं|

(3) पूजा हमेशा पश्चिम दिशा की ओर मुख करके करे, यदि आप पश्चिम दिशा की ओर मुख करके पूजा नहीं कर पा रहे हैं तो आप पूर्व दिशा की ओर मुख करके पूजा करे| लेकिन एक बात का ध्यान रहे है कि कभी भी दक्षिण दिशा की ओर मुख करके पूजा ना करे, ऐसा करना अशुभ होता हैं|

(4) घर के मंदिर में खंडित मूर्ति ना रखे, खंडित मूर्ति को किसी नदी या तालाब में प्रवाहित कर दे क्योंकि खंडित मूर्तियाँ घर में रखना सही नहीं माना जाता हैं|

(5)  शाम की पूजा करते समय हमेशा ताजे फूलों का इस्तेमाल करे, कभी भी बासी फूल पूजा में शामिल ना करे| इसके अलावा यदि आपने पूजा में चढ़ाने के लिए जो मिठाई लायी हैं और आपने उसमें से मिठाई कुछ खा ली तो उस मिठाई को भगवान को ना चढ़ाएँ| बता दें कि आप तुलसी के पत्ते पहले से तोड़े हुये चढ़ा सकते हैं क्योंकि तुलसी के पत्ते और गंगा जल कभी भी बासी नहीं होते है और बिना तुलसी के पत्ते की पूजा अधूरी मानी जाती हैं इसलिए पूजा में तुलसी का पत्ता शामिल करे|

यह भी पढ़ें :

पितृ पक्ष के दौरान भूल से भी न करें ये काम, आपकी खुशियों पर लग सकता है ग्रहण

कालाष्टमी 2019 : इस दिन कर लें ये महाउपाय, हर मनोकामना पूरी करेंगे काल भैरव

Share this on