Manoj Bhargav : वो अरबपति जिसने अपनी विलक्षण पहल से विश्व को सहेजने का लिया है प्रण

धन कमाने की चाह तो ज्यादातर सभी लोगों को होती हैं और इसके लिए वो कड़ी मेहनत भी करते हैं क्योंकि मेहनत के बिना कुछ भी हासिल नहीं होता। ज्यादा से ज्यादा धन कमाने के बाद बहुत ही कम ऐसे लोग होते हैं जो अपनी लगभग पूरी संपति दान कर देते हैं भले ही संख्या में ऐसे लोग ज्यादा ना हो लेकिन फिर भी ऐसे लोग मौजूद हैं।

आज हम आपकों एक ऐसे ही व्यक्ति के बारें में बताने जा रहें हैं जिन्होने फर्श से अर्श तक का सफर तय करने के साथ-साथ भारत देश का नाम भी पूरी दुनिया में रोशन किया हैं। आज जिनकी हम बात कर रहें हैं उनका नाम हैं मनोज भार्गव, ये वहीं मनोज भार्गव हैं जिन्होंने अपने संघर्ष के दिनों में बहुत मेहनत की और आज इस मुकाम पर खड़े हैं कि उन्होंने अपनी लगभग सारी संपति मानवता की भलाई के लिए दान कर दी।

कौन हैं मनोज भार्गव

अगर अपने कभी फाइव ऑवर एनर्जी ड्रिंक का नाम सुना होगा तो आप जानते होंगे कि इस पेय पदार्थ का निर्माण किसने किया था अगर नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं, हम बता देते हैं उनका नाम हैं मनोज भार्गव। कहने को तो ये अमेरिका रहते हैं लेकिन वहां जाकर भी ये अपने भारत देश के सिद्धांत जैसेकि मानव सेवा को कभी भी नहीं भूले। अपनी कंपनी के उस ड्रीम प्रोजेक्ट जिसकी कीमत लगभग अरबों डॉलर में थी उन्होंने बेझिझक उसे दान करने का निर्णय ले लिया।

इसके अलावा फ्री इलेक्ट्रिक हाइब्रिड बाइक की खोज में इनकी अहम भूमिका थीं, इनके द्वारा एनर्जी ड्रिंक का निर्माण 2004 में किया गया था और इस पेय पदार्थ को लिविंग एसेंशियल LLC के अंतर्गत सूचीबद्ध किया गया हैं। बाजार में आने के 1 साल के अंदर ही इस शक्तिवर्धक पेय पदार्थ (Energy Drink) ने अमरीकी बाजार में अपना प्रभुत्व कायम कर लिया था और सिर्फ पहले वर्ष की ही इस प्रॉडक्ट की कमाई 1.25 अरब अमेरिकी डॉलर हो गई थीं।

मनोज भार्गव के सफल होने से पहले की दास्तां

भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के लखनऊ शहर में इनका जन्म हुआ था, 1967 में ही इनके माता पिता इन्हें अपने साथ अमेरिका के फिलाडेल्फिया ले गए। जहां उन्होंने स्कूली शिक्षा तो प्राप्त कर ली पर कॉलेज की पढ़ाई को बीच में ही छोड़कर अपने वतन भारत लौट गए। अगले 10 से 12 साल उनके यात्राओं में ही बीते, भारत में उन्होंने मठ में कार्य करने के अलावा अलग-अलग क्षेत्रों में अपने हाथ आजमाएं जैसेकि टैक्सी ड्राइवर, ठेकेदार, प्रिंटिंग प्रेस ऑपरेटर और अंत में अमेरिका में पिता के व्यवसाय को संभालने वापस चले गए।

बिल गेट्स से ली प्रेरणा

मनोज भार्गव ने एक बहुत ही खूबसूरत पंक्ति कही हैं कि अगर आपके पास धन मौजूद हैं तो आपका ये कर्तव्य हैं कि आप उन लोगों की मदद अवश्य करें जिनके पास धन का अभाव हैं।

बिल गेट्स के द्वारा चलाए गए एक विश्व्यापी मुहिम चलाई, जिसका मकसद ये हैं कि धनी लोग अपनी संपत्ति का कुछ हिस्सा सामाजिक कार्यो के लिए दान दें। इसी से प्रेरणा लेकर इन्होंने अपनी 99% संपत्ति मानव कल्याण हेतु दान करने की।घोषणा कर दी हैं। इसके अलावा इन्होंने एक संस्था की स्थापना करी हैं जिसका मुख्य कार्य नई तकनीक इस्तेमाल करने वाले उद्योगों को मदद करना, इसके अलावा उनकी ये संस्था नया व्यवसाय शुरू करने जा रहें लोगों को बाजार में कैसे सफल हुआ जाए उसके गुर सिखाने का कार्य करती हैं, इनकी संस्था का नाम स्टेज 2 इनोवेशन हैं।

Share this on