सरनेम की वजह से नहीं मिल रही इस महिला को जॉब, हर जगह से हुई रिजेक्ट

नाम की वजह से नौकरी मिलने में परेशानी
 
क्या आपने कभी सुना हैं किसी को उसके नाम की वजह से नौकरी से हाथ धोना पड़ा हो, नाम वैसे तो सबकी पहचान होती हैं लेकिन अगर ये नाम ही किसी के लिए मुसीबत बन जाए तो

आजकल बहुत से लोग अच्छी शिक्षा प्राप्त करके अच्छी से अच्छी नौकरी प्राप्त करना चाहते हैं, अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के बाद नौकरी के लिए आवेदन करते हैं और अगर वो उस नौकरी के लिए उपयुक्त होते हैं तो उन्हें वो नौकरी मिल जाती हैं।

क्या आपने कभी सुना हैं किसी को उसके नाम की वजह से नौकरी से हाथ धोना पड़ा हो, नाम वैसे तो सबकी पहचान होती हैं लेकिन अगर ये नाम ही किसी के लिए मुसीबत बन जाए तो क्या होगा कभी आपने सोचा हैं, ठीक ऐसा ही हुआ हैं गुवाहाटी की रहने वाली युवती के साथ, आइए जानते हैं इसके पीछे की वजह।

सरनेम बना असम की इस युवती के लिए परेशानी का सबब

हम बात कर रहें हैं असम के गुवाहाटी में रहने वाली प्रियंका की, दरअसल प्रियंका ने नेशनल सीड कॉर्पोरेशन लिमिटेड (NSCL) में नौकरी के लिए आवेदन किया था पर उनके नाम की वजह से उनके आवेदन को खारिज कर दिया गया, काफी बार प्रयास करने के बाद भी सॉफ्टवेयर ने उनके सरनेम को कैप्चर नहीं किया और उनके आवेदन को लगातार खारिज कर दिया गया। प्रियंका का सरनेम Chutia हैं जिसे सॉफ्टवेयर बार-बार स्लैग कह रहा हैं, प्रियंका ने फार्म मैनेजमेंट और कृषि अर्थशास्त्र में मास्टर्स की डिग्री ले रखी हैं।

युवती ने कहा ये सिर्फ मेरा सरनेम हैं

नौकरी के लिए बार-बार आवेदन रद्द होने से प्रियंका ने अपना सारा गुस्सा सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर निकाला, अपनी पोस्ट में उन्होंने कहा कि मेरे आवेदन को खारिज करने का सिर्फ एक कारण बताया जा रहा हैं और वो हैं मेरा सरनेम। अब अगर यही मेरा सरनेम हैं और यही मेरे समुदाय का नाम हैं तो इसमें मैं क्या कर सकती हूं, NSCL को प्रियंका द्वारा व्यक्तिगत रूप से अपनी इस समस्या के बताने के बाद NSCL ने इस मामलें में कार्यवाही करते हुए सॉफ्टवेयर में कुछ बदलाव किया जिसके बाद प्रियंका के सरनेम को स्वीकार कर लिया गया।

ये भी पढ़े :-करप्शन को लेकर CM-DGP से टकरा चुकी हैं मणिपुर की ये महिला अफ़सर, मिल चुका है वीरता पुरस्कार

प्रियंका असम की एक जनजाति से हैं

हम यहां आपको आपकी जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि Chutia एक जनजाति का नाम हैं जो असम में रहती हैं, इसके अलावा Sutiya भी इसी जनजाति के लोग हैं, ये सभी एक समुदाय के लोग हैं इस जनजाति को मंगोलिया के चीनी-तिब्बती परिवार का वंशज माना जाता हैं। इस जनजाति या समुदाय के लोगों को Chutia People के नाम से भी पहचाना जाता हैं।

From around the web