मोदी सरकार 2.0 के पहले Budget में क्या हुआ सस्ता और क्या क्या हो गया महंगा

लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से अपनी जीत दर्ज कराने वाली मोदी सरकार 2.0 द्वारा कल शुक्रवार को अपना पहला बजट पेश कर दिया।तकरीबन दो घंटे 10 मिनट के बजट भाषण में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई तमाम नई योजनाओं के एलान के साथ कई वस्तुओं के काम घटाने और बढ़ाने की भी घोषणा की जिसे ना सिर्फ सदन में बल्कि राजनीतिक गलियारे में भी काफी वाहवाही मिली। बताते चलें की इस साल के बजट में प्रदूषण से राहत के लिए वित्त मंत्री ने इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देते हुए उनकी ब्याज दर में घटोत्तरी की है तो वहीं टैक्स पेयर्स को इस बजट में निराशा हाथ लगी है। कारोबारी जगत से जुड़े लोगों के लिए पेंशन की घोषणा इस साल के बजट में की गई है।

Budget 2019

Budget 2019 में इनकी बढ़ी कीमतें

इस बजट के मुताबिक बहुत सी चीजें महंगी हुई है तो कुछ चीजें सस्ती भी हुई, महंगाई की मार की चपेट में पेट्रोल-डीजल आ गया है, इस बजट में पेट्रोल-डीजल पर 1 रुपये प्रति लीटर की एक्साइज ड्यूटी लगाने का निर्णय लिया गया है जिसके बाद पेट्रोल-डीजल एक रुपये महंगे हो जाएंगे। सोना-चांदी और तंबाकू उत्‍पाद भी अब महंगे हो गए हैं। बता दें कि इस बजट में सरकार ने सोने के इंपोर्ट पर 12.5 प्रतिशत और सोने के आयात शुल्क पर 2.5 फीसदी की बढ़ोतरी की है। दरअसल इस साल के बजट में आयात शुल्‍क में इजाफा हुआ है जिसके चलते चीजों के दाम भी बढ़ाए जाएंगे और अब आयातित किताबों पर पांच प्रतिशत का शुल्‍क लगेगा।

सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इस साल के बजट में बहुत सी चीजों पर महंगाई बढ़ी है जिनमें ऑप्टिकल फाइबर, स्‍टेनलेस उत्‍पाद, मूल धातु के फिटिंग्स, फ्रेम और सामान, एसी, लाउडस्‍पीकर, वीडियो रिकॉर्डर, सीसीटीवी कैमरा, वाहन के हॉर्न, सिगरेट आयातित किताबे आदि शामिल हैं। इसके अलावा ऑटो पार्ट्स सिंथेटिर रबर, पीवीसी और टाइल्स की कीमतें भी बढ़ी हैं।

Budget 2019

Budget 2019 में ये हुए सस्ते

हालांकि जहां एक तरफ महंगाई की मार पड़ी है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ चीजों के सस्ते होने से लोगों को थोड़ी राहत तो मिली ही है। लोगों को इस बजट में होम लोन पर राहत मिली हैं जिसके चलते अब लोग घर सस्ते दामों पर खरीद सकेंगे और सरकार ने सस्ते घरों के लिए ब्याज पर 3.5 लाख रुपये की छूट भी दी है। सरकार ने इस बार बढ़ते प्रदूषण को मद्देनजर रखते हुए बजट में इलेक्ट्रिक कारों की खरीद पर जीएसटी की दरों को घटा कर 12 से 5 प्रतिशत कर दिया है।

इस बजट में रक्षा उपकरण और लेदर के सामान भी सस्ते किये गए हैं। इसके अलावा साबुन, शैंपू, हेयर ऑयल, टूथपेस्ट, डिटरजेंट वाशिंग पाउडर, बिजली का घरेलू सामानों पंखे, लैम्प, ब्रीफकेस, यात्री बैग, सेनिटरी वेयर, बोतल, कंटेनर, रसोई में इस्तेमाल होने वाले बर्तनों के अलावा गद्दा, बिस्तर, चश्मों के फ्रेम, बांस का फर्नीचर, पास्ता, मियोनीज, धूपबत्ती, नमकीन, सूखा नारियल, सैनिटरी नैपकिन, ऊन और ऊनी धागों की कीमतों में कटौती की गई है।

Share this on