SBI की इस स्कीम में एक बार लगाएं पैसा, कई बार मिलेगा रिटर्न

आज के वक्त में पैसे की जरूरत किसको नहीं है, हर कोई चाहता है कि वो पैसे कमाए। पैसे कमाने के लिए लोग निवेश भी करते हैं। निवेश के लिए इस देश में कई प्रकार के बैंक है। इन बैंकों में से एक है स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यानी SBI, ये देश के पुराने बैंकों में से एक है। अगर दूसरे शब्दों में कहें तो ये ग्राहकों के लिए एक बेहद भरोसेमंद नाम है। ध्यान देने वाली बात ये है कि ये बैंक कई तरह की ऐसी स्कीम चलाता है जो ग्राहकों को फायदे दिलाती हैं और उन्हें रिटर्न के साथ सुरक्षा की भी गारंटी देती हैं। जब रिटर्न्स के साथ सुरक्षा मिले तो हर कोई उसी बैंक में निवेश करना चाहेगा। आज हम आपको यहां ऐसी ही एक स्कीम के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जो आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद है।

SBI Annuity Deposit Scheme

 

SBI की एन्युटी स्कीम

SBI ने अपने ग्राहकों के लिए एक नई स्कीम निकाली है। ये एक ऐसी स्कीम है जिसमें आप एक इंवेस्ट कर रेगुलर इनकम हासिल कर सकते हैं। इस स्कीम का नाम है एन्युटी स्कीम। एन्युटी स्कीम में ग्राहक जो पैसा जमा करता है उसे उस रकम पर एक तय समय के बाद ब्याज लगाकर रेगुलर पैसा मिलना शुरू होता है। अब जानते हैं कि आखिर इस स्कीम की खासियतें क्या-क्या है।

इस स्कीम की खासियत है कि इसमें आप कम से 1000 रुपये से एन्युटी की शुरुआत कर सकते हैं। और इसमें अधिकतम निवेश की लिमिट नहीं है। आप एक बार में कितना भी पैसा इस स्कीम में लगा सकते हैं और उसी के आधार पर आपको ब्याज लगाकर तयशुदा समय पर नियमित रकम मिलती रहेगी। आपको एक निश्चिंतता रहेगी।

यह भी पढ़ें : LIC के इस प्लान में प्रतिदिन मात्र 72 रुपये निवेश कर पा सकते हैं 28000 रुपये की मासिक पेंशन

SBI Annuity Deposit Scheme

 

क्या हैं इस स्कीम की खासियत

आपको बता दें कि इस स्कीम में आप 3 साल, 5 साल, 7 साल या 10 साल के लिए निवेश की अवधि चुन सकते हैं। इसके लिए ब्याज की दरें वहीं होंगी जो चुनी गई अवधि के टर्म डिपॉजिट के लिए ब्याज दरें तय की गई होंगी। इसके लिए आप इस तरह से देख सकते हैं कि अगर आपने 5 साल की अवधि के लिए एन्युटी स्कीम का चुनाव किया है तो 5 साल की एफडी पर जितना ब्याज मिल रहा है उतना ब्याज आपको मिलेगा। आपको ये भी बताते चलें कि इस स्कीम में एफडी की तरह एक बार रकम जमा करनी होती है लेकिन सिर्फ एक बार आपको ब्याज के साथ रकम नहीं मिलती बल्कि नियमित अंतराल पर ब्याज के साथ रकम मिलती रहती है।

Share this on