अगर आपके भी घर में महिलाएं रहती है उदास, तो ध्यान दें कहीं घर के इस कोने में तो नहीं है गड़बड़

किसी भी घर में महिलाओं का अहम स्थान होता है। महिलाओं का घर में रहना बहुत जरूरी होता है। क्या हो जब घर की महिलाएं ही बीमार पड़ जाएं तब ? क्या हो तब घर की महिलाओं के साथ उनका स्वास्थ्य न हो ? क्या हो जब घर की महिलाएं आशंकित होने लगें स्वास्थ्य को लेकर ? इसका एक ही जवाब है और वो ये कि अगर आपके घर में महिलाएं बीमार रहती हैं तो आपको आपके घर की वास्तु पर गौर करना चाहिए। हालांकि आजकल इसे भूला दिया गया है। पुरुष या महिला की बीमारी में वास्तु दोष की भूमिका अहम होती है। कैंसर जैसे रोग का कारण भी हमारे घर का वास्तु हो सकता है। यही कारण है कि बीमारियां लगातार बढ़ती जा रही हैं। बीमारियों का वास्तु से बहुत बड़ा संबंध होता है।

क्या है वास्तुदोष ?

जब नकारात्मक ऊर्जा और सकारात्मक ऊर्जा के बीच संतुलन बिगड़ जाता है तो उसे वास्तु दोष कहते हैं। घर के किस दिशा में जल किस दिशा में वायु घर की किस दिशा में अग्नि होनी चाहिए ये वास्तु के हिसाब से तय होती है। आजकल रेक्टअंगुलर की जगह लोग किसी भी तरह के तरह के घर बनवा लेते हैं। इसमें कई बार घर का कोई कोना दबा दिया जाता है तो कोई कोना बढ़ा दिया जाता है।

ईशान कोण का क्या है प्रभाव ?

जिनके घर मे कैंसर के मरीज होते हैं उस घर में दो या दो से अधिक वास्तु दोष होते हैं। जिसमे से एक वास्तुदोष ईशानकोण का होता है। ईशानकोण को घर का नॉर्थ ईस्ट ऑफ द हाउस कहते हैं। जहां आपको पानी रखना चाहिए। अगर ये ईशान कोण कटा हुआ होगा दबा हुआ होगा जरूरत से ज्यादा बढ़ा हुआ होगा तो ये सभी बीमारियों के कारण होते हैं। कई जगहों पर ईशान कोण को ऊंचा भी किया जाता है। आपको याद रखना चाहिए कि जब आप घर बनवाएं तो आपके घर का ईशान कोण 90 डिग्री पर होना चाहिए। फर्श का जो भाग है वो बाकी सभी भागों से बराबर होना चाहिए।

आपको बता दें कि वास्तुदोष सिर्फ घर के अंदर नहीं बल्कि घर के बाहर की चीजों से भी संबंधित होता है। सिर्फ घर के अंदर की सजावट को देखने से कुछ नहीं होगा आपको घर के बाहर भी देखना होगा। आपको आपके घर के सामने नकारात्मक ऊर्जा बढ़ाने वाली चीजें नहीं रखनी चाहिए। अगर आपने ये चीजें रख रहीं हैं तो भी आप पर मुसीबत आ सकती है। आपके परिवार के लोगों को बीमारी हो सकती है। आपको बताते हैं कि ऐसी कौन सी चीजें हैं जिन्हें घर के मुख्य द्वार पर रखने पर घर की महिलाओं की तबियत खराब हो सकती हैं। अगर आपके घर के बाहर गड्ढे हैं तो आपके घर के सदस्यों को मानसिक तनाव हो सकता है। कई बार लोग ऐसा सोचते हैं कि घर कर बाहर मंदिर है तो वो ठीक है लेकिन ये आपके लिए काल भी साबित हो सकता है क्योंकि घर के सामने कभी भी पूजा स्थल नहीं होता। अगर ऐसा है तो आपके घर देवी देवता नहीं आएंगे।

महिलाओं को बीमारी से बचाने में दक्षिण दिशा की महत्वता

घर की दक्षिण दिशा भी घर की महिलाओं के स्वास्थ्य पर असर करती है। ऐसा इसलिए क्योंकि दक्षिण दिशा में यम का निवास माना गया है। इसलिए आपने अक्सर देखा होगा कि जब घर बनवाया जाता है तो हमेशा दक्षिण दिशा में कुछ स्थान छोड़कर ही घर बनवाया जाता है। इसके बाद ही मकान की दीवार बनती है।

अगर आपके घर में दक्षिण दिशा का द्वार है तो ये आपके लिए ठीक नहीं है। अगर आपने दक्षिण दिशा वाला घर ले लिया है तो भी आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप छोटे-छोटे उपाय करके इसे ठीक कर सकते हैं। अगर आपने दक्षिण दिशा का दोष दूर नहीं किया तो आपके घर की महिलाओं को कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। घर की महिलाओं की वजह से आप भी कहीं न कहीं परेशान होंगे।

अगर आपके घर में दक्षिण दिशा का दोष है तो आपके घर के साउथ भाग में रेड यानी लाल रंग से कलर करवाना चाहिए। लाल रंग से इस दिशा का दोष दूर हो जाता है। आप दक्षिणी दीवार पर शिशा भी लगवा सकते हैं। आप चाहें तो दक्षिण दिशा के दोष को कम करने के लिए घर के दक्षिण भाग में लाल रंग के पौधे भी लगवा सकते हैं। द्वार के आशीर्वाद मुद्रा में हनुमान जी की मूर्ति भी लगवाएं आपको लाभ होगा। आप अगर चाहें तो पंच धातु का पिरामिड भी लगवा सकते हैं।

अगर आपके घर की महिलायें घर की दक्षिण दिशा में करके सो रहीं है तो आपके घर की महिलाओं को दिक्कत हो सकती है। अगर घर की महिलाओं को ऐसा लग रहा है, ऐसा महसूस हो रहा है तो वो घर की उत्तर दिशा में बैठ सकती हैं। अगर आप सपा रहें हैं तो आपके सिर की दिशा पूर्व होनी चाहिए इस बात का ध्यान आप जरूर रखें। पूर्व दिशा खास क्यों है ? इसके पीछे का कारण ये है कि ये दिशा आपको ऊर्जा से पूरी तरह भर देती है। इस दिशा से ही आपके घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।

आप ऐसा करें तो नहीं होगी महिलाओं की तबियत खराब

अगर घर की महिलाओं की तबियत खराब है तो कहीं न कहीं इसके पीछे आपके घर का टॉयलेट भी जिम्मेदार है। इससे जुड़ा वास्तु दोष भी खतरनाक होता है। अगर आपके घर में नार्थ ईस्ट दिशा में टॉयलेट है तो उसे तत्काल बदलवाएं। अगर आपके घर में टॉयलेट अभी नहीं बना है नॉर्थ ईस्ट दिशा में तो फिर आप टॉयलेट को कहीं और बनवाएं।

अगर आपने इसमें चूक की तो आपकी घर की महिलाओं को खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। इसलिए इन बातों का ध्यान जरूर रखें। अगर आपने अपने घर के वास्तु दोष को ठीक नहीं किया तो आप ये हमेशा सोचते रह जाएंगे कि आपके घर की महिलाएं स्वस्थ्य क्यों नहीं हैं । आपको ये सवाल नहीं चाहिए तो ऊपर दी गयी हुई बातों पर गौर करना होगा।

Share this on