गलती से भी महिलाएं इन 8 चीजों को न करें नजरअंदाज, हो सकता है एंडोमेट्रियल कैंसर

आजकल कैंसर की वजह से बहुत लोगों की जान जा रही हैं| यह ऐसी बीमारी हैं जिसका यदि शुरुआत में पता चल जाए तो इसका इलाज संभव हैं वरना इसके आखिरी स्टेज में इंसान की मृत्यु संभव हैं| कैंसर शरीर के किसी भी अंग में हो सकता हैं| खास कर महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर और एंडोमेट्रियम कैंसर का खतरा ज्यादा रहता हैं| महिलाओं को एंडोमेट्रियम कैंसर गर्भाशय की भीतरी परत में होता है। महिलाओं को एंडोमेट्रियम ग्रंथि से ही गर्भधारण करने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें : खाना खाने के ठीक बाद तुरंत न करें ये 3 काम, वरना सेहत के लिए हो सकता है खतरा

जब एंडोमेट्रियम की कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ने लगती है तो यह कैंसर का रूप ले लेती है। एंडोमेट्रियम कैंसर महिलाओं को किसी भी उम्र में हो सकता है| लेकिन 45 से 60 वर्ष की महिलाओं को इसका खतरा सबसे ज्यादा रहता है। एंडोमेट्रियम कैंसर होने के कई कारण हैं| जैसे – मोटापा, एस्ट्रोजेन का उच्च स्तर, उच्च रक्तचाप, डायबिटीज इत्यादि कारण हो सकते है। यदि आप थोड़ा सा भी ध्यान दें तो समय रहते आप इसके लक्षणों को पहचान सकती हैं और इसके खतरे से भी बच सकती है। तो आइए जानते हैं एंडोमेट्रियल कैंसर के लक्षणो के बारे में|

एंडोमेट्रियल कैंसर होने के संकेत

(1) यदि आपको असामान्य वेजाइनल डिस्चार्ज हो रहा है तो आपको सतर्क रहने की जरूरत हैं क्योंकि यह एंडोमेट्रियल कैंसर के होने का संकेत है।

(2) यदि अचानक से आपका वजन कम हो रहा है| आपको अपने वजन पर ध्यान देने की जरूरत हैं क्योंकि यह भी इस कैंसर के होने का संकेत है।

(3) एंडोमेट्रियल कैंसर से ग्रसित महिला को पेल्विक हिस्से में बहुत ज्यादा दर्द की समस्या रहती है। इसके अलावा आपके पेल्विक में ऐंठन भी हो सकती है।

(4) एंडोमेट्रियल कैंसर से ग्रसित महिलाओं को संभोग के दौरान दर्द होता है। यदि इस तरह की समस्या आपको भी हैं तो बिना समय नष्ट किए आपको डॉक्‍टर से संपर्क करने की जरूरत हैं|

(5) बार-बार यूरीन आना या यूरीन के समय दर्द होना भी इसका संकेत हैं|

(6) भूख ना लगना भी एंडोमेट्रियम कैंसर की ओर इशारा करता है।

(7) ज्यादा थकान होना या थोड़ा चलने पर साँसे फूलना भी इस कैंसर का संकेत है।

(8) एंडोमेट्रियम कैंसर से पीड़ि‍त महिलाओं को पीरियड के समय अत्याधिक रक्तस्राव होने से एनीमिया की समस्या हो सकती है।

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on