इस वजह से मैदान पर ही फिर गया एमएस धोनी का दिमाग, बोले- अब तो हर हाल में जीतूंगा मैच

बंगलोर के खिलाफ कल चिम्न्यास्वामी स्टेडियम में रोमांचक मैच खेलते हुए चेन्नई सुपर किंग्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को पांच विकेट से हरा दिया। बता दें की कल के इस बेहद ही शानदार मैच में जीत के हीरो रहे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी। टीम को जीत दिलाने मे माही ने जबर्दस्त परी खेलते हुए 34 गेंदों में शानदार नाबाद 70 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली और अपनी टीम को हार के मुहाने से वापिस खींच कर CSK को दिला दी।

यह भी पढ़ें : ये है आईपीएल के सीजन 11 की सबसे कमजोर टीम, प्‍वांइट टेबल में भी है सबसे नीचे

आईपीएल 2018 के इस सीजन मे कोहली और धोनी की टीम पहली बार आमने सामने थी जहां रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने जबर्दस्त बैटिंग करते हुए चेन्नई के सामने 206 रनों की विशाल लक्ष्य दिया था। बता दें की बैटिंग करते हुए चेन्नई के मात्र 74 रन पर चार विकेट गिर गए थे और यहां से धोनी की टीम को जीत के लिए 11 ओवर में 134 रनों की दरकार थी। देखा जाए तो CSK पर हार का खतरा साफ साफ मंडरा रहा था, मगर क्रीज़ पर धोनी के आते ही लगा की आज धोनी कुछ और ही सोचकर आए हैं। जैसे ही जडेजा आउट हुए और फिर साथी खिलाड़ी रायुडू आए तो उन्होने बस उनसे एक ही बात काही की अब चाहे जो भी हो जाए उन्हें मैच हर हाल मे जीतना है।

धोनी ने मुश्किल राह को भी बना दिया आसान

आपको बता दें की चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कल छठे नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे और जब धोनी मैदान पर आए बेंगलुरु के तेज गेंदबाज उमेश यादव और युजवेंद्र चहल अपनी गेंदबाजी से बुरी तरह कहर ढाए हुए थे। मगर धोनी ने बाकी बल्लेबाजों की तरह हड़बड़ी नहीं दिखाई और संयम से काम लिया। धोनी ने मन ही मन यह तय कर लिया था की आखिरी के ओवरों में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त करेंगे।

कुछ इस तरह आखिरी ओवर में दिलाई जीत

मैच बहुत ही रोमांचक मोड पर पहुँच गया था और आखिरी ओवर में चेन्नई की टीम को जीतने के लिए 16 रन चाहिए थे। एक छोर पर ड्वेन ब्रावो (नाबाद 14) ने अंतिम ओवर में एक चौका और एक छक्के के बाद एक रन लेकर बाकी की गेंद खेलेने के लिए स्ट्राइक धोनी को दी और फिर वही हुआ जिसका दर्शक हमेशा से इंतज़ार करते रहते है। बताना चाहेंगे की आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर धोनी ने अपने चिरपरिचित अंदाज में शानदार छक्का जड़कर चेन्नई की टीम को दो गेंदें शेष रहते जीत दिला दी। अपनी पारी के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने कुल 34 गेंदों पर शानदार 70 रन बनाए जिसमे सात छक्कों के अलावा एक चौका भी शामिल था।

माही की इस पारी ने सात साल पहले हुए वर्ल्ड कप 2011 फाइनल की यादें ताजा कर दी जब महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी ओवर में कुछ इसी तरह छक्का जड़ते हु चेन्नई सुपर किंग्स को आईपीएल के मैच में राॅयल चैलेंजर्स बेंगलुरु पर पांच विकेट से जीत दिलाई थी।

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

Share this on