महाशिवरात्रि 2020: भगवान शिव की पूजा में भूल से भी न करें इन चीजों का प्रयोग

देवी देवताओं को खुश करना इतना आसान नहीं होता है लेकिन अगर सच्चे मन से अराधना कि जाए तो किसी भी भगवान को प्रसन्न किया जा सकता है मनाया जा सकता है। लेकिन उसके लिए आपको साफ और पवित्र मन के साथ कुछ ऐसी सामग्रियां प्रयोग करनी होगी जो भगवान को बहुत प्रिय होती है। अगर आप भगवान शिव की कृपा प्राप्त करना चाहते हैं, अगर आपको भोलेनाथ को खुश करना है तो आपको इस शिवरात्रि पर विशेष रुप से उनकी पूजा करनी चाहिए, आइये जानते हैं महादेव की पूजा में किन बातों का विशेष ध्यान रखना जरूरी होता है।

भगवान शिव की पूजा में ये चीजें हैं वर्जित

शंख जल

पौराणिक कथा के अनुसार भोले नाथ ने शंखचूड़ नामक राक्षस का अंत किया था उसके भस्म होने के बाद उसकी हड्डियों से शंख का निर्माण हुआ था। शंखचूड़ भगवान विष्णु का भक्त था, इसलिए विष्णु भगवान और लक्ष्मी जी को उससे चढ़ाया गया जल बहुत प्रिय है लेकिन शंकर भगवान ने उसका वध किया था इसलिए भगवान भोलेनाथ पर शंख से जल नहीं चढ़ाया जाता।

चावल और बेलपत्र

भोले नाथ को पूजा में साबूत चावल अर्पित करने चाहिए। टूटा हुआ चावल अपूर्ण और अशुद्ध होता है, इसलिए इसे भगवान शिेव जी को नहीं चढ़ना चाहिए। भोले नाथ अटूट आस्था के प्रतीक हैं इसलिए पूजा में टूटे चावलों का प्रयोग नहीं करना चाहिए। शिव को बेलपत्र बहुत प्रिय है शिवलिंग पर बेलपत्र चढ़ाने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। लेकिन आपको शिवलिंग पर कटे फटे बेलपत्र नहीं अर्पित करने चाहिए। ऐसा करने से भगवान शंकर नाराज हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें : महाशिवरात्रि पर पूजा में भूल से भी न करें ये गलती, नहीं मिलेगा पूजा का फल

कच्चा दूध और काले तिल

शिवजी को पूजा के समय हमेशा कच्चा दूध ही चढ़ाना चाहिए। इससे शिवजी का मस्तिष्क शांत और ठंडा रहता है। असल में कच्चा दूध पवित्र माना गया है। इसलिए कच्चे दूध को शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए उबला हुआ दूध कभी भी भगवान शिव को नही चढ़ाना चाहिए। तिल या तिल से निर्मित कोई चीज भगवान शिव को अर्पित नहीं करनी चाहिए। इसे भगवान विष्णु के मैल से उत्पन्न हुआ माना जाता है। यही कारण है कि इसे भोले नाथ को नहीं अर्पित करना चाहिए। आप चाहे तो सफेद और लाल तिल शिवजी को पूजा के समय चढ़ा सकते हैं। लेकिन काला तिल शिवलिंग पर नहीं चढ़ाए।

सिंदूर

भगवान शिव की पूजा में लाल रंग के फूल और सिंदूर भी प्रयोग नहीं करना चाहिए। भगवान भोलेनाथ को सफेद रंग काफी पसंद है इसलिए ध्यान रखें कि पूजा के समय शिवजी को लाल रंग के वस्त्र का प्रयोग नहीं करना चाहिए। यह सभी चीजे आपकी मनोकामना पूरी करेंगी।

विडियो : महाशिवरात्रि 2020 में कब है: जानिए पूजा करने की सही विधि | MahaShivratri 2020 Date and Time

Share this on