नागपंचमी के दिन चुपचाप से नहाने के पानी में मिला दे यह एक चीज, हो जाएंगे मालामाल

सावन महीने के शुक्‍ल पक्ष की पंचमी को नागपंचमी का त्यौहार मनाया जाता है। इस दिन नागो की पूजा की जाती है। इस दिन नाग देव के 12 स्‍वरूपों की पूजा की जाती है और दूध चढ़ाया जाता है। भगवान शिव को भी सर्प अत्‍यंत प्रिय हैं, इसलिए यह त्‍योहार उनके प्रिय महीने में मनाया जाता है। भगवान शिव नाग को अपने गले में धारण करते हैं तो वहीं दूसरी ओर शेष नाग भगवान विष्णु की शैय्या भी हैं|

ज्योतिष शास्त्रो के मुताबिक नागो की पुजा करने से कालसर्प दोष दूर होता हैं|इस नागपंचमी के दिन आप यदि अपना क़िसमत चमकाना चाहते हैं तो अपने नहाने के पानी में कुछ चीजें मिलाकर स्नान कर ले और फिर नागों की पुजा करे| इससे आपकी सोई हुयी किस्मत जाग उठेगी और धन संबंधी समस्याएँ कोसो दूर रहेगी| आइए हम आपको बताते हैं की इस नागपंचमी के दिन वो कौन सी चीज को नहाने के पानी में मिलाकर नहाने से आपकी किस्मत जाग उठेगी|

यह भी पढ़ें : सावन शिवरात्रि का क्या है महत्व, शिवजी के पास क्यों है डमरू, त्रिशूल और नाग

(1) नागपंचमी के दिन आप अपने नहाने के पानी में चन्दन का पावडर मिलाकर स्नान करे| स्नान करने बाद ही आप नागदेवता की पुजा करे|

(2) कपूर का प्रयोग हम पुजा के सामग्री में करते हैं| आप इसका प्रयोग नागपंचमी के दिन अपने नहाने के पानी में करे| थोड़ा सा कपूर ले और उसे अपने नहाने के पानी में डाल कर स्नान करे| स्नान के बाद ही आप नागदेवता की पुजा-अर्चना करें|

(3) काला तिल भी आप अपने नहाने के पानी में डाल कर के स्नान करे| इस बात का जरूर ध्यान रखे कि जब भी आप इन चीजों को अपने नहाने के पानी में मिलाकर स्नान करे तो इस बात को किसी को भी ना बताए| यदि आप इन चीजों को मिलाकर स्नान करते हैं तो आपकी सारी समस्याएँ दूर हो जाएंगी|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on

Leave a Reply