ट्रूपल ओपन माइक से मिलेगी कई गुमनाम प्रतिभाओं को उनकी मंजिल- कनुप्रिय सत्तन तैलंग

ट्रूपल ओपन माइक की ब्रांड एम्बेस्डर चुनी गई कवयित्री कनुप्रिया सत्तन तैलंग

इंदौर शहर के सबसे बड़े लाइव इवेंट में ऑनलाइन न्यूज़ कम व्यूज प्लेटफार्म ट्रूपल डॉट कॉम द्वारा आयोजित “ट्रूपल प्रेजेंट्स ओपन माइक सीजन वन” का नाम भी शामिल हो चुका है. 28 सितम्बर को होने जा रहे इसके फाइनल मुकाबले में चुने गए प्रतिभागियों के बीच भी उत्साह जोरों पर है. सिंगिंग, डांसिग और पोएट्री जैसी विभिन्न कैटेगरी में प्रतिभागियों का चुनाव किया गया है. इस पूरे आयोजन में युवा कवियों की बेहतरीन रचनाओं को पंख देने के लिए निर्णायक की भूमिका, हिंदी साहित्य में बेमिसाल पकड़ रखने और कई बेहतरीन रचनाओं की धनि कवयित्री कनुप्रिया सत्तन तैलंग निभा रही हैं. जिनके मुताबिक ट्रूपल की इस पहल से कई गुमनाम प्रतिभाओं को उनकी मंजिल तक पहुंचने का रास्ता मिलेगा. मेरे दिल में उसके लिए कोई जज़्बात नहीं थे, क़िस्से कई हैं, हमारे मगर, कुछ ख़ास नहीं थे…जैसी बेजोड़ रचनाओं से कुछ दिलखुश रिश्तों के दर्द से श्रोताओं को जोड़ती कनुप्रिया को बचपन से ही साहित्य से लगाव है. युवा कवयित्रीयों में जाना माना नाम बन चुकी कनुप्रिया को ट्रूपल डॉट कॉम द्वारा आयोजित “ट्रूपल प्रेजेंट्स ओपन माइक” का ब्रांड एम्बेस्डर चुना गया है. जिसके माध्यम से युवा कवियों को एक प्रभावशाली मंच देने का काम किया जाएगा. साथ प्रतिभाशाली व्यक्तियों के मुंबई के रास्ते भी खोले जाएंगे.

इस मौके पर उन्होंने कहा कि, “ट्रूपल की यह पहल कई मायनों में सराहनीय है, जहाँ नए और छिपे हुए टैलेंट को दुनिया के सामने लाने का मौका मिल रहा है. मुझे ख़ुशी है कि मैं इस तरह के सामाजिक सरोकार से जुड़े इवेंट का हिस्सा बन सकी हूँ. साथ ही इस बात की प्रसन्नता भी है कि आगे आने वाले सालों में ट्रूपल ओपन माइक के माध्यम से कई हुनरमंद लोगों का चुनाव करने और उन्हें इंडस्ट्री में एक मुकाम दिलाने का मौका मिलगा.”

बता दें कि ट्रूपल डॉट कॉम द्वारा आयोजित इस ओपन माइक का मकसद नई प्रतिभाओं को मंच देना है जो कि अपने लक्ष्य की ओर सफलता से बढ़ रहा हैं. इस प्रतियोगिता का फाइनल 28 सितम्बर को कैफ़े भड़ास पर आयोजित किया जाएगा. जिसमें विजय होने वाले प्रतिभागी को ट्रूपल की तरफ से 50,000 रूपये की कीमत तक के उपहार दिए जाएंगे.

Share this on