Friday, December 15

ये हैं दुनिया के 10 अविश्‍वसनीय संयोग, यकीन नहीं कर पाएंगे आप

अक्सर आपने देखा होगा धरती पर कभी कभी ऐसी घटनाएँ घट जाती है, जो आप के दिमाग में कई तरह के सवाल पैदा कर देती है। कभी कभी आप कुछ ऐसा देखते या सुनते है, जो आपको चकित कर देता है और आप ये सोचने लगते है कि क्या दुनिया में ऐसा भी होता है? दुनिया में बहुत से संयोग बनते है। जिसकी संभावना हमे बिल्कुल भी नहीं होती है, लेकिन फिर भी वो संयोंग बन जाते है। जो आपके दिमाग में लाखो सवाल पैदा कर देते है। आज हम आपको दुनिया के ऐसे ही  10 अविश्वसनीय संयोग के बारे बातएगे जिसके  जानकर आप भी हैरान हो जाएँगे-

 

1. सबसे पहले आपको जिस घटना के बारे मे बताने जा रहे है, वो लगभग पुनर्मजन्म की तरह है। एनजो फेरारी जिन्होंने फेरारी कंपनी की स्थापना की और मेसुट ओज़ल जो जर्मन के फूटबोलर है। इन दोनो क चेहरा हुबहु मिलता है। ईतना हि नही एनजो फेरारी की मौत 1988 में हुई और लगभग एक महीने बाद ही मसट ओजल का जन्म हुआ था।

 

2. ऐसा तो हम सभी सुनते ही आ रहे है कि जो होता है, वो पहले से लिखा हुआ होता है। बस इसी तरह टाइटेनिक की कहानी है। सन् 1898 टाइटेनिक के डूबने के 14 साल पहले मॉर्गन रोबर्टसन नाम के एक लेखक ने एक किताब लिखी थी। जिसका नाम था फ्युटीलिटी इस किताब में एक जहाज की कहानी है। जो डूब जाती है और उस जहाज को टाइटन नाम दिया गया था। इतना ही नहीं बल्कि दोनों जहाज की तकनिकी विशेषता सामान थी और दोनों ही जहाज उत्तर अटलांटिक के एक बर्फ से टकरा गए थे। टाइटेनिक के डूबने के बाद इस किताब को फिर से प्रकाशित किया गया था, जिसका नाम द सिंकिंग ऑफ़ द टाइटन था।

 

3. तीसरा संयोग कुछ ऐसा है जो समय यात्रा के लिए बेहतरीन सबुत है। इस तस्वीर को देखिये ऐसा लगता है न कि ये दोनों जुड़वाँ बहने है। लेकिन आपको हम यह बता दे कि ऐसा नहीं है। ब्लैक एंड वाइट वाले तस्वीर में जुबेदा ठरवत है, जो एक ज़माने में बहुत ही महेंगी अभिनेत्री थी। वहीँ दूसरी तस्वीर में जेनिफ्फर लॉरेंस है, जो आज के समय में हॉलीवुड की सबसे महँगी अभिनेत्री है।

 

4. साल 2000 में सिम्पसंस ने एक भविष्यवाणी की थी। साल 2000 में उन्होंने डोनलड ट्रम्प के जिंदगी का पूर्व अनुमान लगाया था। जब सिम्पसंस के डिजाईनरो ने साल 2000 में यह चित्र बनाया था, जिसमे डोनलड ट्रम्प संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के राष्ट्रपति बनेंगे तो उस वक्त लोगो के लिए ये केवल एक मजाक था। लेकिन आगे चलकर ऐसा ही हुआ। ये तो आश्चर्य की बात है, लेकिन उससे भी बड़ी बात यह है कि सिम्पसंस ने जिस तरह से चुनाव अभियान को प्रस्तुत किया था ठीक उसी तरह डोनलड ट्रम्प ने अपने राष्ट्रपति पद की शुरुवात की।

 

5. दो पडोसी जो अलग-अलग सदी में रहते थे और संयोग से दुनिया के महान कलाकार थे। इस तस्वीर को देखिये इस तस्वीर में प्रसिद्ध संगीतकार जोर्ज हैंडल और ये प्रसिद्ध गिटारवादी जिमी हेंडीरिक्स है। जो दोनों पडोसी थे पर अलग-अलग समय में जब उन्होंने अपने संगीत के विकास में एक बड़ा प्रभाव डाला था।

 

6. हुवर डैम पर हुई एक दुखद घटना में जब हुवर डैम को बंधा गया था तो उस दौरान सबसे पहली मौत 20 दिसम्बर 1922 के दिन जोर्ज तिएरेने नाम के व्यक्ति की हुई और उसी डैम पर मारने वाला आखरी व्यक्ति पैट्रिक तिएरेने था। जो जोर्ज का बेटा था। इतना ही नही दोनों सैम डेट यानि वो भी 20 दिसम्बर के दिन ही मरा।

 

7. इसी तरह की एक और घटना बरमूडा में जुलाई 1975 को हुई। जिसमे 17 साल का एक लड़का जिसका नाम आरस्किन लॉरेंस था, जब वह सड़क पर साइकिल सवारी करते हुए जा रहा था। तो एक टैक्सी वाले की टक्कर से उसकी वही पर तुरंत  मौत हो गई। कुछ समय बाद उसका छोटा भाई वहीँ पर साइकिल सवारी करते हुए जा रहा था और उसी जगह पर टैक्सी वाले की टक्कर से उसकी भी मौत हो गई। संयोग की बात यह है कि उसकी भी उम्र 17 साल की थी और टैक्सी में बैठा ड्राइवर भी वही था। यानि एक ही जगह, एक ही टैक्सी और एक ही ड्राइवर था बस भाई दो थे।

यह भी पढ़े :-99% लोग नहीं जानते रोड पर बनी हुई इन सफ़ेद और पीली लाइन का मतलब, जानें क्‍या है इनका सही मतलब

8. दो अमेरिकी राष्ट्रपतियों लिंकन और केन्नेडी की आत्मकथाओ में अजीब संयोग है अम्ब्रह्म लिंकन और जॉन केन्नेडी दोनों की गोली मार कर हत्या की गयी। दोनों को एक ही जगह पर गोली लगी। दोनों के साथ उनकी पत्नी थी। लेकिन समय अलग-अलग था। चौकाने वाली बात यह है कि बील्ली ग्राहम का व्यक्ति दोनों का ही दोस्त था। जॉन केन्नेडी के सेक्रेटरी का नाम लिंकन था और लिंकन के सेक्रेटरी का नाम जॉन था और दोनों के उत्तराधिकारी का नाम भी एक ही जॉनसन था।

 

9. रोम शहर का नाम रोम्यूलस और रेमुस के राजा नाम से आया था। रोम्यूलस रोम का पहला राजा बना था और रोम के आखरी राजा का नाम रोम्यूलस अगस्तुलस था। यानि दुनिया के सबसे शक्तिशाली साम्राज्य रोम रोम्यूलस  नाम के राजा से शुरू हुआ और उसी नाम से खत्म भी हुआ।

 

10. पहले विश्व युद्ध के दौरान ब्रिटिश आर्मी का पहला सैनिक जिस जगह मरा था। उससे 6 मीटर की दुरी पर आर्मी का आखरी सैनिक मरा था उनके हेड स्टोन एक दुसरे के सामने है और इस व्यवस्था को किसी ने जान बुझकर नहीं किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: