जानें, आखिर सावन में क्‍यों पहनी जाती हैं हरी चूड़ियां व हरे रंग के कपड़े, छिपा है बेहद ही गहरा राज

सावन का महिना शुरू होने वाला हैं और सावन का महिना भगवान शिव को बहुत प्रिय हैं| इस महीने के आते ही तीज-त्योहार शुरू हो जाते हैं| सावन के महीने में चूड़ियों की बिक्री बढ़ जाती है। खासतौर से इस महीने में हरे रंग की चूड़ियों की मांग सबसे ज्यादा बढ़ जाती है। सावन के महीने में भगवान शिव की आराधना करना बहुत फलदायी होता हैं|

माना जाता हैं कि यदि कुवांरी लड़कियां इस महीने में शिव जी कि पुजा करे तो उन्हें मनचाहा वर मिलता हैं| स महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करना आसान होता हैं| सावन के महीने में महिलाएं हरी चूड़ियां तो पहनती हैं, लेकिन इसके पीछे छुपे महत्त्व व कारण को नहीं जानती हैं। परंतु क्या आपको पता हैं इसके पीछे छिपे महत्व व कारण का, यदि नहीं जानती तो आइए हम आपको बताते हैं|

यह भी पढ़ें :  100 साल बाद बना रहा है अद्भुत संयोग, इन राशियों का करवट लेगा भाग्य, मिलेगी खुशियां

आपकी जानकरी के लिए बताते चलें की सावन के महीने में सुहागन स्त्रियों के लिए कई सारे त्योहार आते हैं, जिसमें कजरी, तीज, हरियाली तीज इत्यादि शामिल हैं। इन त्योहारों में शुरुआत से ही हरे रंग के कपड़े व हरी चूड़ियां पहनने का रिवाज हैं| इसके अलावा यह भी देखा गया है की सावन का महीना प्रकृति के सौंदर्य का महीना होता है और अक्सर कर के महादेव को समर्पित इस माह में तकरीबन सभी सुहागिन महिलाएं मेहँदी लगाती हैं|

सावन के महीने में चारो ओर हरियाली फैली रहती हैं, जिसे देखकर आंखों को बहुत सुकून मिलता है। हरे रंग के कपड़े या चूड़िया पहनने से आपका बुध ग्रह मजबूत होता हैं| जिससे आपके जीवन में खुशहाली आती हैं| इसके साथ हरे रंग के कपड़े या चूड़िया पहनने से भगवान शिव व विष्णु प्रसन्न होते हैं| इसके साथ ही पति-पत्नी के बीच अच्छे संबंध कायम होते हैं|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on

Leave a Reply