टूथपेस्ट ट्यूब पर बने अलग अलग रंगों का जानें क्‍या है मतलब

हमारे शरीर में सारे अंग महत्वपूर्ण है और सभी का अलग अलग कार्य होता है हमारे शरीर को चलाने के लिए जरुरी होता है। आहार जो शारीर को शक्ति प्रदान करता है, आहार को ग्रहण करने के लिए एक अहम रोल होता है हमारे दांतों का। हम सभी सुबह उठते ही टूथब्रश पर टूथपेस्ट लेकर दांतों की सफाई करते है, जिसे हमारे दांत स्वस्थ रहे लेकिन क्या आपको पता है कुछ टूथपेस्ट हमारी दांतों को बहुत नुकसान पहुचाते है।

दांतों का पिला पड़ना, दर्द होना, कीड़े पड़ना इसका कारण आपका टूथपेस्ट हो सकता है, क्या आप ने कभी ध्यान दिया है। कभी कि आप जो टूथपेस्ट यूज़ कर रहे है, वो केमिकलो से मिलकर बना हुआ है या नेचुरल है या फिर दोनों का मिश्रण शायद आपको मालूम न हो आइये हम आपको बताते है। जिससे आप अपने टूथपेस्ट को पहचान सकेंगे की आपका टूथपेस्ट केमिकल से बना है या नेचुरल या फिर दोनों का मिक्सचर है।

सारे टूथपेस्टो पर एक ऐसा मार्क बना होता है जिससे आप पता लगा सकते है कि आखिर आपका टूथपेस्ट केमिकल फ्री है या फुल केमिकल या दोनों का मिक्सचर। अक्सर आप अपने टूथपेस्ट की ट्यूब के निचे की ओर देखा होगा एक मार्क होती है, जिसके बारे में लोगो को अक्सर पता नही होता है, इन मार्क को आई मार्क कहते है जिसके बारे में कंपनीयां भी नही बताती है।

हम लोग मार्केट में टूथपेस्ट लेने जाते है, तो कोई मार्क को न देखकर केवल उसके ब्रांड के नाम से खरिदते है। मार्क से कोई लेना देना नहीं होता है। आई मार्क मुख्य रूप से ब्लैक, ब्लू, रेड और ग्रीन कलर्स की होती है, सारे कलर एक सिंबल के तौर पर यूज़ किया जाता है। जिनका मतलब कुछ इस प्रकार है:

ब्लैक – ओनली केमिकल्स केमिकल

ब्लू – नेचुरल और मेडिसिन

रेड – नेचुरल और केमिकल्स

ग्रीन– ओनली नेचुरल

कुछ केमिकल्स ऐसे हैं जो अधिकतर टूथपेस्ट बनाने वाली कंपनियां यूज़ करती हैं जैसे

– पोटेशियम नाइट्रेट
– सोडियम मोनो फ्लोरो फॉस्फेट
-सोडियम क्लोराइड
-सॉराबिटॉल पोटेशियम क्लोराइड
-स्ट्रॉन्शियम क्लोराइड
-ट्रायक्लोसम
-कैल्शियम
-सोडियम
-फ्लोरो सिलिकेट
-स्टेनस फ्लोराइड
-मैन्थॉल

ये बहुत छोटे मॉलीक्यूल्स तैयार करते हैं, जो मुंह में मौजूद टिश्यूज की मदद से ब्लड में चले जाते हैं। जिनकी वजह से लीवर, किडनी, हार्ट, लंग्स और टिश्यूज पर अपना असर डालते है। कई नामी टूथपेस्ट और माउथवॉश ब्रांड में ये हार्मफुल इंग्रीडिएंट्स पाए जाते हैं, जिनमे कई डेंजरस टॉक्सिंस पाये जाते हैं।

यह भी पढ़ें : विक्स के ये हैरान कर देने वाले फायदे नहीं जानते होंगे आप, आइए जानते हैं

टूथपेस्ट में मुख्य रूप से सोडियम फ्लोराइड प्रयोग किया जाता है। जो असल में चूहे और कॉकरोच को मारने के लिए पॉयजन का काम करती है। इसकी मात्र टूथपेस्ट में बहुत कम मिलाई जाती है। टूथपेस्ट और माउथवॉश में इसका यूज कैविटी को मारने के लिए किया जाता है। कई लोगों को इस केमिकल के कारण वॉमेटिंग, डायरिया, एपिगेस्टिक पेन की समस्या हो जाती है और इसकी ज्यादा मात्रा होने पर पैरेलाइसिस, मसकुलर वीकनेस, रेस्प्रेट्री और कार्डिक प्रॉब्लम्स, नशा के साथ एलर्जी, कैंसर और डेथ तक का कारण जाती है।

Share this on

Leave a Reply