Saturday, February 24

आज रात से शुरू हो रहा है मृत्यु पंचक, भूलकर भी ना करें ये काम

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ग्रहों और नक्षत्र के अनुसार ही किसी कार्य को करने या न करने के लिये समय तय किया जाता है जिसे हम शुभ या अशुभ मुहूर्त कहते हैं। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार मान्यता है कि शुभ मुहूर्त में आरंभ होने वाले कार्यों के परिणाम मंगलकारी होते हैं जबकि शुभ मुहूर्त को अनदेखा करने पर कार्य में बाधाएं आ सकती हैं और उसके परिणाम अपेक्षाकृत तो मिलते नहीं बल्कि कई बार बड़ी क्षति होने का खतरा भी रहता है।

कब होता है पंचक

जब चंद्रमा कुंभ और मीन राशि से होकर गुजरता है तो यह समय अशुभ माना जाता है इसी  दौरान चंद्रमा धनिष्ठा से लेकर शतभिषा, पूर्वा भाद्रपद, उत्तरा भाद्रपद एवं रेवती से होते हुए गुजरता है इसमें नक्षत्रों की संख्या पांच होती है इस कारण इन्हें पंचक कहा जाता है।
ज्योतिष गड़ना के अनुसार इस बार पंचक शनिवार की रात 10:02 से शुरू होकर 30 नवम्बर गुरुवार की दोपहर 12:40 तक रहेगा और क्योंकि इस बार पंचक शनिवार को शुरू हो रहा है और शनिवार से शुरू हुआ पंचक और भी खतरनाक हो सकता है इसीलिए इसे मृत्यु पंचक भी कहा जाता है।

मृत्यु पंचक के दौरान कुछ कार्य ऐसे हैं जिन्हे विशेष रुप से करने की मनाही होती है और वो सभी कार्य हम आपको बताने जा रहे है। सबसे पहला काम यदि आप किसी यात्रा पे जाने की सोच रहे है तो इस बात का ध्यान अवश्य रखे की कभी भी दक्षिण दिशा में यात्रा न करें, क्योंकि दक्षिण दिशा को यम की दिशा मानी जाती है इसीलिए इस दिशा में यात्रा करना बहुत ही हानिकारक माना गया है। पंचक के दौरान आप अपने घर में पलंग या चारपाई ना बनवाएं क्योंकि ऐसा करने से घर में कोई अनहोनी होने का डर रहता है।

यह भी पढ़ें : आइए जानते हैं शनि देव को प्रसन्न करने के सरल और अचूक उपाय

यदि पंचक के दौरान रेवती नक्षत्र हो और घर की घाट बनाना बाकि हो तो उसे नहीं बनाना चाहिए, ऐसा विद्वानों का कहना है, क्योंकि इससे घर में धन का नुकसान होता है। पंचक के दौरान जिस समय घनिष्ठा नक्षत्र हो उस समय किसी भी प्रकार की ऐसी वास्तु जैसे घास, लकड़ी इत्यादि जलने वाली वस्तुएं इकठ्ठा नहीं करनी चाहिए। पंचक के दौरान शव के अंतिम संस्कार करने से पहले किसी ज्ञानी पंडित से सलाह जरूर लेनी चाहिए। ये सारी जानकारी धार्मिक आस्था और लौकिक मान्यताओ से जुड़ी है जिसे मात्र आपके जानकारी के लिया प्रदर्शित किया गया है।

Share this on

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *