बड़ी खबर: एक बार फिर से शोक में डूबी पूरी फ़िल्मी इंडस्ट्री, इस मशहूर एक्‍ट्रेस के पिता का हुआ निधन

अभी नया शुरू हुए दस दिन भी नहीं हुए है तभी से बॉलीवुड में एक के बाद एक बुरी खबर का सिलसिला चलता ही जा रहा है। आपको याद होगा बीते दिन नए साल के शुरुआत होते ही 1 जनवरी को ही शाम में बॉलीवुड में उस समय शोक छा गया जब पता चला कि मशहूर एक्टर निखिल द्वेदी के पिता का निधन हो गया है आपको बता दे की निखिल ने बॉलीवुड में अपनी शुरुआत साल 2008 में की थी और अब उनके पिता की मौत से सभी लोग सदमें में हैं।

इसके बाद अभी ज्यादातर लोग तो इस गम से उबरे भी नहीं थे की अचानक बुधवार की शाम एक और बुरी खबर सुनने को मिली जिसमे छोटे पर्दे की एक मशहूर अभिनेत्री रतन राजपूत के पिता का निधन हो गया है जिससे एक बार फिर से पूरे बॉलीवुड जगत में मातम छा गया है।

 

देखा जाये तो पिछले साल से ही बॉलीवुड में मौत का सिलसिला जारी है और जो अभी तक थम नहीं रहा है जिसमे बड़े एक्टर शशि कपूर से लेकर डायरेक्टर नीरज वोरा तक सभी ने हमारा साथ छोड़ दिया था और अब ये एक और शख्श की मौत की खबर ने सबको ही सदमे में डाल के रख दिया है।

दरअसल हाल ही में रतन राजपूत के पापा राम रतन सिंह की मौत की वजह यही बताई जा रही है कि, रतन के पिता लंबे टाइम के बीमार थे और बुधवार की रात को उनका देहांत हो गया। गुरूवार को उनका अंतिम संस्कार गोरेगांव स्थित शिवधाम विश्रामघाट में किया गया।

आपको बता दे की छोटे पर्दे का सबसे चर्चित शो “अगले जन्म मोहे बिटिया ही कीजो” साल 2009 में टेलिकास्ट में हुआ था। जिसमें लाली का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस ही है रतन राजपूत जिन्हें आज हर कोई जनता है, लेकिन रतन राजपूत के फैन्स के लिये बहुत ही दुःख की खबर है।

 

 

रतन राजपूत का जन्म 20 अप्रैल 1987 को बिहरा के बशिनपुर बेरी गांव में हुआ था और इनकी चार बहनें है और एक भाई शशांक हैं। सुनीता, किरण, सीमा, रागिनी उनसे बड़ी हैं। आपको बता दें रतन ने मेरठ से पढ़ाई की और बाद में दिल्ली में फैशन डिज़ाइनर का कोर्स किया है। उनके पिता श्रीरामरतन सिंह राज्य सरकार में ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद से रिटायर हो चुके थे।

फिलहाल उनकी फैमिली पटना में स्थित एक अपार्टमेंट में रहती है। रतन के पिता लम्बे समय से बीमार थे जिसके कारण उनका दिहांत हो गया और उनका पूरा परिवार शोक में डूबा हुआ है। हम सभी भगवान से यही प्रार्थना करेंगे की भगवान रतन के पिता की आत्मा को शांति दे और उनके पूरे परिवार इस गम से बाहर आने के लिए शक्ति दे।

Share this on

Leave a Reply