मौत को दावत देती हैं ये 4 दवाइयां, विदेशों में है बैन लेकिन भारत में हर कोई इसे खाता है

हमारे शरीर में थोड़ी सा भी दर्द होता हैं की हम दर्द की दवाइयाँ बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी मेडिकल से लाकर खा लेते हैं| ऐसे में कुछ दवाइयाँ ऐसी भी मेडिकल स्टोर पर मिलती हैं जो की विदेशो में तो बैन हैं लेकिन हमारे भारत में हर कोई उस दवा का सेवन करता हैं और ये दवाइयाँ यहाँ कानूनी तौर पर बेची जा रही हैं|

आज हम आपको कुछ ऐसी दवाईयों के बारे में बताने जा रहे हैं जो विदेशों में तो बैन है लेकिन हम भारतीय लोग उसका सेवन कर अपने जीवन को खतरे में डाल रहें हैं| दरअसल इन दवाइयों के सेवन से कई तरह की बीमारी और भी लग सकती हैं| इसलिए इन दवाइयों को विदेशो में बैन कर दिया गया हैं| लेकिन हमारे देश में आज भी लोग इन दवाइयों का सेवन बड़े चाव से करते हैं| जैसे मानो उनको अपने जिंदगी की कोई फिक्र ही नहीं हैं|

यह भी पढ़ें : इस आसान व घरेलू उपाय को अपनाकर घर बैठे करें प्रेग्नेंसी टेस्ट

(1) डिस्प्रिन

डिस्प्रिन एक दर्द निवारक दवा हैं, जो विदेशों में बैन हैं| दरअसल ये दर्द निवारक दवा विदेशों के मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं|

(2) डीकोल्ड

डीकोल्ड कोल्ड और फ्लू ठीक करने वाली गोली हैं| यह दवा आपको किडनी से संबन्धित बीमारियां दे सकती है। इसलिए इसे विदेशों में बैन किया गया है।

(3) विक्स

विक्स को यूरोपियन देशों में बैन किया गया है क्योंकि उनका मानना है कि विक्स स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक होता है। लेकिन हमरे यहाँ हर मेडिकल स्टोर और जनरल स्टोर पर उपलब्ध है।

(4) निमुस्‍लाइड

निमुलिड भी एक दर्द निवारक दवा है| यह दवा अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया जैसे कईं देशों में बैन है क्योंकि यह दवा लीवर के लिये बहुत घातक होती है। लेकिन हम भारतीय इस दवा का इस्तेमाल करते हैं|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on