Sunday, February 18

Tag: womens

इन महिलाओं को शादीशुदा होने के बाद भी माना जाता है कुंवारी, जानें क्‍या है इसके पीछे का कारण

इन महिलाओं को शादीशुदा होने के बाद भी माना जाता है कुंवारी, जानें क्‍या है इसके पीछे का कारण

Interesting, Religion
हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है की किसी लड़की की शादी एक बार हो जाए तो उसे कुंवारी नहीं कहा जाता है| लेकिन हमारे पुराणों में कुछ ऐसी महिलाओं का  भी जिक्र किया गया है, जिन्हें शादीशुदा होने के बावजूद कुंवारी माना गया है। अब आप यह सोच रहे होंगे कि जब एक बार शादी हो गई तो महिला कुंवारी कैसे मानी जाएगी? आपका सोचना बिल्कुल सही है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही महिलाओं के बारे में में जो शादीशुदा होने के बाद भी कुंवारी मानी जाती हैं। अहिल्या अहिल्या जो की गौतम ऋषि की पत्नी थी |एक दिन जब गौतम ऋषि सुबह स्नान और पूजन के लिए घर से बाहर गए उसी वक्त इंद्रदेव  उनके रूप में उनके आश्रम में आ गये और इंद्र ने अहिल्या के साथ संबंध बनाए और उसी दौरान ऋषि गौतम भी आश्रम  लौट आए। और अहिल्या को इस रूप में देखकर वह क्रोधित हुए और उन्होंने अहिल्या को पत्थर बनने का श्राप  दे दिया |अहिल्या ने तब  अपने
जानें, ज्‍यादातर पुरूषों को संबंध बनाने के बाद क्यों आ जाती है नींद

जानें, ज्‍यादातर पुरूषों को संबंध बनाने के बाद क्यों आ जाती है नींद

Health & Fitness, Lifestyle
एक शादीशुदा जिंदगी में एक जो सबसे अहम बात रहती है, जो रिश्ते को जीवन भर बनाये रखती है वो विश्वास है। किसी भी रिश्ते की शुरुवात इसी के बदौलत होती है और इन रिश्तो में एक सबसे बड़ा रिश्ता होता है, पति और पत्नी का जिसकी नीव विश्वास पर ही टिकी होती है। हम सभी के जीवन में यह एक सबसे अहम रिश्ता होता है। जिसमे एक दुसरे को समझना काफी मायने रखता है। पुरुष और स्त्री में प्यार का होना पति और पत्नी के सम्बन्ध में और मधुरता ला देता है। जिससे उनका जीवन खुशियों से भर जाता है। लेकिन स्त्री और पुरुष के बिच में विश्वास और प्यार के साथ ही साथ एक दुसरे से सम्बन्ध होना काफी आवश्यक होता है। पुरुष और स्त्री दोनो के लिए आपसी संभोग काफी आवश्यक होता है क्योंकि यह जीवन की एक क्रिया है जिसके बिना स्त्री और पुरुष दोनों ही अधूरे है। स्त्री हो या पुरुष दोनों के ही अंदर सेक्स हॉर्मोन होते हैं। जिसके कारण यह आप में संबंध
तो इस वजह से महिलाएं नहीं फोड़ती नारियल, जानें क्‍या है कारण

तो इस वजह से महिलाएं नहीं फोड़ती नारियल, जानें क्‍या है कारण

Lifestyle, Religion
भारतीय वैदिक परंपरा अनुसार श्रीफल शुभ, समृद्धि, सम्मान, उन्नति और सौभाग्य का सूचक माना जाता है। किसी को सम्मान देने के लिए उनी शॉल के साथ श्रीफल भी भेंट किया जाता है। भारतीय सामाजिक रीति-रिवाजों में भी शुभ शगुन के तौर पर श्रीफल भेंट करने की परंपरा युगों से चली आ रही है। विवाह की सुनिश्चित करने हेतु अर्थात तिलक के समय श्रीफल भेंट किया जाता है। बिदाई के समय नारियल व धनराशि भेंट की जाती है। यहां तक की अंतिम संस्कार के समय भी चिता के साथ नारियल जलाए जाते हैं। वैदिक अनुष्ठानों में कर्मकांड में सूखे नारियल को वेदी में हूम किया जाता है। प्राचीन समय से ही नारियल से संबंधित कई प्रकार की परंपराएं प्रचलित हैं।इन्ही परंपराओं में से एक अनिवार्य परंपरा यह है कि हिन्दू धर्म में स्त्रियां नारियल नहीं फोड़ती हैं। आमतौर पर स्त्रियों द्वारा नारियल फोड़ने को अपशकुन माना जाता है।इसीलिए घर के बुजुर्ग और
आखिर क्‍यों कुवारे लड़कों को लड़कियों की जगह पसंद आती है आंटी और भाभियां

आखिर क्‍यों कुवारे लड़कों को लड़कियों की जगह पसंद आती है आंटी और भाभियां

Interesting, Lifestyle
कभी न कभी जिंदगी का एक ऐसा पड़ाव आता है जब हम सभी को किसी न किसी से प्यार हो ही जाता है फिर क्या उम्र, क्या रंग, क्या रूप कुछ भी जरुरी नही दिखता है। वो कहते है ना प्यार अँधा होता है और बस हो ही जाता है। अगर आप ध्यान दे तो देखेंगे की अधिकतर लडके खुद से बड़ी उम्र की लड़कियां से प्यार कर बैठते है। जिसका कई उदाहरण आपको बॉलीवुड में मिल जाएगा या आपके आस-पास भी कई ऐसी जोड़ियां मिल जाएंगी जिनकी वाईफ, उनसे उम्र में काफी बड़ी है। तो आइये जानते है कि हमारे यहाँ रिश्ते के मामले में लड़कियां हमेशा छोटी होने की परम्परा रही है तो आखिर क्यों लड़के अपने से बड़ी लड़कियों की तरफ ही आकर्षित होते हैं। आर्थिक रूप से सक्षम होती हैं बड़ी उम्र की लड़कियों से इसलिए लड़के प्यार बैठते है क्योंकिवो ज़्यादातर आर्थिक रूप से सक्षम होने के साथ साथ उनको इंडिपेंडेंट भी बनाती हैं और पैसों के महत्व को समझती है जो लड़