Sunday, January 21

Tag: thursday

गुरुवार के दिन करें ये अचूक उपाय,धन वर्ष के साथ शादी के भी बनेंगे योग

गुरुवार के दिन करें ये अचूक उपाय,धन वर्ष के साथ शादी के भी बनेंगे योग

News, Religion
जिस प्रकार से हिंदू धर्म में हर दिन का अपना अपना महत्व है और हर दिन किसी ना किसी  विशिष्ट देवता को समर्पित किया गया है ठीक उसी तरह से  तरह से गुरुवार का दिन  भगवान् विष्णु या बृहस्पति  भगवन को  समर्पित किया गया है l हमारे सौरमंडल में अगर सूर्य बाद किसी किसी ग्रह की निष्ठावान स्थिति है तो वो है  बृहस्पति या जुपिटर इसीलिए इसे पुरे सौरमंडल में एक महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है ।इस  ब्राह्मण में गुरु को भगवान से भी श्रेष्ठ स्थान दिया गया है  और इसीलिए  हिन्दू धर्म के अनुसार धन प्राप्ति के लिए गुरुवार का दिन सबसे शुभ माना जाता है। गुरूवार के दिन को सच्चे मन से की  जाने वाली पूजा से भक्तो को अच्छा स्वास्थ्य, धन, सफलता और अच्छे जीवनसाथी का लाभ प्राप्त होता है। यदि आपके कोई भी प्रयास प्रतिफल नही दे रहे है तो आपको निश्चित रूप से इस दिन पूजा करनी चाहिए l क्योंकि गुरुवार के  दिन प्रार्थना करना 
जानिए, गुरुवार का महत्व और इस दिन क्या करना रहेगा शुभ और अशुभ

जानिए, गुरुवार का महत्व और इस दिन क्या करना रहेगा शुभ और अशुभ

News, Religion
गुरुवार लक्ष्मी नारायण का दिन होता है, इस दिन लक्ष्मी और नारायण का एक साथ पूजन जीवन में खुशियों की अपार वृद्धि कराने वाला होता है। इस दिन लक्ष्मी और नारायण की एक साथ पूजन करने से पति-पत्नी के बीच कभी दूरिया नहीं आती है। साथ ही धन की वृद्धि होती है। गुरुवार का दिन धर्म का दिन होता है और  ब्रह्मांड में स्थित नौ ग्रहों में से गुरु वजन में सबसे भारी ग्रह है। गुरु धर्म व शिक्षा का कारक ग्रह है। गुरु ग्रह को कमजोर करने से शिक्षा में असफलता मिलती है। साथ ही धार्मिक कार्यों में झुकाव कम होता चला जाता है। शास्त्रों के अनुसार गुरुवार की रात का जो समय होता है वो इन्द्र पत्नी रति को समर्पित है और रति का उद्गमन रात्रि शब्द से हुआ है और इस चराचर जगत में देवी महालक्ष्मी को रात की देवी कहा गया है इसीलिए अगर गुरूवार को रात में कुछ काम किए जाते हैं तो उन कार्यों को करने से माता लक्ष्मी रुष्ट  हो जाती
गुरूवार के दिन करें ये उपाय मां लक्ष्‍मी बरसाएंगी इतना पैसा कि संभाल नहीं पाएंगे आप

गुरूवार के दिन करें ये उपाय मां लक्ष्‍मी बरसाएंगी इतना पैसा कि संभाल नहीं पाएंगे आप

News, Religion
हिन्दू धर्म में प्रत्येक भगवान् को प्रसन्न करने के लिए और उनके पूजन के लिए विशेष  दिन निर्धारित किये गये है और  हफ्ते में पूरे 7 दिन होते हैं और इन सातों  दिन का अपना अलग अलग महत्‍व होता है। इन्ही दिनों में से एक दिन होता है ब्रिहस्पतिवार का दिन अर्थात गुरुवार और शास्त्रों के अनुसार इस दिन को बड़ा ही शुभ माना जाता है और भी इस दिन भगवान विष्णु की पूजा का काफी महत्‍व बताया गया है। देवी देवताओं में भी भगवान विष्णु को सबसे सर्वश्रेष्‍ठ माना जाता है और यह भी मान्यता है कि जीवन में आने वाली सभी समस्याओं का समाधान केवल विष्णु भगवान ही कर सकते हैं। गुरुवार के दिन श्री हरि विष्णुजी की पूजा का विधान है इसीलिए गुरुवार का व्रत बड़ा ही फलदायी माना जाता है। कई लोग बृहस्पतिदेव और केले के पेड़ की भी पूजा करते हैं। बृहस्पतिदेव को बुद्धि का कारक माना जाता है  गुरुवार के दिन भगवान व
आज है वृश्चिक संक्रांति, अगर छात्र करेंगे ये उपाय तो हर परीक्षा में मिलेगी सफलता

आज है वृश्चिक संक्रांति, अगर छात्र करेंगे ये उपाय तो हर परीक्षा में मिलेगी सफलता

Religion
अगर आप सफलता पाने चाहते है और अपने कैरियर को सवारना चाहते है। तो गुरुवार को मार्गशीर्ष कृष्ण त्रियोदशी तिथि पर सूर्यदेव के वृश्चिक राशि में आगमन पर वृश्चिक संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। जो छात्रो के लिए अत्यंत शुभ माना गया है। ज्योतिषानुसार सूर्यदेव एक माह में राशि परिवर्तन करते हैं। जब सूर्यदेव किसी राशि में प्रवेश करते हैं, तो उस काल को संक्रांति कहते हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार मार्गशीर्ष माह में जब सूर्य राशि परिवर्तन करते हैं तो उस संक्रांति को वृश्चिक संक्रांति कहते हैं। इस संक्रांति में सूर्य तुला से वृश्चिक राशि में प्रवेश करते हैं। भारतीय पंचांग के अनुसार सूर्यदेव तुला राशि से वृश्चिक राशि में गुरुवार को दोपहर 12:36 पर प्रवेश करेंगे। यह संक्रांति गुरुवार पर पड़ने के कारण देव संक्रांति कहलाएगी जो आज है। वृश्चिक संक्रांति से धार्मिक व्यक्तियों, वित्तीय कर्मचारियों, छात्रों व