Friday, January 19

Tag: religion

28 जनवरी को होने वाला है सबसे बड़ा राशि परिवर्तन, इन राशि वाले जातकों के जीवन में आएगा भूचाल

28 जनवरी को होने वाला है सबसे बड़ा राशि परिवर्तन, इन राशि वाले जातकों के जीवन में आएगा भूचाल

Interesting, Religion
हमारे जीवन में कभी भी परिस्थितियां सामान्य नहीं होती है, कभी हमें सुख तो कभी दुःख का सामना करना पड़ता है। हमारे जीवन में यह छोटे-बड़े बदलाव ज्योतिष के अनुसार ग्रहों की दशा व उनके बदलाव के कारण होते है, जो हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव डालते ही और साथ ही साथ इन ग्रहों का प्रभाव प्रकृति पर भी काफी पड़ता है। कभी कभी यह ग्रह एक ही राशि में एक से ज्यदा प्रवेश कर जाते हैं, जिसके कारण अलग-अलग ग्रहों से जुड़ी समस्या समस्त राशि के जातको को प्रभावित करती हैं। इस महीने में भी कुछ ऐसा ही दिख रहा है, जिसके चलते कई राशि के जातको को काफी संकट का सामना करना पड़ेगा। ग्रहों के इन बदलाव के चलते जहाँ कुछ राशियों के जातक संकट में रहेंगे तो वहीँ कुछ राशियों के जातक के लिए यह बदलाव काफी शुभ साबित होगा। लेकिन इन राशियों में पांच ऐसी विशेष राशियां है जिनके ऊपर भरी संकट आने के संकेत मिल रहे है। तो चलिए आज हम आपको यह बता
भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

News, Religion
हिन्दू शास्त्रों के अनुसार ऐसे कई काम है, जो शाम के समय में करना बहुत अशुभ माना गया है तथा  यदि आप इन कार्यो को शाम के समय करे तो इस कारण आपको धन हानि व आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। विशेषतः ये 6 कार्य जिन्हे शाम के समय आपको भुलकर भी नहीं करना चाहिए और इन 6 कार्यों को जो भी व्यक्ति करता है, उसे न केवल आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ता है बल्कि शारीरिक परेशानीयों का भी सामना करना पड़ता है। तो चलिए आपको बताते है वो 6 कार्य कौन कौन से है। हिन्दू धर्म के अनुसार दिन ढलने के बाद यानि शाम के समय में कभी भी तुलसी के पौधे को ना तो छूना चाहिए और ना ही उसमे जल चढ़ाना चाहिए। ऐसा करना हमारे शास्त्रों में अशुभ माना गया है। यह भी पढ़े : जानेें, आपको राशी के अनुसार कौन से भगवान की करनी चाहिए पूजा शाम के समय जब सूरज ढल जाए तो उसके बाद घर में कभी भी झाड़ू नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से घर की लक्ष्
सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय हमेशा इन बातों का रखें ध्‍यान, वरना अधूरी रह जाएगी पूजा

सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय हमेशा इन बातों का रखें ध्‍यान, वरना अधूरी रह जाएगी पूजा

Religion
हमारे हिन्दू धर्म में सूर्य को देवता माना जाता है और साथ ही प्रातः उठते ही भगवान सूर्यदेव को जल भी अर्पित किया जाता है, जो हमारे देश में कई लोग करते हैं। रोजाना सुबह उठकर स्नान करने के पश्चात सूर्यदेव को अर्घ्य देना बहुत ही शुभ माना गया है। इसके महत्व और विधि का पूरा व्याख्यान हमारे सनातन धर्म में बताया गया है। शास्त्रों कि माने तो यदि हम प्रतिदिन सूर्यदेव को पुरे विधि द्वारा जल अर्पित करे तो इससे हमें समाज में मान, सम्मान और प्रतिष्ठा मिलती है। सूर्यदेव को अर्घ्य देने से हमारा मन और मस्तिष्क दोनों ही शांत रहता है, जिससे हमारे सारे काम सुग्मता पूर्वक होते है लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जो सूर्य देव को जल अर्पण करते समय कुछ आवश्यक बातो पर ध्यान नहीं देते, जिसे जानना काफी महत्व पूर्ण है। तो चलिए आपको आज हम आपको बताते है कि आखिर हमें भगवान सूर्यदेव को जल कैसे अर्पित करना चाहिए और साथ ही किन-कि
इस नए साल में आजमाते हैं ये 5 असरदार टोटके, तो लड़की, नौकरी, पैसा सब कुछ मिलेगा

इस नए साल में आजमाते हैं ये 5 असरदार टोटके, तो लड़की, नौकरी, पैसा सब कुछ मिलेगा

Religion
जिसका हम सभी को बेसबरी से इंतजार था, वो अब आ चुका है यानि हम सभी अब सन् 2018 में प्रवेश कर चुके हैं। हर बार की तरह इस बार भी हम लोगों ने इस नये साल से कई उम्मीदे लगा रखी है और यह भी मान रखा है कि यह नया साल एक नई किरण लेकर आ आया हैं। पिछले साल कई लोगो के लिए प्यार, नौकरी, बिजनेस और पैसे कि दृष्टि से ठीक नहीं गया। जहाँ उन्हें सफलता मिलनी चाहिए थी, वहां सफलता नहीं मिली। ऐसे में वो सभी उम्मीद लगा रखे है कि यह साल उनके जीवन में ख़ुशीयां भर दे। आपकी इसी उम्मीद को हकीकत में बदलने के लिए आज हम आपके लिए 5 ऐसे टोटके लेकर आए हैं, जिन्हें करने से आपकी सारी समस्याओं का हल निकल जाएगा। 1. जीवनसाथी के लिए:  जो लोग अच्छा गुणी जीवन साथी चाहते है, तो ऐसे लोग अच्छा जीवनसाथी पाने के लिए यह टोटका जरुर अपनाएं। इस टोटके में आपको हर सोमवार के दिन शिवजी का दूध और शहद से अभिषेक करना है और शिव जी को आम के प
600 साल बाद खुश हुए हैं राहु-केतु, इन 5 राशि वालों को इस साल करेंगे मालामाल

600 साल बाद खुश हुए हैं राहु-केतु, इन 5 राशि वालों को इस साल करेंगे मालामाल

Religion
साल 2018 में अब हम सभी प्रवेश कर चुके है, जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार था वो पल अब आ चुका है। साल 2017 के ख़त्म होते ही राहु और केतु खुश हो चुके हैं, जो कि ऐसा योग 600 साल बाद बना है। अक्सर राहु और केतु को लोग सही ग्रह नहीं मानते है उन्हें अशुभ ग्रहो में से एक माना जाता हैं लेकिन इस बार साल 2017 के खत्म होते ही राहु केतु 5 राशियों पर काफी मेहरबान है। ज्योतिष की माने तो 2018  में राहु और केतु 5 राशियों पर काफी मेहरबान है। वैसे अगर देखा जाए तो राहु व केतु को खुश करने के लिए लोग बहुत से उपाय करते हैं लेकिन इस बार खुद इतने साल बाद राहु और केतु 5 राशियों पर मेहरबान हुए हैं। तो चलिए आपको बताते हैं वो कौन कौन सी राशि है। मकर प्रथम राशि मकर है, इस राशि पर राहु-केतु की कृपा होगी। इन राशि के जातकों का आत्मविश्वास शिखर पर रहेगा। इस राशि के लोग काफी सकारात्मक महसूस करेंगे और अपने आस-पास के
ये 6 तरह के पत्थर हैंं बेहद खास, खोलकर रख देंगे आपके सारे छिपे राज

ये 6 तरह के पत्थर हैंं बेहद खास, खोलकर रख देंगे आपके सारे छिपे राज

Interesting, Religion
हमारे ज्योतिष में कई ऐसे पत्थरों अथवा रत्नों के बारें में बताया गया हैं, जो हमारे बुरे वक्त को समाप्त कर देते है। ज्योतिष के अनुसार यह पत्थर या रत्न हमारें कुंडली के ग्रहों को काफी ज्यादा प्रभावित करते है, जिसे धारण करने से उस ग्रह का बुरा प्रभाव काफी कम हो जाता है। ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे पत्थरों के बारे में बताएँगे जिन्हें यदि आप धारण करें तो यह आपके कई परेशानियों को दूर कर सकती है और ये पत्थर आपके जीवन के कई राज को भी सुलझा सकती है। यदि आप काफी लम्बे समय से किसी चिंता से जूझ रहे है तो इन पत्थरों का चुनाव करके आप इन समस्याओं का कारण जान सकते है। तो चलिए आपको बताते है आपको उन पत्थरों के बारे में। पहला पत्थर   यदि आपने पहले पत्थर का चुनाव किया है, जो आपको काफी आकर्षित कर रहा है तो हम पहले आपको इस पत्थर के बारे में बता देते है इस पत्थर का नाम ऑफ़लाइट पत्थर है। यह पत्थर यदि
नए साल पर 3 जनवरी को बन रहा है जबरदस्त संयोग, इन 2 राशियों की बदलेगी किस्मत

नए साल पर 3 जनवरी को बन रहा है जबरदस्त संयोग, इन 2 राशियों की बदलेगी किस्मत

Religion
अब हम सभी नये वर्ष में जल्द ही प्रवेश करने वाले है और साल 2017 अब अपने चरम सीमा पर पहुँच चुका है। जहाँ यह साल बहुत सारे लोगो के लिए बहुत ही हर्षो-उल्लास से भरा रहा तो वहीँ कई लोगो का यह वर्ष केवल दुर्भाग्यपूर्ण और बुरी किस्मत की वजह से असफलता का कारण बना। देखा जाए तो हम सभी के जीवन में सुख और दुःख का उतार व चढाव आता ही रहता हैं लेकिन हर व्यक्ति के जीवन में वो ख़ास लम्हे आते ही है, जब उसकी किस्मत उस व्यक्ति का पूरा-पूरा साथ देती है, जिसे कुछ लोग गोल्डन टाइम भी कह कर बुलाते हैं। यह वह लम्हा होता है, जब किसी व्यक्ति की किस्मत पूरी तरह उसके पक्ष में रहती है और उसके जीवन के हर सही गलत फैसले में उसका पूरा पूरा साथ देती है। उस व्यक्ति की किस्मत इतनी प्रबल हो जाती हैं कि वो जिस काम को हाथ लगता हैं वो सभी कार्य बिना किसी अड़चन के सफलता पूर्वक पूरा हो जाता हैं। इस समय का सीधा कनेक्शन आपकी राशि और ग
शादी के बाद महिलाओं का बिछिया पहनने का क्‍या है कारण, जानकर बाग-बाग हो जाएगा आपका दिल

शादी के बाद महिलाओं का बिछिया पहनने का क्‍या है कारण, जानकर बाग-बाग हो जाएगा आपका दिल

Lifestyle, Religion
सामाजिक मान्‍यताओं के अनुसार शादी के बाद प्रत्येक महिला को बिछिया पहननी चाहिए। इसे पहनना शुभ माना जाता है। आमतौर पर बिछिया चांदी की होती है। शादीशुदा महिलाओ के बीच सोलह श्रृंगार का विशेष महत्‍व है शास्त्रों के अनुसार ऐसा माना गया हैं और इन सोलह श्रृंगारों में 15 वें पायदान पर पैर की अंगुलियों में बिछिया पहने का रिवाज है। बिछिया हर महिला के शादीशुदा होने की निशानी है और साथ ही यह महिलाओं के सोलह श्रृंगार में से एक है। शादी के सात फेरों के बाद महिला को पैरों की उंगलियों में बिछिया पहनाई जाती है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि इसके वास्‍तविक पीछे कारण क्या है? शादी के बाद महिला बिछिया तब तक पहनती है, जब तक उसका पति जीवित रहता है। यह उन श्रृंगार में से एक है, जिसे शादी के बाद ही किया जाता है। महिलाओं का बिछिया पहनना केवल यह नहीं बताता है कि वे शादी शुदा हैं बल्कि
इस मकर संक्रांति पर 15 साल बाद बन रहा है ऐसा महासंयोग, इन 3 राशियों की चमकने वाली हैै किस्मत

इस मकर संक्रांति पर 15 साल बाद बन रहा है ऐसा महासंयोग, इन 3 राशियों की चमकने वाली हैै किस्मत

News, Religion
मकर संक्रांति हिन्दुओं के मुख्य त्यौहारों में से एक त्यौहार है, जो इस वर्ष 14 जनवरी को मनाया जा रहा है। मकर सक्रांति हिन्दू धर्म के अनुसार तब मनाया जाता है, जब सूर्य उत्तरायन होकर धनु राशि से मकर राशि में गोचर करते हैं। सूर्य का मकर राशि में प्रवेश इस दिन को शुभ बना देती है और इस दिन मकर संक्रांति का त्यौहार मनाया जाता है। सूर्य का धनु राशि से मकर राशि में यह परिवर्तन केवल साल में एक ही बार होता है, जिस दिन मकर सक्रांति का पर्व मनाया जाता है। इस दिन लोग सुबह जल्दी उठकर तालाब या नदी में स्नान करते है और साथ ही पूजा पाठ और दान करते है। आपको हम यह बता दें इस मकर सक्रांति पर 15 साल बाद 3 ऐसी राशियां है, जिनकी किस्मत चमकने  वाली है। तो चलिए आपको बताते हैं, कौन हैं वो 3 राशियाँ। मेष : इस बार जिन तीन राशियों की किस्मत चमकने वाली है उसमे से सबसे पहली राशि मेष है, इस राशि के जातको के लिए यह
100 साल बाद बनने जा रहा है महासंयोग, इन पांच राशियों के लिए खुलेगा कुबेर का खज़ाना

100 साल बाद बनने जा रहा है महासंयोग, इन पांच राशियों के लिए खुलेगा कुबेर का खज़ाना

Religion
हम सभी के जीवन में राशियों का काफी महत्व होता है, जिनसे किसी भी व्यक्ति का स्वाभाव, चरित्र, विचार, गुण, दोष सब कुछ राशि के अनुसार ज्ञात किया जा सकता है। राशियों के द्वारा किसी भी मनुष्य के पिछले व आने वाले जीवन दोनों के ही बारे में पता लगाया जा सकता है। इंसान के जीवन की हर घटना सफलता या असफलता सब कुछ राशियों के अनुसार घटित होता है। अब चाहे वो पैसे का हो, जीवन के किसी महत्पूर्ण फैसले का हो हर व्यक्ति को अपने राशि को देखे बिना नहीं करना चाहिए। हमारी राशियों को सबसे ज्यादा प्रभावित ग्रहों करते है, जिसके कारण ग्रहों के बदलते ही लोगो के किस्मत खुल जाया करते है। वैसे अगर देखा जाए तो हम सभी अपने जीवन में कामयाब होना चाहते है लेकिन हर किसी किसी के किस्मत में ऐसा नहीं होता है। परन्तु इस बार 12 राशियों में 5 ऐसी राशियां है, जिन पर कुबेर का खजाना बरसने वाला है। आपको हम यह बता दे कि ऐसा महासंयो