Wednesday, November 22News That Matters

Tag: mantra

बड़े काम के हैं ये आठ मंत्र, प्रतिदिन इनका जाप करने से हर इच्‍छा होगी पूरी

बड़े काम के हैं ये आठ मंत्र, प्रतिदिन इनका जाप करने से हर इच्‍छा होगी पूरी

Religion
मंत्र अर्थात ऐसी ध्वनि जो  मन को तारने वाली हो उसे मंत्र कहते है |हमारे धार्मिक शास्त्रों में बताया गया है की मंत्र जाप अपने आराध्य देवी देवता के मन तक पहुचने का एक मार्ग है, चंद शब्दों मेल किस तरह व्यक्ति के जीवन को परिवर्तित कर सकता है, ये बात वो लोग अच्छी तरह जानते हैं जो मंत्रों की ताकत देख चुके हैं। शास्त्रों के अनुसार माता लक्ष्मी के आठ स्वरुप है और यही आठ स्वरुप किसी भी व्यक्ति के जीवन की आधारशिला कहलाती है और अगर कोई व्यक्ति माता के इन्ही आठो स्वरुप की श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना करता है तो उसका जीवन खुशियों से भर जाता है और उसके जीवन की  सारी विप्पतिया दूर हो जाती है। आज हम आपको माता लक्ष्मी के इन आठो स्वरुप को प्रसन्न करने के लिए आठ मंत्रो के विषय में बताएँगे। यह भी पढ़ें: साल 2018 की शुरुआत में ही इन 2 राशियों पर चारों दिशाओं से बरसेगा धन, बन रहा महासंयोग श्री आदि लक्ष्
अगर आप भी स्नान करते समय बोलते हैं ये मन्त्र तो आपको भी मिलेगा तीर्थ स्नान के बराबर फल

अगर आप भी स्नान करते समय बोलते हैं ये मन्त्र तो आपको भी मिलेगा तीर्थ स्नान के बराबर फल

Religion
भारत अनादि काल से संस्कृति, आस्था, आस्तिकता और धर्म का महादेश रहा है। इसके हर भाग और प्रान्त में विभिन्न देवी देवताओ से सम्बद्ध धार्मिक स्थान (तीर्थ) हैं, जिनकी यात्रा के प्रति एक आम भारतीय नागरिक, पर्यटक और धर्म अध्यात्म दोनों ही आकर्षणों से बंधा इन तीर्थस्थलों की यात्रा के लिए सदैव से तत्पर रहते है और ऐसी मान्यता है की तीर्थ स्थलों पर देवी देवताओ का वास होता है इसलिए तीर्थ स्थलों पर जाकर स्नान करने से और पूजा पाठ करने से मनुष्य को  सारे पाप से मुक्ति मिलती है और साथ ही मोक्ष की भी प्राप्ति होती है। आज हम आपको एक ऐसा मंत्र बताने वाले है जिसके उच्चारण मात्र से आप घर पे स्नान करके ही तीर्थ स्नान के बराबर फल की प्राप्ति कर सकते है  जिसे आपको सूर्योदय के पूर्व स्नान करते समय जाप करना है और ये मन्त्र : गंगे च यमुने चैव गोदावरि सरस्वति।। नर्मदे सिन्धु कावेरि जलऽस्मिन्सन्निधिं कुरु।। प्
भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

Religion
ज्योतिष और शास्त्रों के अनुसार किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले हमेशा गायत्री मंत्र का ही जाप किया जाता है क्योंकि इसे ब्रह्मांड का महामंत्र माना गया है। बताना चाहेंगे की गायत्री मंत्र की महत्ता से तो तकरीबन हर कोई बेहतर वाकिफ होगा, बचपन में अधिकतर स्कूलों में भी प्रार्थना के समय गायत्री मंत्र का जाप कराया जाता था ताकि हर किसी में इसकी पवित्रता आती रहे। आपको बता दे की गायत्री मंत्र पूरी तरह से एक सिद्ध वैदिक मंत्र है, ऐसा कहा जाता है की इस मंत्र की साधना से किसी भी प्राणी को मोक्ष की प्राप्ति होती है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि ऐसा माना जाता है की इस मंत्र का जाप जिस किसी भी उदेश्य से किया जाता है वह कार्य अवश्य पूरा हो जाता है। प्राचीन समय से आज तक इस मंत्र की बहुत महत्ता रही है और गायत्री साधना सदा ही मनुष्य को सांसारिक मोह-माया से बचा कर रखता है। यह भी पढ़ें : शास्त्रों के अनुसार