Tag: mantra

10 जून परमा एकादशी को सुबह उठकर सबसे पहले तुलसी के सामने बोले ये मंत्र, सात पुस्त भी पैसो में करेगी राज

10 जून परमा एकादशी को सुबह उठकर सबसे पहले तुलसी के सामने बोले ये मंत्र, सात पुस्त भी पैसो में करेगी राज

Religion
10 जून को परमा एकादशी पड़ रही हैं| पुरुषोत्तम मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को परमा एकादशी या हरिवल्लभ एकादशी भी कहते हैं। परमा एकादशी के दिन यदि भगवान् विष्णु के संग तुलसी माता की भी पूजा की जाए तो साक्षात उस घर में माँ लक्ष्मी का आगमन होने लगता है| क्योंकि परम पवित्र तुलसी का घर में होना शुभ और कल्याणकारी माना जाता है। अर्थात उस घर में सुख-समृद्धि का आगमन होने लागता हैं और पैसो की तंगी समाप्त हो जाती हैं| हमारे शास्त्रो में गाय को पूजनीय माना गया हैं और हम गाय को गौ-माता कहते हैं| जिस तरह संसार में गौ और देवताओं में इन्द्र भगवान को श्रेष्ठ माना गया हैं| तथा उन्हे वर्षा का देवता भी माना जाता हैं| उसी तरह सभी मासों में पुरुषोत्तम मास को उत्तम माना जाता है| पुरुषोत्तम मॉस की एकादशी सभी एकादशियो में श्रेष्ठ मानी गयी है| इस एकादशी में किया गया कोई भी उपाय मनुष्य के भाग्य को चमका सकता है|
पूजा करने से पहले नहीं बोंले ये खास मंत्र, तो समझें व्यर्थ है आपकी पूजा

पूजा करने से पहले नहीं बोंले ये खास मंत्र, तो समझें व्यर्थ है आपकी पूजा

Religion
समस्त धर्मो में हिन्दू धर्म एक ऐसा धर्म है जो की अनेक रीती-रिवाज और परम्पराओं से परिपूर्ण है उन्हीं में से कई परंपराएं व रिवाज पूजा-पाठ एवं मंत्र आदि का है। हिन्दू धर्म में वैसे तो यह परंपराएं सदियों से चली आ रही है जिनके बारे में आज हम आपको कुछ विशेष बाते बताने वाले हैं। यूं तो कहते हैं कि ईश्वर को प्रसन्न करने के लिए मन में सच्ची भक्ति होनी चाहिए, फिर भी हमारा मन कई बार पूजा-पाठ के सही या गलत विधि-विधानों में उलझ जाता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे पूजा-अर्चना करते समय मनुष्य में एक विशेष प्रकार की शक्ति का संचार प्रकाशित होता है। इसके माध्यम से मनुष्य प्रभु की कृपा को शीघ्राति पाने में सक्षम हो जाता है। जो लोग धर्म आदि में मानते हैं कि वह लोग रोजाना पूजा-पाठ, आरती व पूजा करते हैं, इसलिए उनके लिए यह जानना अति आवश्यक है कि वह किसी भी तरह की पूजा करने से पूर्व स्वस्ति वाचन आवश
शनिदेव के ये 10 नाम जपने से दूर हो जाते हैं सारे कष्ट, मिलता है सम्‍पन्‍न रहने का वरदान

शनिदेव के ये 10 नाम जपने से दूर हो जाते हैं सारे कष्ट, मिलता है सम्‍पन्‍न रहने का वरदान

Religion
हमारे पौराणिक शास्त्रों के अनुसार शनि को न्याय के देवता एवं भगवान सूर्य का पुत्र कहा गया है। शनि को किस्मत चमकाने वाला देवता भी कहा जाता है।|शनिदेव की कृपा के लिए शनि भक्त क्या-क्या नहीं करते। मंदिर जाते हैं, उपवास रखते हैं और जब भक्तों की मुराद पूरी हो जाती है तो वह शनिदेव की भक्ति भाव से निहाल हो जाते हैं। अगर शनिभक्त शनिदेव की आराधना सच्चे मन से की जाये तो सूर्यपुत्र उनकी मनोकामना पूरी करने में कभी देर नहीं करते। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि के शुभ होने पर हमें अपार सुख और समृद्धि प्राप्त होती है|हमारे जीवन में ग्रहों का प्रभाव बहुत प्रबल माना जाता है और उस पर अगर शनि ग्रह अशांत हो जाएं तो जीवन में कष्टों का आगमन शुरू हो जाता है इसलिए शनि दोष से पीड़ित जातकों को शनिवार और मंगलवार के दिन शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए उनके 10 प्राचीन और पवित्र नामों का जप करना चाहिए| इन 10 नामों क
स्नान करते समय जपते हैं ये मंत्र तो होगी पैसों की बारिश, जानें कैसे

स्नान करते समय जपते हैं ये मंत्र तो होगी पैसों की बारिश, जानें कैसे

Religion
प्रतिदिन स्नान करना  ना केवल हमारे स्वास्थ के लिए अच्छा है बल्कि इससे हमारी आर्थिक स्थिति भी सुधरती है इसीलिए हमारे धर्मिक शास्त्रों में स्नान का महत्व बताया गया है आमतौर पर जीवन में धर्म-कर्म के साथ धन की कामना भी किसी न किसी रूप में जुड़ी होती है क्योंकि  धन हर जीवन की  जरूरतों व दायित्वों की पूर्ति करने में अहम भूमिका निभाता है इसी वजह से हर कोई धन प्राप्ति के लिए हर संभव प्रयास करता है | यदि धर्मशास्त्रों के नजरिए से देखा जाये तो  धनवान बनने का मतलब केवल ज्यादा से ज्यादा धन बटोरना नहीं है बल्कि धन के साथ गुणी होना ही असल में अमीरी मानी गई है और बगैर इसके कमाया हुआ धन भी व्यर्थ है और सुख शांति नहीं देता है इसीलिए शास्त्रों के अनुसार गुणवान बन कर  धन पाने की राह बहुत ही सरल है जिसके लिए आपको केवल अपने तन मन को पवित्र रख कर धन प्राप्ति की कामना करना चाहिए  बनाने के लिए शास्त्रों मे
बड़े काम के हैं ये मंगलवार के धन प्राप्ति के उपाय व मन्त्र

बड़े काम के हैं ये मंगलवार के धन प्राप्ति के उपाय व मन्त्र

Religion
जैसा की हम जानते हैं की मंगलवार का दिन बजरंगबली का दिन होता है और इस दिन हर अनुमान भक्त इनकी पूजा पाठ अवश्य करता है |शास्त्रों के अनुसार मंगलवार के दिन को गणेश जी से भी जोड़ा गया है इसीलिए यदि आप आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हैं तो इस दिन कुछ उपाय करके अपने जीवन से सभी कष्ट बढ़ाएं दूर कर सकते हैं |इन उपायों को आपको केवल 7 मंगलवार तक करना है उसके बाद आपके जीवन से निश्चित ही धन समस्या दूर हो जाएगी  और आपका घर हमेशा सुख-समृद्धि से भरा रहेगा। तो आइये आपको बताते है की मंगलवार के कुछ धन प्राप्ति के शास्त्रीय टोटके - मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर में जाकर नारियल रखना शुभ माना जाता है। मंगलवार के दिन जब भी घर में भोजन बने तो सबसे पहली रोटी गाय के लिए जरूर निकालें। मंगलवार के  दिन लाल वस्त्र, लाल फल-फूल और लाल रंग की मिठाई गणेश जी को चढ़ाए चूंकि ये दिन भगवान गणेश से भी जुड़ा हुआ इसीलिए ऐसा
तुलसी के सामने 3 बार बोले 2 अक्षर का ये मन्त्र फिर तुरंत होगा चमत्कार

तुलसी के सामने 3 बार बोले 2 अक्षर का ये मन्त्र फिर तुरंत होगा चमत्कार

Religion
हमारे हिन्दू धर्म में तुलसी का पौधा बहतु ही पूजनीय माना जाता है और कहा जाता है की इस धरा पर तुलसी केवल एक पौधा नहीं बल्कि इस धरा के लिए वरदान है | तुलसी को दैवी गुणों से परिपूर्ण मानते हुए इसके बारे में अध्यात्म ग्रंथों में बहुत कुछ लिखा गया है। तुलसी को औषधियों का खान कहा जाता हैं।यही कारण है की तुलसी को  अर्थदेव औषधि की संज्ञा भी  दी गई हैं। संस्कृत भासा में तुलसी को  हरिप्रिया  के नाम से भी जाना जाता है । पौराणिक कथा के अनुसार कहा जाता है की इस औषधि की उत्पत्ति से भगवान् विष्णु का मनः संताप दूर हुआ इसी कारण से तुलसी को हरिप्रिया की संज्ञा दी गयी है । धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ये कहा जाता है की तुलसी की जड़ में सभी तीर्थ, मध्य में सभी देवि-देवियाँ और ऊपरी शाखाओं में सभी वेद स्थित हैं।इसीलिए यदि प्रतिदिन  तुलसी का दर्शन भी हो जाये तो व्यक्ति के जीवन से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं
बुधवार के दिन इन मन्त्रों के द्वारा गणेश जी से मांगे हर वरदान, पूरी होगी सारी मनोकामना

बुधवार के दिन इन मन्त्रों के द्वारा गणेश जी से मांगे हर वरदान, पूरी होगी सारी मनोकामना

Religion
आमतौर पर बहुत से लोग मंत्रो को मात्र कुछ शब्दों की तरह  से ही देखते हैं परन्तु वो यह नहीं जानते की इन मन्त्रों की तरंगों में बहुत ताकत होती है। यह कुछ ऐसे-वैसे शब्द नहीं हैं। इन्हे हमारे ऋषि-मुनियों ने सालों की ध्यान साधना द्वारा प्राप्त किया है। मन्त्रों के श्रवण मात्र से हमारी चेतना जाग उठती है |और यदि दिन की शरूआत या कोई भी शुभ कार्य आरंभ करने से पहले भगवान को याद करते हैं तो ऐसा माना जाता है काम अच्छा होता है। आज बुधवार के दिन गणेश भगवान की पूजा की जाती है। क्योंकि श्री गणेश बुद्धि से सफलता देने वाले और विघ्रों को दूर करने वाले माने जाते हैं। शास्त्रों के अनुसार  बुधवार का दिन श्री गणेश की उपासना के लिए श्रेष्ठ माना जाता है। इसलिए तीक्ष्ण बुद्धि और ज्ञान प्राप्ति के साथ हर कष्ट निवारण के लिए श्री गणेश की पूजा इन  विशेष मंत्र के साथ जरूर करें। आज हम आपको ऐसे ही कुछ विशेष मन्त्रों
तुलसी पर कभी भी नहीं चढ़ाना चाहिए सिर्फ जल, पूजा करते समय जरूर करें इसे शामिल

तुलसी पर कभी भी नहीं चढ़ाना चाहिए सिर्फ जल, पूजा करते समय जरूर करें इसे शामिल

Religion
प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि हर घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए। शास्त्रों में तुलसी को पूजनीय, पवित्र और देवी स्वरूप माना गया है, इस कारण घर में तुलसी हो तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। यदि ये बातें ध्यान रखी जाती हैं तो सभी देवी-देवताओं की विशेष कृपा हमारे घर पर बनी रहती है। घर में सकारात्मक और सुखद वातावरण बना रहता है, पैसों की कमी नहीं आती है और परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है। वेदों पुराणों के अनुसार, तुलसी को लेकर ऐसी मान्यता है की जिस घर के आंगन में तुलसी होती है वहां कभी अकाल मृत्यु  नहीं होती है। तुलसी के प्रतिदिन दर्शन और पूजन करने से पाप नष्ट हो जाते हैं व मोक्ष की प्राप्ति होती है। भगवान विष्णु जी की पूजा में तुलसी का  उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है। यह भी पढ़े : इन चीजों को पलंग के नीचे रखने से टल जायेगा आपका बुरा समय, जानें कौन सी है
बड़े काम के हैं ये आठ मंत्र, प्रतिदिन इनका जाप करने से हर इच्‍छा होगी पूरी

बड़े काम के हैं ये आठ मंत्र, प्रतिदिन इनका जाप करने से हर इच्‍छा होगी पूरी

Religion
मंत्र अर्थात ऐसी ध्वनि जो  मन को तारने वाली हो उसे मंत्र कहते है |हमारे धार्मिक शास्त्रों में बताया गया है की मंत्र जाप अपने आराध्य देवी देवता के मन तक पहुचने का एक मार्ग है, चंद शब्दों मेल किस तरह व्यक्ति के जीवन को परिवर्तित कर सकता है, ये बात वो लोग अच्छी तरह जानते हैं जो मंत्रों की ताकत देख चुके हैं। शास्त्रों के अनुसार माता लक्ष्मी के आठ स्वरुप है और यही आठ स्वरुप किसी भी व्यक्ति के जीवन की आधारशिला कहलाती है और अगर कोई व्यक्ति माता के इन्ही आठो स्वरुप की श्रद्धा भाव से पूजा अर्चना करता है तो उसका जीवन खुशियों से भर जाता है और उसके जीवन की  सारी विप्पतिया दूर हो जाती है। आज हम आपको माता लक्ष्मी के इन आठो स्वरुप को प्रसन्न करने के लिए आठ मंत्रो के विषय में बताएँगे। यह भी पढ़ें: साल 2018 की शुरुआत में ही इन 2 राशियों पर चारों दिशाओं से बरसेगा धन, बन रहा महासंयोग श्री आदि लक्ष्
अगर आप भी स्नान करते समय बोलते हैं ये मन्त्र तो आपको भी मिलेगा तीर्थ स्नान के बराबर फल

अगर आप भी स्नान करते समय बोलते हैं ये मन्त्र तो आपको भी मिलेगा तीर्थ स्नान के बराबर फल

Religion
भारत अनादि काल से संस्कृति, आस्था, आस्तिकता और धर्म का महादेश रहा है। इसके हर भाग और प्रान्त में विभिन्न देवी देवताओ से सम्बद्ध धार्मिक स्थान (तीर्थ) हैं, जिनकी यात्रा के प्रति एक आम भारतीय नागरिक, पर्यटक और धर्म अध्यात्म दोनों ही आकर्षणों से बंधा इन तीर्थस्थलों की यात्रा के लिए सदैव से तत्पर रहते है और ऐसी मान्यता है की तीर्थ स्थलों पर देवी देवताओ का वास होता है इसलिए तीर्थ स्थलों पर जाकर स्नान करने से और पूजा पाठ करने से मनुष्य को  सारे पाप से मुक्ति मिलती है और साथ ही मोक्ष की भी प्राप्ति होती है। आज हम आपको एक ऐसा मंत्र बताने वाले है जिसके उच्चारण मात्र से आप घर पे स्नान करके ही तीर्थ स्नान के बराबर फल की प्राप्ति कर सकते है  जिसे आपको सूर्योदय के पूर्व स्नान करते समय जाप करना है और ये मन्त्र : गंगे च यमुने चैव गोदावरि सरस्वति।। नर्मदे सिन्धु कावेरि जलऽस्मिन्सन्निधिं कुरु।। प्