Saturday, December 16

Tag: lord

आज मार्ग शीर्ष पूर्णिमा में करेंगे ये उपाय तो परिवार में आएगी सुख-समृद्धि

आज मार्ग शीर्ष पूर्णिमा में करेंगे ये उपाय तो परिवार में आएगी सुख-समृद्धि

News, Religion
रविवार 3 दिसंबर 2017  को अगहन मास की पूर्णिमा है और श्री मदभागवद गीता के उपदेश में स्वयं भगवान श्री कृष्ण जी ने कहा,महीनो में मैं पवित्र महीना मार्गशीर्ष हूँ। अतः मार्गशीर्ष या अगहन माह अति पावन माह है। मार्गशीर्ष माह की पूर्णिमा को मार्गशीर्ष पूर्णिमा मनाई जाती है। धार्मिक मान्यता है की कार्तिक पूर्णिमा की तरह मार्गशीर्ष पूर्णिमा का भी विशेष महत्व है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन अनेक पवित्र स्थानो जैसे हरिद्वार, बनारस,  मथुरा आदि जगह पर लोग पवित्र नदियों, सरोवर में आस्था की डुबकी लगाते है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन स्नान-दान से  अमोघ फल प्राप्त होता है। भगवान श्री कृष्ण जी के अनुसार, इस माह प्रतिदिन स्नान -दान पूजा पाठ करने से भक्तो के पाप कटते है  एवं भक्त की सारी मनोकामनाएँ पूर्ण होती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, इस पवित्र दिन में अगर कुछ आसान उपाय किए जाएं तो परिवार में हमेशा सुख-सम
सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

News, Religion
आज सोमवार के दिन मार्गशीर्ष शुक्ल अष्टमी पर सोम दुर्गाष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। भविष्य पुराण के उत्तर-पूर्व में दुर्गाष्टमी पूजन हेतु श्रीकृष्ण और युधिष्ठिर का संवाद हुआ है। इसमें दुर्गाष्टमी के पूजन का सम्पूर्ण वर्णन किया गया है। दुर्गाष्टमी पूजन हर युग, कल्पों और मन्वंतरों में किया जाता था। धार्मिक मान्यताओं कि माने तो दुर्गम नाम का एक राक्षस जिससे तीनों लोक उसके नाम से ही डरा करते थे। ऐसे समय में भगवान शिव की शक्ति मूल प्रकृति नें देवी दुर्गसैनी नाम से अवतार लिया और दुर्गमासुर का वध किया। यही कारण है कि लोग इन्हें देवी दुर्गा कहते हैं। हमारे शास्त्रों के अनुसार हर माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी पर मासिक दुर्गाष्टमी मनाई जाती हैं। आज के दिन आदिशक्ति भवानी का प्रादुर्भाव हुआ था। यही कारण है जो हर शुक्ल अष्टमी को वार अनुसार आद्य शक्ति की दुर्गा, काली, भवानी, जगदंबा, दुर्गा, गौरी, पार्वत