Wednesday, November 22News That Matters

Tag: chanting

भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

भूल से भी नहीं करना चाहिए इस तरह से गायत्री मंत्र का जाप, घर में आती है दरिद्रता

Religion
ज्योतिष और शास्त्रों के अनुसार किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले हमेशा गायत्री मंत्र का ही जाप किया जाता है क्योंकि इसे ब्रह्मांड का महामंत्र माना गया है। बताना चाहेंगे की गायत्री मंत्र की महत्ता से तो तकरीबन हर कोई बेहतर वाकिफ होगा, बचपन में अधिकतर स्कूलों में भी प्रार्थना के समय गायत्री मंत्र का जाप कराया जाता था ताकि हर किसी में इसकी पवित्रता आती रहे। आपको बता दे की गायत्री मंत्र पूरी तरह से एक सिद्ध वैदिक मंत्र है, ऐसा कहा जाता है की इस मंत्र की साधना से किसी भी प्राणी को मोक्ष की प्राप्ति होती है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि ऐसा माना जाता है की इस मंत्र का जाप जिस किसी भी उदेश्य से किया जाता है वह कार्य अवश्य पूरा हो जाता है। प्राचीन समय से आज तक इस मंत्र की बहुत महत्ता रही है और गायत्री साधना सदा ही मनुष्य को सांसारिक मोह-माया से बचा कर रखता है। यह भी पढ़ें : शास्त्रों के अनुसार
चुपचाप आज के दिन करें इन मंत्रों का जाप, बन जाएगी आप पर शनिदेव की कृपा

चुपचाप आज के दिन करें इन मंत्रों का जाप, बन जाएगी आप पर शनिदेव की कृपा

Religion
देखा जाए तो हिन्दू धर्म में हर दिन का कोई ना कोई खास महत्व होता है, सप्ताह के सात दिन होते है जिनमे हर दिन किसी ना किसी भगवान की पूजा की जाती है। जैसे आज शनिवार का दिन है और इस दिन को खास शनिदेव का दिन माना जाता है जिन्हे सभी भगवानों में सबसे क्रोधित देवता भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है की जिस व्यक्ति पर भगवान शनिदेव की कृपा होती है उसे जीवन में कोई परेशानी नहीं होती। मनुष्य द्वारा किए गए पापों का दंड शनि देव ही देते हैं, शनि देव की आराधना करने से गृह क्लेश समाप्त हो जाता है तथा घर में सुख-समृद्धि का वास होता है। इसलिए कहा जाता है की हर शनिवार को शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कुछ उपाय करना चाहिए जिससे उनकी कृपादृष्टि हम पर बनी रहे। अमूमन देखा गया है कि शनि की पूजा लोग डर में करते हैं लेकिन यह पूरा सच नहीं है। आपको बता दे की शनिदेव मनुष्य कर्तव्यों के आधार पर ही सजा तय करते हैं मगर