Wednesday, November 22News That Matters

Tag: business

इस महिला से पीछे हैं अंबानी, जानना नहीं चाहते कौन है वो

इस महिला से पीछे हैं अंबानी, जानना नहीं चाहते कौन है वो

Business, Interesting
मुकेश अंबानी भारत के सबसे अमीर व्यक्ति है, जिनको भारत का हर बच्चा - बच्चा जनता है। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के चेयरमैन मुकेश अंबानी लंबे समय से ही भारत के सबसे अमीर शख्सयत बने हुए हैं। उनकी दौलत दिनों दिन इतनी तेजी से बढ़ रही है कि भारत में फिलहाल उन्हें कोई टक्कर देता हुआ नहीं दिख रहा है। दुनिया के अमीरों में से 20वें नंबर पर अंबानी- इसके बावजूद मुकेश अंबानी को दुनिया के टॉप अमीरों की लिस्ट में आगे बढ़ने में काफी मुश्किले आ रही है। असल में एक लेडी उनकी राह का सबसे बड़ा रोड़ा बनी हुई है। एक साल में 1.14 लाख करोड़ बढ़ी मुकेश अंबानी की दौलत, इन दिनों खासी तेजी से बढ़ती ही जा रही है। उन्हें जियो की कमाई का पूरा पूरा फायदा मिलता दिख रहा है।   यह भी देखे : बिल गेट्स को भी पीछा छोड़ ये शख्‍स बना दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, जानें कौन है ये शख्‍स ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंड
बिल गेट्स को भी पीछा छोड़ ये शख्‍स बना दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, जानें कौन है ये शख्‍स

बिल गेट्स को भी पीछा छोड़ ये शख्‍स बना दुनिया का सबसे अमीर व्यक्ति, जानें कौन है ये शख्‍स

Business
दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स को दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन के सी.ई.ओ. जेफ बेजॉस ने संपत्ति के मामले में फिर एक बार पीछे छोड़ दिया। फोर्ब्स की रिपोर्ट के अनुसार अमेजॉन के शेयरों में 2 फीसदी की बढ़त हुई है जिससे बेजॉस की कुल संपत्ति में 90 करोड़ डॉलर की बढ़ोत्तरी हो गयी तो अब बेजॉस की कुल संपत्ति 90.6 अरब डॉलर हो गई है जोकि बिल गेट्स की संपत्ति (90.1 अरब डॉलर) से कुछ अधिक है।   ये भी पढ़े: क्या आप जानते हैं चेक के नीचे लिखे इन नंबरों का क्‍या होता है मतलब? तो जानें क्यों लिखे जाते है ये नंबर दूसरी बार हासिल किया मुकाम बिल गेट्स से सम्पति के मामले में निकले जेफ बेजॉस इससे पहले भी जुलाई में एक बार ओर आगे निकले थे लेकिन उस समय बेजॉस सिर्फ कुछ ही घंटों के लिए नंबर-1 पर बने रहे फिर उसके बाद से वो पिछड़ गए थे। 27 जुलाई को अमेजॉन के शेय
क्या आप जानते हैं चेक के नीचे लिखे इन नंबरों का क्‍या होता है मतलब? तो जानें क्यों लिखे जाते है ये नंबर

क्या आप जानते हैं चेक के नीचे लिखे इन नंबरों का क्‍या होता है मतलब? तो जानें क्यों लिखे जाते है ये नंबर

Business, Interesting
दिनों दिन बदलती हुई दुनिया में आप थोड़े  ही समय कहीं भी किसी को भी पैसे भेज सकते है। पुराने जमाने में यह तो नामुमकिन हीं था। उस समय में लोगों को पैसे खाते में भेजने के लिए बैंको के चक्कर लगाने पड़ते थे, उस समय में पैसे भेजने के लिए लोग मनीआॅर्डर का प्रयोग करते थे।जो 5 से 10 दिनो बाद पहुचता था। इस आधुनिक दुनिया में अब ऐसा नहीं है, आज के लोग बैंकिंग से जुड़े अनेकों एप्लीकेशन को डाउनलोड करते है। जिससे घर बैठे-बैठे खाते में पैसा ट्रांसफर व खाते से जुडी जानकारी प्राप्त कर सकते है। इन तरह के ऐप में आपको अपने बैंक से संबंधित कुछ जानकारीया जैसे एकाउंट नंबर और IFSC कोड डालने होते है। यह भी पढ़ें : आइए जानते हैं हिन्दू धर्म में क्‍या है रुद्राक्ष का वास्तविक महत्व कई बार यह सुविधा मौजूद न होने पर काफी लोग चेक का इस्तेमाल करते है। देखा जाये तो अधिकतर बड़ी राशि की पेमेंट के लिए लोग चेक का ही इस्तेम
छोटी बचत से करें बड़ी शुरुआत

छोटी बचत से करें बड़ी शुरुआत

Business
सीमित आमदनी, बढती महंगाई और ढेर सारी जरूरतें....आज का आम मध्यवर्गीय व्यक्ति इन्हीं तीन शब्दों के साथ जूझ रहा है। इस हालात को पूरी तरह बदलना नामुमकिन है, पर आकस्मिक परेशानियों से बचने के लिए इमर्जेंसी फंड बनाना बहुत जरूरी है। यह तभी संभव होगा जब साल की शुरुआत से ही अपने अनावश्यक खर्चों में कटौती करते हुए परिवार की वित्तीय योजना कुछ इस ढंग से बनाई जाए कि उसमें बचत की गुंजाइश हमेशा बनी रहे। आइए सखी के साथ जानें इमर्जेंसी फंड को मजबूत बनाने के लिए कुछ खास तरीके। पहले प्लान करें इमर्जेंसी फंड बनाने से पहले एक ऐसी सूची बनाएं, जिसमें हर महीने होने वाली कुल आमदनी और कुछ खर्च का विस्तृत विवरण हो। इस सूची में कार और होमलोन के लिए चुकाई जाने वाली िकस्तें भी शामिल करें। सभी जरूरतों को अनिवार्य, आपातकालीन और टालने योग्य खर्चों की तीन श्रेणियों में विभाजित करें। ईएमआइ की िकस्तों और अनिवार्य घरेलू खर्च