Friday, January 19

Tag: benifits

शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

News, Religion
जब भी हम किसी देवालय में जाते हैं या किसी भी पूजा पाठ में जाते हैं तो हमे चरणामृत का प्रसाद अवश्य दिया जाता है क्योकि शास्त्रों के अनुसार सभी प्रसादों से सबसे श्रेष्ठ माना जाता है चरणामृत का प्रसाद चरणामृत का वास्तविक अर्थ होता भगवान के चरणों का अमृत और पंचामृत का अर्थ पांच अमृत यानि पांच पवित्र वस्तुओं से बना हुआ अमृत। पौराणिक मान्यताओं में ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं। जिनमें देवताओं के चरणों से जलधाराएं प्रकट हुई हैं। ये धाराएं नदियों के रूप में धरती पर आईं और प्यास बुझाने में इनके जल का उपयोग किया गया। जल ही जीवन है, इसलिए इसे अमृत कहा गया, क्योंकि इसके पान से हम मरते नहीं।भगवान के चरण स्पर्श करने की परंपरा प्राचीन है। जिस जल से भगवान को स्नान कराया जाता है, वह जल उनकी प्रतिमा से होता हुआ चरण तक आता है और फिर नीचे बहता है। इसी जल को चरणामृत कहा जाता है यानी भगवान का स्पर्श किया हु
अगर आप भी सर्दियों में रोज खाते हैं तिल के लड्डू, तो होंगे ये अद्भुुुत फायदे

अगर आप भी सर्दियों में रोज खाते हैं तिल के लड्डू, तो होंगे ये अद्भुुुत फायदे

Health & Fitness, Lifestyle
सर्दियों का मौसम चल रहा है और सर्दियों में तो खाने का मज़ा ही कुछ और  है|हमारे  भारत में प्राचीन समय से ही त्यौहारों के विशेष अवसरों पर मीठे को शुभ प्रतीक के रूप में माना जाता  है, क्‍योंकि मीठे की मिठास हमारे जीवन में उमंग व उत्‍साह का रस भर देती है। और नए साल का पहले महीने का पर्व मकर संक्रांति भी तो खाने से ही जुड़ा है इस त्यौहार में हम विभिन्न प्रकार की गुड और तिल से बनी चीजे खाते है और वो हमें बहुत अच्छा भी लगता है| धार्मीक मान्यताओ के अनुसार भी इस दिन तिल खाना और दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है इस दिन तिल दान करने से आपको शुभ फल की प्राप्ति होती है| तिल का पौराणिक महत्व भी है जिसके अनुसार तिल को कथा पूजा में भी इस्तेमाल  किया जाता है |तिल के कई औषधीय गुण भी है जिसके सेवन से आप सर्दियों में खुद को बीमारी से बचा सकते है | जैसा की हम जानते हैं की सर्दियाँ यान
हफ्ते में इन दो दिन हनुमान जी को जरूर अर्पित करें पान का पत्ता, होंगे अद्भुत लाभ

हफ्ते में इन दो दिन हनुमान जी को जरूर अर्पित करें पान का पत्ता, होंगे अद्भुत लाभ

News, Religion
आपने अक्सर देखा होगा कि जब कोई पूजा या अनुष्ठान आरम्भ होता है, तो उस पूजा या अनुष्ठान में आपको पान के पत्ते जरुर देखने को मिल जाते है। लेकिन क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि पूजा या अनुष्ठान में ये पान के पत्ते क्यों प्रयोग किये जाते है? क्या कारण है इसके पीछे? शायद आप न जानते हो, तो आज हम आपको इसी पान के पत्ते का महत्व बताने जा रहे है और इन्ही पान के पत्तो से आपको एक ऐसा लाभकारी नुक्सा बताएँगे जिससे आप को निश्चित चमत्कारी लाभ होंगे। हमारे हिन्दू धर्म में पान के पत्तो का प्रयोग काफी महत्वपूर्ण माना गया। किसी भी पूजा में पान के पत्तो की एक अहम भूमिका होती है। आपको बता दे कि हमारे स्कंद पुराण के अनुसार पान के पत्तो का प्रयोग देवताओं ने समुद्र मंथन के दौरान किया था। यही कारण है कि पान के पत्तो का पूजा में बहुत महत्व माना गया है। शास्त्रों में यह भी मान्यता है कि पान के पत्तों में देवी दे
अगर सुबह सुबह उठते ही कर लेते हैं ये काम तो बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

अगर सुबह सुबह उठते ही कर लेते हैं ये काम तो बन जाएंगे सभी बिगड़े हुए काम

Religion
हर इंसान चाहता है की अगर वो मेहनत कर रहा है तो उसका फल भी उसे अवश्य मिलना चाहिए और इसीलिए इंसान किसी काम में सफल होने के लिए दिन रात मेहनत करता है लेकिन कई बार कठिन मेहनत करने के बाद भी उसे मनचाही सफलता नहीं मिल पाती है क्योंकि कभी कभी भाग्य साथ नहीं देता लेकिन ज्योतिष शास्त्रों में ऐसे कई उपाय बताए गए है जिसे अपनाने से सफलता आसानी से मिल जाती है। अगर आप चाहते हैं कि हर काम में आपका भाग्य हमेशा साथ दे तो नियमित रुप से सुबह जल्दी उठना चाहिए। ऐसा करने से आपका पूरा दिन शुभ और एनर्जी से भरा रहता है। सुबह जल्दी उठने से आपका पूरा दिन शुभ होता है इसलिए रोजाना सूर्योदय से पूर्व उठकर नितक्रिया करने के बाद स्नान करने से आपके जीवन में और घर परिवार में सुख और शांति बनी रहती है। पूजा पाठ तो हम रोजाना करते ही है लेकिन अगर आप नियमित गायत्री मंत्र का जाप करते है तो आपके घर से नकारात्मक उर्जा