Thursday, January 18

Tag: adhyatam

इन चीजों को पलंग के नीचे रखने से टल जायेगा आपका बुरा समय, जानें कौन सी है वो चीज

इन चीजों को पलंग के नीचे रखने से टल जायेगा आपका बुरा समय, जानें कौन सी है वो चीज

Religion
ज्योतिष में ऐसे कई उपाय बताये गये है, जिनको करने से हमारे जीवन के काफी कष्ट दूर हो सकते है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही आसान उपाय बतायेगे जिसे करके आप अपने सारे कष्टों को दूर कर सकते है और साथ ही आपके घर में से धन की कमी भी दूर हो जाएगी। हमारे ज्योतिष शास्त्र में कुछ ऐसी चीजो के बारे में बताया गया है, जिनको यदि आप अपने पलंग के नीचे रखें तो इससे आपको काफी लाभ हो सकते है। आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताएंगे जिससे आपका चल रहा बुरा वक्त भी खत्म हो जाएगा। 1- ऐसे कई लोग होते है, जिनके कुंडली में सुर्यदोष पाया जाते है। ऐसे लोगो को अपने पलंग के नीचे एक ताम्बे के बर्तन में पानी भर कर रखना चाहिए यदि आप चाहे तो अपने तकिये के नीचे लाल चन्दन भी रख सकते है। यह भी पढ़े :-अगर आपके भी घर में है ये 4 चीजें तो गरीबी दूर की बात है काल भी घर में घुस नहीं सकता 2- ऐसे कई लोग होते है, जिसके कुंडली में
सोमवार को है ये खास तिथि, चाहते हैं अपनी किस्मत चमकाना तो इन 5 में से जरूर करेें एक उपाय

सोमवार को है ये खास तिथि, चाहते हैं अपनी किस्मत चमकाना तो इन 5 में से जरूर करेें एक उपाय

Religion
हम सभी के जीवन में कुछ क्षण ऐसे होते है, जो काफी सुखदायक होते है वहीँ कुछ ऐसे भी क्षण भी होते जो काफी कष्टकारी होते है। यह जीवन का एक क्रम है, जो हम सभी के जीवन में जरुर आता है, हम सभी के जीवन में उतराव चढाव होते ही रहते है लेकिन आप इन कष्टों को कुछ उपायों द्वारा दूर जरुर कर सकते है। पहले हम आपको यह बता दे कि यह सोमवार काफी खास है क्योकि 18 दिसम्बर को पौष मास की अमावस्या का पर्व मनाया जा रहा है। इस दिन स्नान का विशेष महत्व मना गया है और साथ ही दान-पुण्य और पूजा-पाठ करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। अमावस्या के दिन किये गये धार्मिक कार्यों का फल बहुत जल्दी मिलता है और देवी-देवता भी अति शीघ्र प्रसन्न हो जाते है। 18 दिसम्बर को दिन सोमवार पड़ने के कारण यह अमावस्या ‘सोमवती अमावस्या’ कहलाती है। तो चलिए आपको बतातें है, इस दिन किन-किन उपायों को करके आप देवी-देवताओं को अति शीघ्र प्रसन्न कर
16 दिसंबर से शुरू हो रहा है खर मास, भूल से भी ना करें ये काम नहीं वरना भुगतना होगा भारी नुकसान

16 दिसंबर से शुरू हो रहा है खर मास, भूल से भी ना करें ये काम नहीं वरना भुगतना होगा भारी नुकसान

News, Religion
जब सूर्य देव गुरु की राशि धनु या मीन में प्रवेश करते है, तो हिन्दू पंचांग के अनुसार उसे खरमास माना जाता है। जो इस बार 16 दिसम्बर को लग रहा है। खरमास के समय में किसी भी प्रकार के मंगल कार्य नही करने चाहिए। खरमास 16 दिसम्बर से 14 जनवरी तक रहेगा। इस बार खरमास का प्रारम्भ 16 दिसम्बर 12 बजकर 4 मिनट पर सूर्य देव के राशि परवर्तित होने से होगी। तो चलिए आपको बताते है इस महीने में आपको क्या करना चाहिए और क्या नही। बताना चाहेंगे की साल में दो बार सूर्य, गुरु या मीन की राशि में प्रवेश करता है, उस समय की खरमास, मलमास, पुरुषोत्तम का माहिना या काला महिना आदि नामो भी जाना जाता है। माना जाता है की इस महीने में कोई भी मांगलिक कार्य शुभ नही माना गया है। वहीँ खरमास के महीने में ज्यादा से ज्यादा भगवान की भक्ति करनी चाहिए और साथ ही उपासना करें। खरमास में भगवान में ध्यान लगाना काफी अच्छा होता है। वहीँ इस मा
नासा के वैज्ञानिकों ने भी मान ही लिया, आज भी जिन्दा है हनुमान जी, ये रहे प्रमाण

नासा के वैज्ञानिकों ने भी मान ही लिया, आज भी जिन्दा है हनुमान जी, ये रहे प्रमाण

Religion
हम लोगो को अक्सर हमारे दादा, दादी, नाना या नानी देवताओं के बारे में बताते है और उन लोगों का यह भी कहना रहता है, कि आज भी देवी देवता लोग जीवित है, यानि कि इस कलयुग में भी देवी देवता जीवित है। जो की अक्सर काफी लोग झूठ और अंधविश्वास समझ लेते है।  लेकिन कुछ देवी देवता ऐसे भी है, जिनके जिन्दा होने का सबूत पाया गया है। वैज्ञानिको के हाथ इस बार कुछ ऐसे साबुत और निशान मिले है। जिनसे ये बिलकुल साफ साबित हो जाता है, कि वास्तव में अभी भी धरती पर एक देवता है, जो जीवित है। आपको हम यह बता दे कि यहाँ किसी और देवता की नहीं बल्कि हनुमान जी की बात की जा रही है। जी हाँ, वैज्ञानिको ने भी अब इस बात को मान लिया है कि हनुमान जी वास्तव में अब तक जीवित है। लेकिन फिर भी कुछ लोगो का यह मानना है, कि यह केवल एक अन्धविश्वास और अफवाह है। अब तो वैज्ञानिको ने भी हनुमान जी को जिन्दा मान लिया है, इसलिए उन लोगो के विश्वास
रविवार को कर लें इनमें से कोई भी 1 उपाय, हनुमान जी हर मुश्किल करेंगे आसान

रविवार को कर लें इनमें से कोई भी 1 उपाय, हनुमान जी हर मुश्किल करेंगे आसान

News, Religion
हनुमान अष्टमी पर्व जोकि हर पौस मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। वह पर्व इस साल के 10 दिसंबर दिन रविवार को पढ़ रही है। जो लोग इस समय काफी कष्ट, परेशानी और आर्थिक तंगी से परेशान है। तो वो इस पर्व के अवसर पर इस दिन इस विशेष उपाय को करके वह अपनी सारी परेशानीयों का निवारण कर सकते है। तो चलिए आपको बताते है। क्या है? वो उपाय जिसे करने मात्र से आप पर से सारे संकटों के बादल छट जाएंगे। तो आइये जानते हैं। ऐसे चढाएं हनुमान जी को चोला हनुमान अष्टमी जो कि 10 दिसंबर दिन रविवार को पढ़ रहा है। इस दिन आप हनुमान जी की विशेष कृपा पाने के लिए हनुमान जो को चोला चढ़ाएं। हनुमान जी को चोला चढ़ाने से पहले आप स्नान करके शुद्ध हो जाए और साफ वस्त्र धारण करें। यदि आप स्नान के बाद केवल लाल रंग की धोती पहने तो यह काफी शुभ होगा। चोला चढ़ाने के लिए आप चमेली के तेल का प्रयोग करें और चोला चढ़ाते वक्त आप एक दीपक
हफ्ते में इन दो दिन हनुमान जी को जरूर अर्पित करें पान का पत्ता, होंगे अद्भुत लाभ

हफ्ते में इन दो दिन हनुमान जी को जरूर अर्पित करें पान का पत्ता, होंगे अद्भुत लाभ

News, Religion
आपने अक्सर देखा होगा कि जब कोई पूजा या अनुष्ठान आरम्भ होता है, तो उस पूजा या अनुष्ठान में आपको पान के पत्ते जरुर देखने को मिल जाते है। लेकिन क्या आपने कभी ध्यान दिया है कि पूजा या अनुष्ठान में ये पान के पत्ते क्यों प्रयोग किये जाते है? क्या कारण है इसके पीछे? शायद आप न जानते हो, तो आज हम आपको इसी पान के पत्ते का महत्व बताने जा रहे है और इन्ही पान के पत्तो से आपको एक ऐसा लाभकारी नुक्सा बताएँगे जिससे आप को निश्चित चमत्कारी लाभ होंगे। हमारे हिन्दू धर्म में पान के पत्तो का प्रयोग काफी महत्वपूर्ण माना गया। किसी भी पूजा में पान के पत्तो की एक अहम भूमिका होती है। आपको बता दे कि हमारे स्कंद पुराण के अनुसार पान के पत्तो का प्रयोग देवताओं ने समुद्र मंथन के दौरान किया था। यही कारण है कि पान के पत्तो का पूजा में बहुत महत्व माना गया है। शास्त्रों में यह भी मान्यता है कि पान के पत्तों में देवी दे
गुरूवार के दिन पर्स में रख लें बस ये एक छोटी सी चीज, हमेशा नोटों से भरा रहेगा आपका पर्स

गुरूवार के दिन पर्स में रख लें बस ये एक छोटी सी चीज, हमेशा नोटों से भरा रहेगा आपका पर्स

News, Religion
हर कोई चाहता है कि उसके पर्स में कभी पैसों की कमी न हो लेकिन कभी-कभी स्थिति ऐसी बन जाती है कि आपका पर्स खाली हो जाता और आपको पैसों की तंगी का सामना करना पड़ता है। पर्स में रखी वस्‍तुओं का धन पर काफी प्रभाव पड़ता है। ज्योतिष के अनुसार पर्स में यदि कुछ खास चीजें रखी जाएं तो इससे न सिर्फ बरकत बढ़ती है साथ ही शुभ फल भी प्राप्त होते हैं। और यदि पर्स में कुछ ऐसी चीजें रखी जाएं जिससे नेगेटिव एनर्जी आती है तो इससे नुकसान भी उठाना पड़ सकता है। आज हम आपको बता रहे हैं पर्स में क्या रखना चाहिए और क्यों। पर्स में क्या रखना चाहिए, इसकी जानकारी इस प्रकार है। गुरूवार के दिन अगर आप ये उपाय करेंगेे तो आपकी बरकत निश्‍चित होगी। यदि आप अपने पर्स को हमेशा पैसो से भरा हुआ रखना चाहते है, तो आप पर्स में एक छोटा सा श्री यंत्र रख सकते है। बता दे कि इससे लक्ष्मी जी की कृपा हमेशा आप पर बनी रहेगी। इसके
सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

सोम दुर्गाष्टमी: इस मुहूर्त में करें पूजन, जमीन जायदाद व सुख-सुविधा में होगी वृद्धि

News, Religion
आज सोमवार के दिन मार्गशीर्ष शुक्ल अष्टमी पर सोम दुर्गाष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। भविष्य पुराण के उत्तर-पूर्व में दुर्गाष्टमी पूजन हेतु श्रीकृष्ण और युधिष्ठिर का संवाद हुआ है। इसमें दुर्गाष्टमी के पूजन का सम्पूर्ण वर्णन किया गया है। दुर्गाष्टमी पूजन हर युग, कल्पों और मन्वंतरों में किया जाता था। धार्मिक मान्यताओं कि माने तो दुर्गम नाम का एक राक्षस जिससे तीनों लोक उसके नाम से ही डरा करते थे। ऐसे समय में भगवान शिव की शक्ति मूल प्रकृति नें देवी दुर्गसैनी नाम से अवतार लिया और दुर्गमासुर का वध किया। यही कारण है कि लोग इन्हें देवी दुर्गा कहते हैं। हमारे शास्त्रों के अनुसार हर माह में शुक्ल पक्ष की अष्टमी पर मासिक दुर्गाष्टमी मनाई जाती हैं। आज के दिन आदिशक्ति भवानी का प्रादुर्भाव हुआ था। यही कारण है जो हर शुक्ल अष्टमी को वार अनुसार आद्य शक्ति की दुर्गा, काली, भवानी, जगदंबा, दुर्गा, गौरी, पार्वत
आज का दिन है सूर्य ग्रहण के समान प्रभावकारी, देगा अनंत गुणा फल

आज का दिन है सूर्य ग्रहण के समान प्रभावकारी, देगा अनंत गुणा फल

Religion
आज रविवार के दिन मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी के उपलक्ष में भानु सप्तमी पर्व मनाया जा रहा है। आज के दिन सप्तमी तिथि के संयोग से भानु सप्तमी नामक विशेष पर्व का सृजन हुआ है। सनातन संस्कृति व पौराणिक ग्रंथों के अनुसार भानु सप्तमी को सबसे ज्यादा शुभ माना गया है। इस दिन सूर्यदेव के व्रत, उपासना और उपाय करने से विशेष फल मिलता है। मान्यता है कि भानु सप्तमी सूर्य-ग्रहण के समान ही प्रभावकारी होता है, जिसमें जाप, दान, व्रत और उपाय करने से सूर्य ग्रहण की तरह ही विशेष फल मिलता है। आज के दिन सूर्यदेव की पूजा और अर्चना से मनुष्य को रोगों से छुटकारा मिलता है। आज के दिन विशेषकर तांबे के लोटे में जल, रोली, अक्षत, इत्र, गुड़, व शहद डालने के बाद सूर्य देव को तीन बार अर्घ्य देना चाहिए और साथ ही सात लाल फल चढ़ाकर उन फलों का दान करना चाहिए। यह करने से आँखों की रोशनी, व्यक्ति का तेज, प्रतिष्ठा, विद्या, वैभव बढत
आइए जानते हैं शनि देव को प्रसन्न करने के सरल और अचूक उपाय

आइए जानते हैं शनि देव को प्रसन्न करने के सरल और अचूक उपाय

News, Religion
शनि को सभी ग्रहों में सबसे खतरनाक ग्रह माना जाता है |हर व्यक्ति के जीवन में कभी न कभी शनि का प्रकोप अवश्य होता है लेकिन शनि देव की एक खासियत ये भी है की भले ही उन्हें क्रोध जल्दी आता है लेकिन वो कभी भले व्यक्ति के साथ बुरा नहीं करते जो बुरा होता है कपटी होता है उसी के साथ शनि देव बुरा करते है |इसलिए शनि को खुश रखने के लिए सबसे पहला काम तो हमें यही करना चाहिए की अपने मन से छल कपट मिटा देना चाहिए और कुछ उपाय भी हम आपको बतायेगे जिससे आप आसानी से शनि देव को प्रसन्न कर सकते है और अपने जीवन में खुशिया भर सकते है | अगर शनि नाराज हो जाएं तो जीवन में परेशानियों का अंबार लग जाता है. ऐसे में ये जानना जरूरी है कि शनि की बुरी नजर से बचने के उपाय क्या हैं| ताकि शनि की कृपा आप पर बनी रहे| ज्योतिष में कुछ सरल उपाय हैं जिन्हें अपनाकर आप शनि की टेढ़ी नजर से बच सकते हैं यह भी पढ़ें: शनिवार को सूर्यास