आज से शुरू हो रहा है गुप्त नवरात्र, रात 10 बजे के बाद इनमें से करें कोई भी एक उपाय, हर इच्‍छा होगी पूरी

आज से गुप्त नवरात्रि शुरू हो चुकी हैं और यह आषाढ़ महीने की प्रतिवदा तिथि में शुरू हो रही हैं| यह गुप्त नवरात्र बहुत ही खास होता हैं| आपको इस गुप्त नवरात्र को गुप्त तरीके से मनाना हैं और अपनी इच्छाओं को अपने पास तक ही रखें| इस नवरात्र का हिंदू संस्कृति में बहुत महत्व है। ऐसी मान्यता है कि नवरात्रि के नौ दिनों में आदि शक्ति के अलग-अलग स्वरूपों की पूजा करने और व्रत रखने से मां कष्ट हर लेती हैं और मनोकामना की पूर्ति करती हैं लेकिन फल प्राप्ति के लिए भक्त को सही विधि-विधान से पूजा करना अनिवार्य होता है।

नवरात्रि में माता के नौ स्वरूपों की पूजा के अतिरिक्त कई उपायों पूजाका भी प्रचलन है जो विभिन्न कार्यों में फल प्राप्ति के लिए किए जाते हैं। ऐसी मान्यता है कि अगर कोई इन उपायों को नवरात्रि के दिनों में कर ले तो आदि शक्ति उसकी हर इच्छा पूरी करती हैं। आइए जानते इस उपाय के बारे में……

(1) यदि आप अपनी मनपसंद वर या वधू पाना चाहते हैं तो यह नवरात्र आपके लिए विशेष हैं| इसके लिए आप पास के किसी शिव मंदिर में चले जाए| वहाँ जाकर आप शिव और माता पार्वती की आराधना करे| यह उपाय आप रात के समय में ही करे|

(2) नवरात्रि के किसी भी दिन जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद सफेद रंग का सूती आसन बिछाकर उस पर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अपने सामने पीला कपड़ा बिछा लें और 108 गिनती वाली स्फटिक की माला रख लें और इस पर केसर और इत्र छिड़क कर माला का पूजन करें। जब भी आप किसी इंटरव्यू के लिए जाए तो इस माला पहनकर ही जाए| आपको सफलता जरूर मिलेगी|

यह भी पढ़ें : जून माह में इन 4 राशियों पर रहेगी माता रानी की विशेष कृपा, हर मनोकामना होगी पूरी

(3) इस श्रीयंत्र का कुमकुम, फूल, धूप और दीपक से पूजन कर लें। इस पूरी प्रक्रिया के बाद एक प्लेट पर स्वस्तिष्क बनाकर उसका पूजन करें। अब इस श्रीयंत्र को अपने घर के पूजास्थल पर स्थापित कर दें। पूजा की बची सामग्री को नदी में प्रवाहित कर दें और आदि शक्ति से हाथ जोड़कर मनोकामना पूर्ति के लिए प्रार्थना करें।

(4) अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए नवरात्रि के आखिरी दिन किसी शिव मंदिर में जाएं। वहां शिवलिंग पर दूध, दही, घी, शहद और शक्कर चढ़ाते हुए उसे अच्छी तरह से स्नान कराये। इसके बाद शुद्ध जल अर्पित करें और पूरे मंदिर में झाडू लगाकर उसे साफ करें। अब भोले बाबा की चंदन, पुष्प,धूप और दीपक से पूजा अर्चना करें। ऐसा करने से आपकी सभी मनोकामना पूरी होंगी|

(5) यदि किसी के विवाह में देरी हो रही हैं तो जल्द विवाह के लिए आप नवरात्रि के दौरान शिव-पार्वती का एक चित्र अपने पूजास्थल में रख दे और उनकी विधिवत पूजा अर्चना करने के बाद ‘ॐ शंकराय सकल-जन्मार्जित-पाप-विध्वंसनाय, पुरुषार्थ-चतुष्टय-लाभाय च पतिं मे देहि कुरु कुरु स्वाहा।’ मंत्र का 3,5 या 11 माला जाप करें। ऐसा करने से जल्द ही आपका विवाह हो जाएगा|

 

(6) यदि आप दोनों पति-पत्नी के बीच खराब संबंध या फिर घर-परिवार में लड़ाई-झगड़े हो रहे हैं तो आप यह उपाय भी नवरात्रि के दौरान करे| ऐसा करने से मुश्किलों से मुक्ति मिलती है। नवरात्रि के अंतिम दिन स्नान आदि करके के बाद “सब नर करहिं परस्पर प्रीति, चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति।” मंत्र को पढ़ते हुए 108 बार अग्नि में घी से आहुति दे। यदि आप इस मंत्र का उच्चारण करते हैं तो आपके घर में सुख-शांति सदैव बनी रहेगी|

( हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
Share this on

Leave a Reply