जानें, आखिर सड़क के किनारे लगे इन पीले, हरे और काले पत्थरोंं का क्या होता है मतलब

हम कहीं भी जाते है मतलब की एक जगह से दूसरी जगह, एक गावँ से दूसरे गावँ तो हमने ऐसा हमेसा देखा होगा की रास्ते में सड़क के किनारे कुछ मील की दुरी पर एक-एक पत्थर गड़े होते है। और इन पत्थरो के माध्यम से हम कहीं आने-जाने में सहायता मिलती है एवं हमे दूरी का पता चलता है की हमें कितना दूर और आगे जाना है था साथ-ही-साथ ये भी पता चलता है की हम अभी कौन-सी जगह पर है।

क्योंकि इन पत्थरो पर वहाँ के जगह (शहर या गावँ ) का नाम और दूरी लिखी होती है। आपने अगर ध्यान से इन पत्थरो को देखा होगा तो आपको दिखा होगा की पत्थर अलग-अलग रंगो में रंगे होते है। आपने सोचा भी होगा की आखिर ये अलग अलग कलर में क्यों है तो आइये आज हम आपको बताते है इसके बारे में। ये तो आप लोगो को पता ही होगा की हमारे देश में सड़को के निर्माण की जानकारी अलग-अलग विशेषज्ञों के पास होता है।

1. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया:-

ये डिपार्टमेंट केंद्र सरकार के कंट्रोल में आता है। इसको ऑपरेट करने का काम मिनिस्ट्री ऑफ़ ट्रांसपोर्ट एंड हाईवे को है। सड़क के किनारे लगे जिन पत्थरो का रंग पीला और उजला होता है। उसका मतलब है की ये राष्ट्रीय राजमार्ग है। और ऐसे सड़को को बनाने का काम केंद्र सरकार का तथा सारी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की होती है

ये भी पढ़े:- 99% लोग नहीं जानते रोड पर बनी हुई इन सफ़ेद और पीली लाइन का मतलब, जानें क्‍या है इनका सही मतलब

2. स्टेट हाईवे :-

ये डिपार्टमेंट राज्य सरकार के कंट्रोल में आता है ऐसे सड़को को बनाने की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। अगर इन पत्थरो का रंग आपको उजला और हरे रंग में दिखे तो इसका मतलब की ये स्टेट हाईवे है।

3. डिस्ट्रिक सिटी रोड :-

इस सड़क का निर्माण उसी शहर के कारोपोरेशन द्वारा होता है। पत्थर अगर काले और उजले रंग का हो तो इससे हमे समझना चाहिए कि ये डिस्ट्रिक सिटी रोड है।

4. ग्रामीण रोड (PMGSY):-

अगर आपको पत्थर लाल और उजले रंग में हो तो हमे ये समझना चाहिए कि ये सड़क प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क है। और इस सड़क की जिम्मेदारी ग्रामीण विकास मंत्रालय की है।

Share this on