सोमवार को करें चावल का ये आसान उपाय, हो जायेंगे मालामाल

हमारे हिन्दू धर्म में अनाज को अत्यधिक महत्वपूर्ण और पूजनीय माना गया है और इसीलिए किसी भी प्रकार के पूजा पाठ ये किसी भी शुभ कार्यों में अनाज से पूजा करने का विधान है |हिन्दू धर्म में सभी अनाजों से ज्यादा धान के चावल को महत्व दिया गया है क्योंकि बच्चे के नामकरण संस्कार से लेकर उसके अंतिम संस्कार तक चावल  ही हर जगह पूजा में काम आता है|वैसे तो चावल का उपयोग हम ससभी शुभ कार्यों में करते हैं लेकिन आज हम आपको इसी चावल से जुड़े कुछ ऐसे उपाय बताने वाले हैं जिसे करने से आपके जीवन की समस्त कष्ट ,परेशानी ,दुःख क्लेश सब चुटकियों में ख़त्म हो जाएगी


इस उपाय को करने के लिए आपको किसी भी शुभ मुहूर्त या पूर्णिमा के अवसर पर सोमवार के दिन  प्रातः जल्दी उठाना हैं और स्नान करने के बाद आपको एक मुठ्ठी भर चावल लेना है लेकिन ध्यान रहे की जो चावल आप ले उनमे एक भी चावल का दाना टूटा हुआ ना हो इसके बाद आपको चावलों को हल्दी या केसर से पीले रंग में रंग देना है इसके बाद इन्हें आप भगवान शिव जी को चढ़ा दे और चढ़ाते हुए प्रार्थना करें कि हे प्रभु मैं आपको यह समर्पित कर रहा हूं। आप इन्हें स्वीकार करें और मेरे सभी कष्टों का निवारण करें।

यह भी पढ़े :शुरू हो गया फाल्गुन का महिना, करेंगे ये उपाय तो आपको हर तरह की समस्‍या से मिलेगा छुटकारा

नौकरी के लिए

यदि आप को नौकरी नहीं मिल पा रही है आप काफी दिनों से परेशान हैं तो इसके लिए आप मीठे चावल की खीर बनाकर कौवों को खिला दें।इस उपाय को करने से आपकी समस्या कुछ ही दिनों में दूर हो जाएगी।

आर्थिक तंगी के लिए

यदि आप धन सम्बन्धी परेशानी से काफी समय से जूझ रहे हैं तो इसके लिए हम आपको एक बहुत ही अच्चा उपाय बताने वाले हैं जिसे करके आपको तुरंत लाभ प्राप्त होगा |इस उपाय के लिए आपको आधा किलो चावल लेकर किसी एकांत शिवलिंग के पास ले जाना है और शिवलिंग की पूजा करके एक मुट्ठी भोलेनाथ पर चढ़ा दे और बाकी बचे  हुए चावल किसी जरूरतमंद को दान कर दें। यदि आप यह उपाय पूर्णिमा के बाद आने वाले सोमवार से करना शुरू कर देते हैं और लगातार 5 सोमवार तक इसे करते रहेंगे तो इससे आपके सभी आर्थिक परेशानी दूर हो जाएगी और घर में धन आने के मर्ग भी बन जायेंगे |

पितृ दोष  से मुक्ति के लिए

यदि आप पितृदोष की समस्या से परेशान है तो  पितृदोष दूर करने के लिए चावल की खीर तथा रोटी किसी कौवों को खिलाएं। इससे आपको सभी पितृदोष दूर हो जायेंगे और साथ ही आपको पितरों का आशीष भी प्राप्त होगा जिससे आपके सभी रूके हुए करी संपन्न हो जायेंगे |

Share this on

Leave a Reply