Sunday, January 21

Religion

कल है साल की पहली अमावस्या, रात में चुपचाप से कर लें ये काम मिलेगा सबकुछ

कल है साल की पहली अमावस्या, रात में चुपचाप से कर लें ये काम मिलेगा सबकुछ

Religion
हमारे हिन्दू धर्म से अमावस्या  और  पूर्णिमा  दोनों का ही विशेष महत्व माना जाता है और शास्त्रों के अनुसार ऐसी मान्यता है की इन दोनों ही दिन अगर किसी चीज के लिए मान्यता मानी जाये तो वो अवश्य ही  पूरी होती है और इसीलिए इन दोनों ही  दोनों की पूजा का भी विशेष रूप से की जाती है और ये दोनों ही दिन एक दूसरे के बिल्कुल ही विलोम होते हैं क्योंकि पूर्णिमा के दिन पूरा चाँद नजर आता है। तो वहीँ अमावस्या के दिन चाँद नजर ही नहीं आता सिर्फ काली रात ही दिखती है और इस वर्ष 2018 में जो अमावस्या पड़ रही है  इस महीने की 16 जनवरी पड़ रही है और अगर आपकी किसी भी प्रकार की कोई भी मान्यता है तो अमावस्या वाले दिन  कुछ विशेस उपाय करके आप उसे पूरी कर सकते है इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होगी। तो आइये हम आपको अमावस्या की दिन के कुछ उपाय के बारे में बताते हैं | माँ लक्ष्मी को धन के देवी कहा जाता है और यदि मा
हाथ में मौली का धागा बांधने से बदल जाती है किस्मत, जानें इसके वैज्ञानिक फायदे

हाथ में मौली का धागा बांधने से बदल जाती है किस्मत, जानें इसके वैज्ञानिक फायदे

News, Religion
हिन्दू  धर्म के विभिन्न संस्कारों में से एक है कलाई पर ‘मौलि’ बांधना, कच्चे सूत से तैयार किया गया  धागा कलावा और मौली आदि नामों से जाना जाता है जिसका वैदिक नाम उप मणिबंध भी है जो की किसी भी शुभ कार्य से पहले, हवन करते समय या फिर किसी विशेष पूजन के दौरान हिन्दू धर्म में कलाई पर मौलि बांधने का रिवाज़ है। यह संस्कार बेहद खास माना जाता है। इसीलिए प्रत्येक मांगलिक कार्य में इन शुभ रंगों को संजोए कलावे का प्रयोग आवश्यक माना जाता है। लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि यह मौलि आखिर क्यों बांधी जाती है? इसे बांधने के पीछे क्या कारण हैं, तो आइये हम आपको बताते है मौली से जुड़ी कुछ विशेष बाते। हिन्दू शास्त्रों में मौलि बांधने का महत्व बताया गया है, जिसके अनुसार मौलि बांधने से त्रिदेवों और तीनों महादेवियों की कृपा प्राप्त होती है। ये महादेवियां इस प्रकार हैं- पहली महालक्ष्मी, जिनकी कृपा से धन-सम्पत्ति
शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

शास्‍त्रों में बताया गया ये छोटा सा उपाय रोज करने से घर मेंं कभी नहीं आती है गरीबी

News, Religion
जब भी हम किसी देवालय में जाते हैं या किसी भी पूजा पाठ में जाते हैं तो हमे चरणामृत का प्रसाद अवश्य दिया जाता है क्योकि शास्त्रों के अनुसार सभी प्रसादों से सबसे श्रेष्ठ माना जाता है चरणामृत का प्रसाद चरणामृत का वास्तविक अर्थ होता भगवान के चरणों का अमृत और पंचामृत का अर्थ पांच अमृत यानि पांच पवित्र वस्तुओं से बना हुआ अमृत। पौराणिक मान्यताओं में ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं। जिनमें देवताओं के चरणों से जलधाराएं प्रकट हुई हैं। ये धाराएं नदियों के रूप में धरती पर आईं और प्यास बुझाने में इनके जल का उपयोग किया गया। जल ही जीवन है, इसलिए इसे अमृत कहा गया, क्योंकि इसके पान से हम मरते नहीं।भगवान के चरण स्पर्श करने की परंपरा प्राचीन है। जिस जल से भगवान को स्नान कराया जाता है, वह जल उनकी प्रतिमा से होता हुआ चरण तक आता है और फिर नीचे बहता है। इसी जल को चरणामृत कहा जाता है यानी भगवान का स्पर्श किया हु
भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

भूलकर भी शाम के समय न करें यह काम वरना हो जाएगी धन की हानि

News, Religion
हिन्दू शास्त्रों के अनुसार ऐसे कई काम है, जो शाम के समय में करना बहुत अशुभ माना गया है तथा  यदि आप इन कार्यो को शाम के समय करे तो इस कारण आपको धन हानि व आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ सकता है। विशेषतः ये 6 कार्य जिन्हे शाम के समय आपको भुलकर भी नहीं करना चाहिए और इन 6 कार्यों को जो भी व्यक्ति करता है, उसे न केवल आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ता है बल्कि शारीरिक परेशानीयों का भी सामना करना पड़ता है। तो चलिए आपको बताते है वो 6 कार्य कौन कौन से है। हिन्दू धर्म के अनुसार दिन ढलने के बाद यानि शाम के समय में कभी भी तुलसी के पौधे को ना तो छूना चाहिए और ना ही उसमे जल चढ़ाना चाहिए। ऐसा करना हमारे शास्त्रों में अशुभ माना गया है। यह भी पढ़े : जानेें, आपको राशी के अनुसार कौन से भगवान की करनी चाहिए पूजा शाम के समय जब सूरज ढल जाए तो उसके बाद घर में कभी भी झाड़ू नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से घर की लक्ष्
शुक्रवार को करें लक्ष्मी जी का राशि के अनुसार ये उपाय, दूर होगी आर्थिक परेशानी

शुक्रवार को करें लक्ष्मी जी का राशि के अनुसार ये उपाय, दूर होगी आर्थिक परेशानी

News, Religion
कहा जाता है की पैसा खुदा तो नहीं  है लेकिन किसी  खुदा से कम भी नहीं है और आज के समय में तो ये बात सत प्रतिशत सही साबित हो चुकी है ।आज के समय में अगर किसी मनुष्य की कोई परेशानी है तो यो है निर्धनता और जिसकी वजह से  हर मनुष्य  परेशान रहता है क्योकि धन एक ऐसी वस्तु है जिसके  अभाव से व्यक्ति  समाज में मान-सम्मान प्रतिष्ठा से भी वंचित रहता है। हम सभी जानते हैं हिंदू धर्म के अनुसार शुक्रवार का दिन देवी लक्ष्‍मी को समर्पित है और देवी लक्ष्मी को धन के देवी कहा जाता है इसीलिए यदि हम शुक्रवार के दिन  देवी लक्ष्‍मी की पूजा-अर्चना करें  तो घर में सुख-समृद्धि बरसती है | इसके अलावा जैसा की हम जानते है की हमारे जीवन पर कुंडली में दोष होने की वजह से हमारे  राशियों पर भी बहुत गहरा असर पड़ता है इसीलिए अगर आप आर्थिक समस्‍याओं से जूझ रहे हैं तो अपनी राशि अनुसार शुक्रवार के दिन कुछ उपाय
17 साल बाद रविवार और मकर संक्रांति पर बना महायोग, राशि अनुसार ये उपाय करना न भूलें

17 साल बाद रविवार और मकर संक्रांति पर बना महायोग, राशि अनुसार ये उपाय करना न भूलें

OffBeat, Religion
हर साल की तरह इस साल भी हम 14 जनवरी को मकर संक्रांति मनाएंगे और इस बार की मकर कुछ खास है क्योंकि इस बार जो संक्रांति मनाई जाएगी वो रविवार के दिन मनाई जाएगी और इससे पहले 2001 में ऐसी मकर संक्रांति आई थी जब हम रविवार के दिन इस पर्व को मनाये थे मतलब की पूरे 18 साल बाद ऐसा महासंयोग फिर से बन रहा है| जैसा की हम जानते है की जब सूर्य जब धनु राशि से मकर राशि में प्रवेश करता है, तब मकर संक्रांति मनाई जाती है| इसके साथ ही इस मकर संक्रांति के दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होगा जिससे की संक्रांति के पूरे दिन पूरे दिन सर्वार्थ सिद्धि योग बना रहेगा। सूर्य देव के महापर्व यानि मकर संक्रांति के दिन दान का बहुत ही महत्व है और ये काफी प्राचीन प्रथा भी है इसीलिए इस दिन आप दान पूण्य अवश्य करें इससे आपको जीवन के सभी दुखो से मुक्ति मिलती है |ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि आपके कुंडली में किसी भी प्रकार क
अगर हमेशा हो जाती है जेब खाली तो कर लें यह काम फिर देखें चमत्कार

अगर हमेशा हो जाती है जेब खाली तो कर लें यह काम फिर देखें चमत्कार

Religion
आज के समय में हर व्यक्ति यही चाहता है की उसके पास ढेर सारा  पैसा हो  उसकी जिंदगी में हर ऐशो आराम हो  लेकिन ये चाहत हर व्यक्ति की पूरी नहीं हो पाती |क्योंकि जिस तरह से  अपार धन की प्राप्ति हर मनुष्य की जरूरत  होती है लेकिन  अपार धन चाहने की इच्छा भी अपार होना जरूरी है लेकिन  सिर्फ चाहने से धन नहीं मिलता उसके लिए मन में तड़प होना भी जरूरी है।धन कमाने के लिए लोग दिन रत मेहनत करते हैं ताकि वो अपनी जिंदगी में हर वो ख़ुशी ला सके जिसका वो स्वप्न देखते है वैसे देखा जाये तो   आज लगभग हर व्यक्ति ही पैसे की तंगी से जूझ रहा है और कुछ  लोगों को तो पैसे की इतनी ज्यादी परेशानी  होती है की वे तरह तरह के  उपाय करते  है ताकि अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकें । धन प्राप्ति के लिए सबसे अधिक आवश्यक है मनुष्य शुद्ध आचरण और शुद्ध विचार का होना क्योंकि  अब तो ऐसा समय आ गया है जिसमे यदि आप धन प्राप्ति के लिए दि
गुरुवार के दिन करें ये अचूक उपाय,धन वर्ष के साथ शादी के भी बनेंगे योग

गुरुवार के दिन करें ये अचूक उपाय,धन वर्ष के साथ शादी के भी बनेंगे योग

News, Religion
जिस प्रकार से हिंदू धर्म में हर दिन का अपना अपना महत्व है और हर दिन किसी ना किसी  विशिष्ट देवता को समर्पित किया गया है ठीक उसी तरह से  तरह से गुरुवार का दिन  भगवान् विष्णु या बृहस्पति  भगवन को  समर्पित किया गया है l हमारे सौरमंडल में अगर सूर्य बाद किसी किसी ग्रह की निष्ठावान स्थिति है तो वो है  बृहस्पति या जुपिटर इसीलिए इसे पुरे सौरमंडल में एक महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है ।इस  ब्राह्मण में गुरु को भगवान से भी श्रेष्ठ स्थान दिया गया है  और इसीलिए  हिन्दू धर्म के अनुसार धन प्राप्ति के लिए गुरुवार का दिन सबसे शुभ माना जाता है। गुरूवार के दिन को सच्चे मन से की  जाने वाली पूजा से भक्तो को अच्छा स्वास्थ्य, धन, सफलता और अच्छे जीवनसाथी का लाभ प्राप्त होता है। यदि आपके कोई भी प्रयास प्रतिफल नही दे रहे है तो आपको निश्चित रूप से इस दिन पूजा करनी चाहिए l क्योंकि गुरुवार के  दिन प्रार्थना करना 
शास्‍त्रों के अनुसार, स्त्री व पुरुष दोनों को हमेशा ही गुप्त रखनी चाहिए ये बातें

शास्‍त्रों के अनुसार, स्त्री व पुरुष दोनों को हमेशा ही गुप्त रखनी चाहिए ये बातें

Interesting, Religion
हमारे भारत को आदि काल से ही ऋषियों और मुनियों की धरती कहा जाता है और इसी भारत में कई महँ नितिकरों ने जन्म लिया है  जिन्होंने भारत के धर्म और राज्य को एक नयी  दिशा दी है। दैत्यों के गुरु  शुक्राचार्य भी  उन्हीं नीतिकारों में से एक प्रसिद्ध नीतिकार हैं। शुक्राचार्य की शुक्र नीति आज भी प्रासंगिक मानी जाती है| कहा जाता है की शुक्राचार्य बहुत बड़े नीतिकार थे और उसके साथ साथ ज्ञानी भी थे| शुक्रचार्य भगवान के अनन्य भक्त भी हैं। शुक्राचार्य ने सांसारिक प्राणियों से जुड़ी कई नीतियाँ बताई हैं जिनका  आज भी काफी महत्व रखती हैं। और इसी वजह से  इनकी शुक्र नीति बहुत प्रसिद्ध है। तो आइए जानते हैं वह कुछ एसे बातें जिन्हें शुक्राचार्य के अनुसार गुप्त रखना चाहिए:- अपने मान-सम्मान का दिखावा हमे कभी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह आदत किसी भी मनुष्य के लिए अच्छी नहीं होती। मान-सम्मान का दिखावा करने से लोगों की
बुधवार के दिन करेंगे ये छोटा सा अचूक उपाय, तो बिगड़ी किस्मत भी बन जाएगी

बुधवार के दिन करेंगे ये छोटा सा अचूक उपाय, तो बिगड़ी किस्मत भी बन जाएगी

News, Religion
हमारे शास्त्रों में गणेश जी को विघ्नहर्ता कहा गया है और साथ ही इन्हें  रिद्धि सिद्धि के दाता भी कहा जाता  हर शुभ कामों के शुरुआत में गणेश जी की पूजा अर्चना की जाती है और ऐसा माना जाता है की किसी कार्य को मंगल होने के लिए गणेश जी का आशीर्वाद अति अवशयक होता है क्योकि हर  शुभ लाभ के प्रदाता हैं गणेश जी |जिन लोगो पर गणेश जी की कृपा होती है उन  भक्तो के संकट, बाधा रोग दोष एवं दरिद्रता आदि सब दूर हो जाती है। शास्त्रों में  सप्ताह के सभी दिन किसी ने किसी देव की पूजा के लिए समर्पित है और इसी तरह से  बुधवार को भगवान गणेश की पूजा का विधान है। जो भी भक्ति गणेश जी की पूजा बुधवार के दिन पूरे विधि विधान से करता है उसके ऊपर सदैव ही गणेश जी की कृपा बनी रहती है हमारे ज्योतिष शास्त्र में गणेश जी  को प्रसन्न करने के कुछ ऐसे उपाय बताये गये हैं जिन्हें करने से इंसान की किस्मत चमकने  में देरी नहीं लगती है और